कानून का राज स्थापित करना सरकार का लक्ष्य: योगी

government-target-rule-of-law-yogi
लखनऊ 05 जुलाई, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव से पहले किये गये वादों को पूरा करने का संकल्प दोहराते हुए कहा है कि उनकी सरकार का लक्ष्य कानून का राज स्थापित कर रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर उपलब्ध कराना है। श्री योगी ने कहा कि सफलतापूर्वक 100 दिन पूरे होने के बाद अब उनकी सरकार युवाओं को रोज़गार, शिक्षा, स्वास्थ्य, आधारभूत ढांचे और तीव्र औद्योगिक विकास के साथ-साथ प्रशासन में भ्रष्टाचार को दूर करने और कानून व्यवस्था की स्थिति को बेहतर करके पुलिस के प्रति जनता में विश्वास जगाने के लक्ष्य के साथ आगे बढ रही है। मुख्यमंत्री ने कल शाम “यूनीवार्ता” को बताया कि प्रदेश में 15 वर्षों के कुशासन के कारण विकास के जो कार्य ठप्प पड़ गये थे उनको सरकार ने गति दी है और वर्षों से भ्रष्टाचार से त्रस्त प्रशासनिक-ढांचे को चुस्त-दुरूस्त किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को दायित्वपूर्ण कार्यबोध कराते हुए सरकार की मंशा से अवगत करा दिया गया है ताकि वे समयबद्ध ढंग से निष्ठापूर्वक अपने कार्यों का निर्वहन करें। इसी क्रम में पुलिस और प्रशासन में स्थानान्तरण के द्वारा बड़े फेरबदल किये गये हैं। श्री योगी ने कहा कि ऐसे अधिकारी चिन्हित किये गये हैं जो समय पर काम को पूरा कराने में असफल रहे हैं ऐसे तमाम अधिकारियों की सूची तैयार की जा रही है और उन्हें महत्वपूर्ण दायित्वों से हटाकर अन्यत्र तैनात किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जो अधिकारी एवं कर्मचारी जनता के प्रति संवेदनशील नहीं होंगे वह बख्शे नहीं जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप तीव्र गति से विकास के साथ-साथ प्रदेश को आधुनिकता की ओर ले जाने में उनकी सरकार तेज़ी से कार्य कर रही है, जिसमें स्मार्ट सिटी मिशन के तहत प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ-साथ वाराणसी, कानपुर व आगरा को पहले ही चयनित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के प्रयास से झांसी, अलीगढ एवं इलाहाबाद को स्मार्ट सिटी मिशन में शामिल किया गया है। मेरठ, सहारनपुर, रामपुर, गाजियाबाद और रायबरेली को भी इस मिशन में सम्मलित कराने के लिए गम्भीरता से प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि तीव्र गति की शहरी परिवहन सेवा विकास का एक महत्वपूर्ण मानक है, जिसके तहत लखनऊ मेट्रो रेल का संचालन शीघ्र प्रारम्भ हो जाएगा। इसके अलावा इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर तथा झांसी में मेट्रो रेल परियोजना की संस्तुति की गई है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...