दुमका : दिन गुरुवार को 54, 062 श्रद्धालुओं ने बाबा वासुकिनाथ का जलाभिषेक किया



baidyanath-dham-mela
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) फौजदारी बाबा बासुकिनाथ धाम में श्रावणी मेला महोत्सव 2017 के दरम्यान दिन गुरुवार को समाचार लिखे जाने तक कुल 54, 062 श्रद्धालुओं ने बाबा वासुकिनाथ का जलाभिषेक किया, इनमें 1014 श्रद्धालुओं ने शीघ्र दर्शनम्, 7, 523 श्रद्धालुओं ने जलार्पण काउण्टर के माध्यम से तथा 45, 525 श्रद्धालुओं ने निकास द्वार के माध्यम से बाबा पर जलार्पण किया।  बासुकिनाथ धाम में दिन गुरुवार को 92, 590 रुपये गोलक से व 15, 737 रुपये  अन्य स्रोतों से प्राप्त हुआ। मेला में बाबा को कुल 88 ग्राम चाँदी का द्रव्य चढ़ाया गया। फौजदारी बाबा बासुकिनाथ धाम मंदिर न्यास समिति की ओर से 5-5 ग्राम के कुल चार अद्द सिक्के व 10-10 ग्राम के छः अद्द चाँदी के सिक्कों की बिक्री की गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाये गये विभिन्न चिकित्सा शिविरों में मेला प्रारंभ होने से लेकर अब तक कुल 7,965 श्रद्धालुओं की निःशुल्क चिकित्सा व्यवस्था की गई। 13 जुलाई 2017 को कुल 2, 185 श्रद्धालुओं का निःशुल्क उपचार किया गया। मुख्य प्रशसनिक शिविर के 458, स्वास्थ्य उपकेन्द्र के 79, स्वास्थ्य शिविर (सूचना मंडप) के 194, स्वास्थ्य शिविर बस स्टैण्ड के 119, बासुकिनाथ धाम रेलवे स्टेशन के 50, रेफरल अस्पताल बासुकिनाथ धाम के 39, राजस्व तहसील कचहरी के 68, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जरमुण्डी के 42, कांवरिया धर्मशाला सहारा के 18, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तालझारी के 98, स्वास्थ्य उपकेन्द्र कटहराटाड़ के 20, स्वास्थ्य शिविर बोगली के 32, स्वास्थ्य शिविर मोतिहारा के 50, स्वास्थ्य शिविर सुखजोरा के 18,  ओआरएस/इमरजेंसी काउन्टर के 50, 14 बूथों पर एन्टी पोलियो वैक्सीन काउन्टर के 832 व चलन्त चिकित्सा वाहन के 18 श्रद्धालुओं की निःशुल्क चिकित्सा जाँच की गई। 


इंटरनेट युक्त मीडिया सेंटर की व्यवस्था

श्रावणी मेला में देवघर व बासुकिनाथ धाम का माहौल पूरा शिवमय हो जाता है। बाबा बैद्यनाथ धाम व बाबा बासुकिनाथ धाम में पूरे एक माह तक गेरुवा वस्त्रधारियों की कई-कई कि0मी0 तक लम्बी कतार देखते ही बनती है। झारखण्ड का देवघर व दुमका जिला पूरे विश्व के मानचित्र पर इन दिनों छाया रहता है। विश्व के सबसे लम्बे इस मेले में देश-विदेश से लाखों शिवभक्तों की लम्बी कतार इस बात का अहसास कराती है कि श्रावणी माह में बाबा इन्ही स्थानों पर विराजमान हो भक्तों की श्रद्धाभाव से भक्ति की परीक्षा लेते हैं। राज्य सरकार व जिला प्रशासन के तत्वावधान में मेला परिसर के विभिन्न स्थानों पर स्टाॅलों की एक बड़ी श्रृंखला खड़ी कर दी जाती है ताकि शिवभक्तों को कोई कष्ट न उठाना पड़े। श्रद्धालुओं के लिये सभी सुविधाओं का खयाल जिला प्रशासन द्वारा रखा जाता है। शुद्ध पेयजल, शौचालय, निःशुल्क आवासन केन्द्र, स्वास्थ शिविर आदि कई सुविधाएँ, जिला प्रशासन द्वारा श्रद्धालुओं को निःशुल्क मुहैया करायी जाती है। श्रावणी मेला में लाखों की संख्या में विभिन्न राज्यों के श्रद्धालु बाबा पर जलार्पण करते हैं। इस दौरान किसी भी प्रकार की अफवाह से नागरिकों एवं आने वाले श्रद्धालुओं को दूर रखने के लिये इंटरनेट युक्त मीडिया सेंटर की भी व्यवस्था की गयी है। इस मीडिया सेंटर में न सिर्फ स्थानीय बल्कि दूसरे राज्यों से भी आये प्रेस के प्रतिनिधि आसानी से अपनी खबरों को भेज सकते हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष मीडिया सेंटर को हवादार एवं खूबसूरत बनाया गया है। पिछले वर्ष सिर्फ पाँच कम्प्यूटर लगाये लगाये गये थे जबकि इस बार 10 कम्प्यूटर लगाये गये हैं। प्रतिनिधियों के लिए इंटरनेट युक्त मीडिया सेंटर को पूरी तरह से वाई फाई रखा गया है एवं जेरोक्स, स्केनिंग की भी व्यवस्था रखी गयी है। प्रेस प्रतिनिधि को वाई फाई का लाभ उठाने में किसी प्रकार की परेशानी हो इस लिये सभी वाई फाई के एक पासवर्ड रखे गये हैं। मीडिया सेंटर में प्रेस प्रतिनिधियों के लिए और भी कई प्रकार की व्यवस्था किये गये हैं। डीपीआरओ सैयद राशिद अख्तर ने उपरोक्त आशय की जानकारी दी। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...