नेपाल में भारी वर्षा से बिहार के 24 गांवों में बाढ़ का पानी

heavy-rain-in-nepal-24-villege-flood-in-bihar
पटना 02 जुलाई, नेपाल में पिछले दो दिनों से जारी भारी वर्षा के कारण बिहार के सीमावर्ती पश्चिम चम्पारण जिले के वाल्मीकिनगर गंडक बराज से आज 1.5 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से निचले इलाकों के चार प्रखंडों के 24 से अधिक गांव में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी है।  बगहा से यहां प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, नेपाल में व्यापक वर्षा के बाद वाल्मीकिनगर गंडक बराज से आज 1.5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया जिसके कारण गंडक नदी के जलस्तर में आये उफान के कारण जिले के चार प्रखंडों में बाढ़ स्थिति उत्पन्न हो गयी है । बाढ़ का पानी पिपरासी, मधुबनी, ठकराहा और भीतहा प्रखंडों के 24 से अधिक निचले गावों में प्रवेश कर गया है। हालांकि स्थिति अभी भी नियंत्रण में बतायी जाती है। एहतियात के तौर पर स्थानीय प्रशासन की ओर से आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता कुमार जयंत प्रसाद ने पिपरा-पिपरासी तटबंध का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद विभाग के अभियंताओं को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया है। नदी में आये उफान के कारण गंडक के तटबंध पर कुछ स्थानों पर पानी का दवाब बना हुआ है। इसबीच जल संसाधन विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बिहार के सभी बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंध सुरक्षित हैं। नेपाल में पिछले 24 घंटे से जारी वर्षा के कारण गंडक और कोसी नदी के जलस्तर में वृद्धि हुयी है। गंडक नदी के जलस्तर में वृद्धि होने के कारण पूर्वी एवं पश्चिम चम्पारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज और सारण जिले में विभाग के अभियंताओं को सतर्क कर दिया गया है। इसी तरह कोसी नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि को देखते हुए सुपौल, मधुबनी, सहरसा, दरभंगा, खगड़िया, मधेपुरा, पूर्णिया, भागलपुर तथा कटिहार जिले में भी अभियंताओं को चौकसी बरतने को कहा गया है। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...