खामियों से परिपूर्ण है जीएसटी : चिदम्बरम

gst-not-corect-chidambaram
पुणे 23 जुलाई, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने आज कहा कि मोदी सरकार के वस्तु एवं सेवा कर(जीएसटी) में बहुत सी खामियां है और देश में इस नयी अप्रत्यक्ष कर प्रणाली के लिए पूरी तरह से तैयारी नहीं की गयी। श्री चिदम्बरम ने यहां संवाददाताओं से कहा, “ सात या इससे अधिक दर होने के कारण मैं इसे ‘एक देश एक कर’ नहीं कह सकता। सभी वस्तुओं और सेवाओं पर कर की एकल दर के रूप में उल्लेखित जीएसटी वस्तुत: सभी अप्रत्यक्ष करों का स्थान लेगी। कुछ वस्तुएं और सेवायें भी पूरी तरह से छूट-प्राप्त होगी , यह जीएसटी का एक उपहास है।” उन्होंने कहा कि कर की दरें जहां 0.25, 3, 5, 12, 18, 28 और 40 है , वहीं संभवत: राज्य सरकारों का विवेकाधिकार भी होगा , फिर हम कैसे इसे ‘एक देश एक कर ’ कह सकते हैं। उन्होंने जोर देते हुए कहा, “ जीएसटी में बहुत सी खामियां है। यह वह जीएसटी नहीं है जिसे संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने परिकल्पित किया था।”

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...