दुमका (झारखण्ड) की हलचल 10 जुलाई

11 से 15 जुलाई तक आयोजित होगा सुब्रतो मुखर्जी कप फूटबाल प्रतियोगिता का आयोजन 

सुब्रतो मुखर्जी कप फुटबाॅल प्रतियोगिता का आयोजन सभी प्रखंडों एवं जिला में किया जाना है। निदेशक खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग झारखण्ड रांची के निदेशानुसार जिला खेल पदाधिकारी डाँ सुदेश कुमार सिन्हा ने कहा कि  सुब्रतो मुखर्जी कप फुटबाॅल प्रतियोगिता का आयोजन 9ः 30 पूर्वाह्न से आरंभ हो जायेगा। 11 जुलाई को गोपीकान्दर प्रखण्ड मैदान व काठीकुण्ड प्रखण्ड के स्टेडियम में आयोजित होगा।  12 जुलाई  को जामा प्रखंड के बेलकोपी मैदान व रामगढ़ प्रखंड के बालक मध्य विद्यालय में आयोजित होगा। 13 जुलाई को सरैयाहाट प्रखंड के सरैयाहाट हाई स्कूल मैदान में व जरमुण्डी प्रखंड के जरमुण्डी मैदान में यह खेल आयोजित होगा। 14 जुलाई को मसलिया प्रखंड के हटिया मैदान में व दुमका प्रखंड के बिरसा मुण्डा आउटडोर स्टेडियम में आयोजित होगा। 15 जुलाई को शिकारीपाड़ा प्रखंड के सरायदाहा हाई स्कूल मैदान में व  रानेश्वर प्रखंड के रानेश्वर स्टेडियम में सुब्रतो मुखर्जी कप फुटबाॅल प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। 


नगर परिषद् के पिछले 9 वर्षो के तमाम कार्यो की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए-पिन्टु अग्रवाल

झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय कार्य समिति सदस्य पिन्टु अग्रवाल ने कहा कि दुमका नगर परिषद् की कार्यशैली पर इन दिनों गंभीर सवाल उठने लगे हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि दिन सोमवार की लगातार ढाई-तीन घन्टे की बारिस में ही दुमका नगर परिषद् की पोल खुल गई। महज ढाई-तीन घंटे में ही दुमका के कई इलाके जलमंग्न हो गए। नगर परिषद् सिर्फ बड़े-बड़े दावे करती है। हाल ही में नगर परिषद् बोर्ड की बैठक में घोषणा की गई थी कि शहर के सभी बड़े नालो की बरसात के पूर्व ही सफाई करा दी जाऐगी किन्तु  ऐसा कोई काम नहीं हुआ। कुम्हारपाडा और रसिकपुर के बीच जो पुल बनाया जा रहा है उससे वहां के नागरिकों के साथ-साथ दुमका के नागरिकों को काफी कठनाईयों का सामना करना पड़ रहा है, खासकर छात्र-छात्राओं को।  मालूम हो, रसीकपुर में बड़ी तादाद में स्टूडेण्ट्स पढ़ने के लिये आते हैं  श्री अग्रवाल ने कहा कि नगर परिषद्, दुमका में साफ-सफाई के मद में प्राप्त होने वाली राशियों की पूरी बंदरबाट कर ली जाती हैं। इसके अलावे सड़क कालीकरण, पीसीसी सड़क निर्माण, पुल-पुलिया, नाली तथा नगर परिषद् क्षेत्रान्तर्गत तमाम 22 वार्डों में विभिन्न योजनार्थ प्रतिवर्ष करोड़ो रुपये का आवंटन इसे प्राप्त होता है किन्तु एकमुश्त राशियों की बंदरबांट कर ली जाती है जिसकी उच्चस्तरीय जांच आवश्यक है। उन्होंने कहा नगर परिषद् क्षेत्र अन्तर्गत शहर सौन्दर्यीकरण, सड़क कालीकरण, पीसीसी, लैम्पपोस्ट, कुड़ादान व विकास के अन्य कार्यों के निहितार्थ प्रतिवर्ष प्राप्त होने वाली करोड़ों रुपये की राशि में हेराफेरी आम बात हो गई है। पिछले कई वर्षों से यहाँ लूट चरम पर है। नगरपालिका के कई वार्ड पार्षद भी नगरपालिका की व्यवस्था पर सवाल उठाते रहे है किन्तु इस पर कोई  जांच आज तक नहीं हुई है। श्री अग्रवाल ने स्थानीय प्रशासन व राज्य सरकार से अनुरोध किया है कि पिछले कई वर्षों से व्याप्त भ्रष्टाचार की उच्चस्तरीय जाँच करवायी जाए जिससे दूध का दूघ और पानी का पानी स्वतः ही हो जाएगा।


श्रावणी मेला 2017 के अवसर पर नालसा व झालसा के निर्देशानुसार
  • पीडीजे सह अध्यक्ष डीएलएसए, दुमका बी एन पाण्डेय ने किया विधिक जागरुकता शिविर का उद्घाटन

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार नालसा नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकार, झारखण्ड रांची के तत्वावधान में दिन सोमवार (10 जुलाई 2017) को जिला विधिक सेवा प्राधिकार दुमका की ओर से श्रावणी मेला 2017 के अवसर पर विधिक जागरुकता शिविर का उद्घाटन प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार दुमका ब्रजेन्द्र नाथ पाण्डेय ने किया। मुख्य प्रर्दशनी शिविर बासुकिनाथ धाम दुमका में ही विधिक जागरुकता शिविर स्थापित है। इस अवसर पर सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकार दुमका संजय कुमार, न्यायालय कर्मीगण एवं पीएलवी तथा अधिवक्ता रीतेश कुमार सिन्हा मौजूद थे। 




श्रावण मास की पहली सोमवारी को बाबा पर जलार्पण करने वालों की भारी भीड़ देखी गई 

shrawan-mela-in-dumka
बोलबम के नारों के साथ कतारबद्ध अपनी-अपनी बारी का इंतजार कर रहे श्रद्धालु कांवरियों ने सावन की पहली सोमवारी को बाबा बासुकिनाथ मंदिर पूरी श्रद्धाभाव से महादेव पर जर्लापण किया। श्रावणी मेला की प्रथम सोमवारी को मंदिर परिसर के साथ-.साथ पूरे बासुकिनाथ धाम केसरिया रंग से रंगा हुआ था। श्रावणी मेला के दौरान बासुकिनाथ धाम आने वाले श्रद्धालुओं को जिला प्रशासन की व्यवस्था खूब भा रही है। श्रद्धालु बड़े आसानी से बाबा पर जलार्पण कर पा रहे है। कतारबद्ध कांवरियों को जिला प्रशासन द्वारा की गयी व्यवस्था के कारण ज्यादा देर अपने कतार में खड़ा रहना नही पड़ रहा है। वासुकिनाथ धाम में श्रावणी मेला के दौरान जिला प्रशासन द्वारा स्वच्छता का विशेष ध्यान रख जा रहा है। पूरे कांवरिया रुट लाइन के साथ.साथ पूरे मेला क्षेत्र को जिला प्रशासन द्वारा लगातार सफाई कराया जा रहा है। श्रावणी मेला के दौरान वासुकिनाथ धाम में हजारों हजार की संख्या में श्रद्धालु बाबा पर जलार्पण करते हैं।  श्रावणी मेला के शुरु होते ही वासुकिनाथ पूरी तरह नये.नये दुकानों से सज चुका है। श्रद्धालु सभी दुकानों में अपनी जरुरत की चीजें खरीदते नजर आ रहे हैं। सभी सुरक्षा कर्मी अपने कर्तव्य स्थल पर तैनात दिखे। किसी प्रकार की अनहोनी न हो इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा श्रद्धालुओं का खयाल रखा जा रहा है। सभी सुरक्षा कर्मी श्रद्धालुओं को आसानी से जलार्पण कराने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। मयूराक्षी कला मंच का प्रस्तुति श्रद्धालुओं को खूब भा रहा है। वासुकिनाथ धाम पूरी तरह से भक्ति मय हो गया है। श्रद्धालु मयूराक्षी कलामंच की प्रस्तुति पर झूमते नजर आ रहे है। जलार्पण करने के बाद श्रद्धालु मयूराक्षी कला मंच की प्रस्तुति सुनने के लिये आते हैं। जिला प्रशासन द्वारा सभी सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है। निःशुल्क आवसन केन्द्र, शुद्ध पेयजल, टेन्ट सिटी मे विश्राम की वी आई पी व्यवस्था आदि ढेरों सुविधा श्रद्धालुओं के लिये की गयी है। बाबा पर जलार्पण करने से पूर्व श्रद्धालु वासुकिनाथ धाम स्थित शिवगंगा में स्नान करते हैं। स्नान करने के बाद ही आस्था के लोटे में पवित्र गंगाजल लेकर बाबा पर जलार्पण करने के लिये अपनी कदम मंदिर की और बढ़ाते है। इन सब चीजों को ध्यान में रखते हुए आपात स्थिति से निपटने के लिये एनडीआरएफ की टीम शिवगंगा में सुबह सवेरे से ही मौजूद है। अन्तरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल के रुप मे मलूटी को किया जाएगा विकसित-डीसी शिकारीपाड़ा प्रखण्ड अन्तर्गत मलूटी में दिन सोमवार (10 जुलाई 2017) को मुख्य प्रदर्शनी शिविर सह सूचना सहायता शिविर का उद्घाटन करते हुए उपायुक्त, दुमका मुकेश कुमार ने कहा कि 108 मंदिरों व 108 सरोवरों वाले गांव मलूटी को अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्तर के रुप में विकसित किया जायेगा। मलूटी मंदिर की मूल टेराकोटा को बरकरार रखने की जरुरत है। प्रदर्शनी शिविर का अवलोकन करते हुए डीसी श्री कुमार ने टेराकोटा आर्ट व  शिल्प कला की काफी सराहना की। उन्होंने कहा कि टेराकोटा आर्ट के क्षेत्र में यहां के लोगों को और अधिक जागरूक करने की जरुरत है। उपस्थित सूचना सहायता कर्मियों को समझाते हुए डीसी ने कहा कि देश-विदेश से मलूटी पहुँचने वाले श्रद्धलुओं के साथ विनम्र व्यवहार करना है। उन्हें किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं होनी चाहिये, इसका ध्यान रखना सबकी जिम्मेदारी है। डीसी ने कहा कि मलूटी में सूचना जनसम्पर्क द्वारा बनाये गये प्रदर्शनी शिविर सह सूचना सहायता शिविर में श्रद्धालुओं को सभी प्रकार की जानकारी मिलेगी। मुख्य प्रदर्शनी षिविर सह सूचना सहायता षिविर के उद्घाटन के अवसर पर जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी सैयद राशिद अख्तर, अंचल अधिकारी शिकारीपाड़ा, थाना प्रभारी शिकारीपाड़ा, मुखिया मुंगली टुडू व काफी संख्या में मलूटी ग्राम के लोग मौजूद थे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...