भारतीय महिलाओं की भिड़ंत फाइनल में इंग्लैंड के साथ

  • 2005 में पहली बार ऑस्ट्रेलिया के साथ 12 साल के बाद द्वितीय बार 2017 में इंग्लैंड के साथ
  • 2005 में  खेलने वाली मिताली राज और झूलन गौस्वामी 2017 खेलेंगे

indian-women-final-with-england
भारतीय महिलाओं द्वारा महिला विश्व कप में उम्मा प्रदर्शन करने से क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर भी खुश हैं। वहीं ऐतिहासिक क्रिकेट ग्राउंड लाड्स में 1983 में वेस्ट इंडीज को धूल चटाने वाले पूर्व कप्तान कपिल देव,महान क्रिकेटर सुनील गवास्कर के साथ अनेक क्रिकेटरों और.क्रिकेट प्रेमियों ने वीमेंस टीम इंडिया को बधाई दिये हैं।6 बार के चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया को सेमीफाइनल में 36 रनों से लताड़ा। भारत ने 2005 की हार का बदला ऑस्ट्रेलिया से ले लिया। 2005 में भारत और ऑस्ट्रेलिया से भिड़ंत फाइनल में। पहले खेलकर ऑस्ट्रेलिया ने 4 विकेट पर 215 रन बनाया। इसके जवाब देने मैदान में उतरी भारत। मात्र 117 रन पर ही भारत ढेर हो गयी। सर्वाधिक ए .जैन 29 रन बनायी। मिताली राज 6 और झूलन गौस्वामी 18 रन ही बना सकीं। चेज करने उतरी टीम की 4 खिलाड़ी रन आउट हो गयी। इस तरह ऑस्ट्रेलिया से भारत 98 रन से हार गयी। कप्तान टॉस जीतना चाहेगीं? 2005 में भारत 215 रन नहीं बना सकेगी। फाइनल का प्रेशर और लक्ष्य प्राप्ति को सहजता से नहीं ले सकी। रन लेने के चक्कर में 4 रन आउट हो गये। 50 ऑवर भी नहीं खेल सके। इसके आलोक में मिताली राज को टॉस जीतना ही होगा। पहले बल्लेबाजी कर अधिक से अधिक रन बनाकर बड़ा लक्ष्य देना होगा। इसके लिये स्मृति मंदाना को संयम से खेलना होगा। बाकी परिपक्व बल्लेबाज हैं जो विशाल योग बनाने में सक्षम हैं। भारत ने इंग्लैंड को परास्त कर दी है। मगर कमजोर आंकना नहीं है और न ही आत्मविश्वास को पहाड़ पर चढ़ा ले। अब तो 23 जुलाई को लॉड्स मैदान पर फाइनल मैच के दरम्यान पता चल पायेगा। 26 जून, 2017 से महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप शुरू हुआ।  मेजबान इंग्लैंड के दर्शकों के बीच 35 रनों से पटकनी दे मारी। वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से रौदा। पाकिस्तान को 95 रनों से कुचल दिया। वहीं श्रीलंका को 16 रनों से मात दे दी। लगातार 4 मैच जीतने के बाद लगातार 2 मैच दक्षिण अफ्रीका से 8 विकेट से और 6 बार की चैम्पियन ऑस्टेलिया से 115 रनों से हार गयी। अब प्रथम सेमीफाइनल की विजेता टीम इंग्लैंड के साथ भारत का मुकाबला होगा। अपने प्रथम मैच में 35 रनों से पराजित कर दी भारत ने इंग्लैंड को। बल्लेबाजी में स्मृति मंदाना,मिताली राज,हरमनप्रीत कौर आदि ने शतक जमाया और झूलन गौस्वामी,दीप्ति शर्मा,शिखा पांडेय,पूनम यादव, राजेश्वरी गायकवाड आदि ने शानदार गेंदबाजी की हैं। वहीं क्षेत्ररक्षण भी अव्वल दर्जा का है।वहीं 123 करोड़ देशवासियों की दुआ साथ है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...