प्रतिदिन पंचायत भवन को खुला रखें अन्यथा मुखिया व पंचायत सचिव पर होगी कार्रवाई : डीसी

  • मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, 14वीं वित्त आयोग एवं शौचायल निर्माण से संबंधित योजना पर मुखिया व पंचायत सचिवों की जिम्मेदारियों पर किया गया फोकस। डीसी ने चेतावनी देतेे हुए कहा पंचायत भवन को प्रतिदिन खुला रखें अन्यथा होगी कड़ी कार्रवाई। 


dc-dumka-warning
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) ‘‘सरकार आपके द्वार‘‘ अभियान के तहत सभी पंचायतों के मुखिया एवं पंचायत सचिवों के साथ इंडोर स्टेडियम दुमका में एक बैठक आयोजित की गयी। बैठक की अध्यक्षता डीसी मुकेश कुमार ने की। बैठक में मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, 14वीं वित्त आयोग एवं शौचायल निर्माण से संबंधित योजना पर मुखिया व पंचायत सचिवों की जिम्मेदारियों पर चर्चा की गयी। डीसी ने कहा कि विकास के कार्य में पंचायत स्तर पर मुखिया व पंचायत सचिव एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं, इस वजह से उनकी जिम्मेदारियाँ बढ़ जाती है। यदि मुखिया व पंचायत सचिव अच्छा कार्य करेंगे तो ही जिलास्तर पर प्रगति बढ़ेगी। डीसी ने सभी मुखिया को अपने पंचायत में उच्च कोटि के शौचालय निर्माण करने व शौचालय के उपयोग हेतु लोगो को जागरुक  कराने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि अपने पंचायत में खुले में शौच करने वाले व्यक्तियों को जागरुक करें। जो मुखिया शौचालय निर्माण व उपयोग में अच्छा प्रदर्शन करेंगे, उन्हें जिलास्तर पर पुरस्कृत किया जायेगा। पंचायत भवन को प्रतिदिन खुला रखने का निदेश भी इस दौरान डीसी श्री कुमार ने दिया। उन्होंने कहा कि यदि पंचायत भवन खुला नहीं पाया गया तो उस पंचायत के मुखिया व पंचायत सचिव को जिम्मेवार मानते हुए उनके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी। उप विकास आयुक्त शशिरंजन ने कहा की मनरेगा अन्तर्गत मजदूरों को समय पर भुगतान करें अन्यथा विलंब से मजदुरी भुगतान करने पर मुखिया व पंचायत सचिव पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी। डीसी श्री कुमार की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में उप विकास आयुक्त, निदेशक डीआरडीए, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, परियोजना पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रखण्ड पंचायती राज पदाधिकारी, सभी मुखिया एवं पंचायत सचिव उपस्थित थे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...