भोले की नगरी वाराणसी में उमड़ा शिवभक्तों का सैलाब

devotees-flock-in-large-number-in-varanasi
वाराणसी 10 जुलाई, भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में शामिल उत्तर प्रदेश की प्राचीन धार्मिक नगरी वाराणसी में “काशी विश्वनाथ’ के जलाभिषेक एवं पूजन-दर्शन के लिए सावन के पहले सोमवार को आज देशी-विदेशी शिवभक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। पांच सोमवार वाले सावन माह के प्रथम सोमवार को यहां सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजामों के बीच भोर से कांवड़िये प्राचीन श्री काशी विश्वनाथ मंदिर एवं अन्य शिवालयों में जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना कर रहे हैं। अधिकारियों का अनुमान है कि प्रचीन श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में पहले दिन यहां लाख से अधिक श्रद्धालु बाबा का दर्जन-पूजन के लिए पहुंच सकते हैं। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास कल देर रात से ही कांवड़िये अपनी बारी आने के इंतजार में कतारों में खडे हैं । शिवभक्त रिमझिम फुहारों के बीच ‘हर-हर महादेव’, ‘बंम-बंम भोले’ के जयकारे लगा रहे हैं। धर्मनगरी में चारों तरफ बाबा भोले के जयकारे की गूंज सुनाई देर रही है। ऐतिहासिक दशाश्वमेध घाट एवं अन्य प्रमुख गंगा घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के बीच हजारों देशी-विदेशी श्रद्धालु गंगा स्नान कर बाबा के दर्शन-पूजन के लिए कतारों में खड़े हो रहे हैं। मंदिर परिसर के बाहर बैरिकेडिंग की गई है। पर्याप्त संख्या में स्वंसेवकों एवं पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कांवड़िये सुचारूपूर्वक जलाभिषेक कर रहे हैं। ऐतिहासिक श्री काशी विश्वनाथ मंदिर एवं काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) परिसर स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर के अलावा मारकण्डेय देव मंदिर सहित अनेक शिवालयों में पूजा-अर्चना के लिए श्रद्घालुओं की लंबी कतारें लगी हैं। श्रद्घालुओं की कतारें एक-दो किलोमीटर लंबी हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...