झारखंड में बारिश का कहर, रांची में चार की मौत

heavy-rain-jharkhand-4-dead-in-ranchi
रांची 25 जुलाई, झारखंड की राजधानी रांची समेत पूरे प्रदेश में पांच दिन से लगातार हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। रांची के रातू रोड में एक ऑटोरिक्शा पर पेड़ गिर जाने से चार लोगों की मौत हो गयी जबकि एक घायल हो गया। घायल को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भारी बारिश के मद्देनजर मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने सभी जिलों के उपायुक्तों को उनके जिले में सभी सरकारी और निजी स्कूलों को दो दिन तक बंद रखने का निर्देश दिया है। धनबाद और रांची समेत कई जिलों के उपायुक्त ने स्कूलों को दो दिन बंद रखने के निर्देश जारी कर दिये है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य की लगभग सभी जिलों की नदियां उफान पर हैं। ग्रामीण इलाकों में पानी से सभी छोटे-बड़े नाले भर गये हैं। सैकड़ों गांव टापू में तब्दील हो चुके हैं और जिला मुख्यालयों से इनका संपर्क कट गया है। शहरों में जल-जमाव से आवागमन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। वहीं मौसम विभाग ने राज्य में आज और कल सात से 20 सेंटीमीटर तक बारिश होने की चेतावनी दी है। 26 जुलाई को दो स्थनों को छोड़ कर अन्य जगहों पर बारिश से लोगों को राहत मिल सकती है। इन दोनों जगहों पर 7 से 11 सेंटीमीटर बारिश होने की संभावना है। रांची में चार दिन में 100 मिलीमीटर से अधिक बारिश हो चुकी है।


राजधानी रांची में कई जगह पेड़ उखड़ कर गिर गये जबकि रेल लाइन पर दीवार गिर गयी। लगातार पांच दिनों से हो रही भारी बारिश से रांची, जमशेदपुर, रामगढ़ और बोकारो समेत कई जिलों में तबाही का मंजर है। रांची के धुर्वा में वार्ड संख्या 42 के अंतर्गत आनेवाले सेक्टर 3 ए टाइप में एक घर गिर गया। वहीं, भारतीय जनता पार्टी कार्यालय के पास एक पेड़ सड़क पर गिर गया जिससे हरमू रोड के एक लेन में आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया। रांची के आसपास के इलाकों में भारी बारिश के कारण कई घर गिर गये। सोनाहातू के गांवों में पानी घुस गया है। जलजमाव के कारण लोगों को घर छोड़ने के लिए विवश होना पड़ रहा है। बोकारो के गरगा डैम पर पानी का दबाव बढ़ने से इसके दो फाटक खोलने पड़े। नदी के तेज बहाव से भर्रा का छोटा पुल बह गया। यह पुल बोकारो नगर से भर्रा को जोड़ता है। वहीं, फुसरो में दामोदर नदी उफान पर है, जिससे आसपास के लोगों में भय व्याप्त हो गया है। इसके अलावा कोनार नदी भी उफान पर हैं। तेनुघाट डैम का जलस्तर बढ़ गया है। कोयला खनन कंपनी सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड (सीसीएल) के कोयला खदानों से कोयले का उत्पादन, डिस्पैच और ओबीसी रिमूवल कार्य पूरी तरह बाधित हो गया है। बोकारो थर्मल में बारिश के कारण लगातार मिट्टी का कटाव हो रहा है। जारंगडीह से बोकारो थर्मल रेल्वे लाइन के आऊटर सिग्नल के समीप बिजली पोल संख्या 4 और 15 के निकट ओवरब्रिज का काम करनेवाली कंपनी बीकेबी ने बिना रेलवे अधिकारियों की अनुमति लिये रेलवे ट्रैक के निकट से मिट्टी काट डाली। इसी वजह से कटाव हो रहा है। कटाव रोकने के लिए यदि शीघ्र ही कुछ नहीं किया गया तो बोकारो थर्मल में किसी भी समय रेलवे लाइन के धंसने का खतरा है। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...