झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 जुलाई

 नए शैक्षणिक सत्र में स्कूलों की हालत हो रहीं खस्ता
  • स्कूल चले हम अभियान साबित हो रहा फलाॅप -ः जिपं अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया
  • सरकार ने वर्षों से जिले में नहीं की है रिक्त पदों पर षिक्षकों की पदस्थापना

झाबुआ। नया शैक्षणिक सत्र 15 जून से प्रारंभ हो गया है, इसके साथ ही स्कूलों में विद्यार्थियों को कई तरह की परेषानियों का सामना करना पड़ रहा है। कहीं स्कूल भवन जीर्ण-षीर्ण है, तो कहीं विद्यार्थियों को पढ़ने के लिए शासन द्वारा प्रदत्त की जाने वाली निःषुल्क पुस्तके नहीं मिली है। स्कूल चले हम अभियान भी पूरी तरह से फलाॅप साबित हो रहा है। उक्त समस्याओं से अवगत करवाते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री सुश्री कलावती भूरिया ने बताया कि नया शैक्षणिक सत्र में विद्यार्थियों की तरह-तरह की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। जिसमंे मुख्य रूप से कई ग्रामीण क्षेत्रों में शाला भवन जीर्ण-षीर्ण होने से बारिष के दौरान छतों एवं दीवारों से पानी टपकने की समस्या से छात्र परेषान है। जिला प्रषासन के पास भवनों के रिपेयरिंग तक का पैसा नहीं है, या यह कहा जाए कि जिला प्रषासन इन्हें रिपेयर नहीं करवाना चाहता है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि नए सत्र मंे कई विद्यार्थी निःषुल्क पुस्तके पाने से भी वंचित है।


स्कूल चले हम अभियान फलाॅप
सुश्री भूरिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्कूल चले हम अभियान फलाॅप साबित हो रहा है। जिले मे षिक्षा का स्तर दिन-प्रतिदिन घटिया होता जा रहा है। बच्चों को गुणवत्ता युक्त षिक्षा उपलब्ध करवाने के प्रदेष सरकार एवं जिला प्रषासन द्वारा बड़े-बड़े दावे किए जा रहे है, जो धरातल स्तर पर महज फिसड्उी साबित हो रहे है। बच्चों को गुणवत्ता युक्त षिक्षा तो नहीं मिल रहीं है, अपितु उन्हे अध्ययन कार्य में कई दिक्कते आ रहीं है।

षिक्षकों के रिक्त पदों पर पूर्ति नहीं
जिले में षिक्षा का निम्न स्तर का मुख्य कारण प्रदेष सरकार द्वारा जिले में वर्षों से रिक्त पड़े षिक्षकों के पदो की पूर्ति नहीं किया जाना है। वर्तमान में जिले में षिक्षकों के सैकड़ों पद रिक्त है। विषेषकरण ग्रामीण अंचलों के विद्यालयों में षिक्षक नहीं होने से उन्हें शाला में पढ़ाने वाला कोई नहीं है। वहीं वर्तमान में जो षिक्षक है, वह भी समय पर नहीं आने से विद्यार्थियों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। जिपं अध्यक्ष सुश्री भूरिया ने प्रदेष सरकार एवं जिला प्रषासन से जिले में षिक्षा के हो रहे निम्न स्तर में अतिषीघ्र सुधार करने की मांग की है, अन्यथा कांग्रेस इसको लेकर आंदोलन करने को बाध्य होगी।

किसान सन्देश यात्रा पिटोल में पहुची
  • विधायक ने किसानों के हित मे षिवराज सरकार की योजनाओं की दी जानकारी

jhabua news
झाबुआ । सोमवार को शांतिलाल बिलवाल विधायक, झाबुआ के नेतृत्व में किसान सन्देश यात्रा पिटोल पहुची ,पिटोल में किसान सन्देश यात्रा का भव्य स्वागत वहाॅ के गा्रमीणजनो एव कार्यकत्र्ताओ द्वारा किया गया । किसान सन्देश यात्रा में  उपस्थित गा्रमीण जनो से विधायक शांतिलाल बिलवाल द्वारा चर्चा कर प्रदेश सरकार एवं केन्द्र सरकार की योजनाओ के बारे में बताया गया, तथा किसानो द्वारा किये जा रहे आदोलन के बारे में भी बताया गया कि सरकार द्वारा सर्मथन मूल्य पर प्याज का मूल्य 8 रू. निर्धारण कर खरीदा जा रहा है और 50 प्रतिशत राशि नगद तथा 50 प्रतिशत राशि आर.टी.जी.एस. कर किसानो के खाते में जमा की जा रही है, काग्रेस  के 50 साल के शासन में किसानो को कभी इतनी मदद नही करी परन्तु माननीय मुख्यमंत्री एवं हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा किसानो को हर संभव मदद की जाती रही है, पहले पाला पडा तो किसानो का कर्ज माफ किया गया, जो फसल का नुकसान हुआ था वह सरकार द्वारा किसानो को दिया गया । म.प्र. सरकार द्वारा किसानो को बिजली 12 घण्टें उपलब्ध कराई जा रही है जिससे किसानो को दोनो फसल लेने का फायदा मिला रहा है पहले गा्रमो में लाईट नही रहती थी, परन्तु आज गा्रमो में 24 घण्टे बिजली उपलब्ध रहती है, गरीब आदिवासी परिवारो के बच्चो के लिए गाॅव-गाॅव  स्कूल,छात्रावास बच्चो को पडने हेतु,पुस्तके गाॅव से आने वाले बच्चो के लिए,साईकिल, स्कूल युनिफार्म, यह सब म.प्र.सरकार द्वारा दिया जा रहा है, , पिटोल में काग्रेस के शासन में पहले कन्या छात्रावास नही था जिसके कारण छात्राएॅ 8 वी के बाद पढना छोड कर गृह कार्य में लग जाती थी, परन्तु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा अब पिटोल में छात्राओ हेतु कन्या छात्रावास खोला गया है,और नया आश्रम भवन भी बन रहा है, पिटोल में स्वास्थ्य सुविधाएॅ भी उपलब्ध कराई गई कन्या हाईस्कूल की स्वीकृति भी दी गई है जिससे इस क्षैत्र का विकास तेजि से आगे बढ रहा है । किसान सन्देश यात्रा के दौरान दौलत भावसार जिलाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी दिलीप कुशवाह जिला मंहामंत्री भाजपा लक्ष्मण सिंह नायक, कल्याण सिंह डामोर, हरू भूरिया मण्डल अध्यक्ष गा्रमीण झाबुआ, बहादूर हटिला, मण्डी उपाध्यक्ष झाबुआ, जगदीश बडदवाल विधायक प्रतिनिधि जिला पंचायत झाबुआ, महेन्द्र गुडू ठाकुर , मेजिया कटारा, बलवन्त मैडा, मकना गुण्डिया, प्रतीक शाह,सरंपच माण्डली बडी,सरपंच कालाखुट,सरपंच काकरादरा खुर्द, लाला गारी उपसंरच, एवं गा्रमीण जन एवं गा्रमीण मण्डल झाबुआ के कार्यकत्र्ता उपस्थित रहें ।


श्रीमती सिंगार ने घर घर जाकर गुरूपूर्णिमा महोत्सव के आमंत्रण पत्रों का किया वितरण।
  • नगरवासियो से धर्मलाभ लेने की अपील की ।

jhabua news
झाबुआ । युवा साई सेवा समिति के बैनर तले स्थानीय डीआरपी लाईन में 7 से 9 जुलाई तक श्री शिरडी साई बाबा के दरबार में  मनाये जाने वाले भव्य गुरूपूर्णिमा महोत्सव में जन जन की  भागीदारी एवं 9 जुलाई को महाप्रसादी एवं भव्य पालकी यात्रा में सहभागी होने के लिये आमंत्रण पत्रों का घर घर जाकर वितरण करने का कार्य किया जारहा है । इसी कडी में रविवार एवं सोमवार को पूर्णिमा महोत्सव समिति की संयोजिका श्रीमती संगीता शैलेन्द्र सिंगार द्वारा अपनी टीम के साथ घर घर जाकर आमंत्रण पत्रों का वितरण किया गया तथा नगरवासियों से इस भव्य आयोजन में सपरिवार,ईष्टमित्रों सहित भाग लेने काक अनुरोध किया गया । श्रीमती कविता सिंगार ने बताया कि नगर में  गुरूपूर्णिमा महोत्सव को लेकर साई भक्तों में अपार उत्साह दिखाई दे रहा है तथा आयोजन में सभी आगे रह कर सहयोग के लिये आरहे है । श्रीमती सिंगार के अनुसार  श्री शिरडी साई बाबा के दरबार में आयोजित त्रिदिवसीय आयोजन में झाबुआ नगर शिरडी तरह तब्दिल हो जावेगा तथा बाबा के दरबार में हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं का जमघट लगेगा ।

हमारा अतित कितना भी काला रहा हो किन्तु हमारा वर्तमान हमेषा ही धवल होना चाहिये- आचार्य देवेष ऋषभचन्द्रसूरीजी महाराज
  • बावन जिनालय में चातुर्मास में प्रवचन हुए प्रारंभ, पूज्य साध्वी पुष्पाश्रीजी मसा.को श्रद्धांजलि अर्पित कर गुणानुवाद किया गया ।

झाबुआ । हमारा अतित कितना भी काला रहा हो किन्तु हमारा वर्तमान हमेशा ही धवल होना चाहिये । कुछ व्यक्ति जो गलियों में आवारा गर्दी करते रहे हो, वे नेता बन जाते है और उनके पास अधिकार और सत्ता मिल जाती है तो उनका अतीत कोई नही देखता है ।नमम उन्हीका किया जाता है जिनका वर्तमान अच्छा हो । वर्तमान को ही हर समय सम्मान मिलता है। अतित को यदि देखा जाता तो वाल्मीकी के वर्तमान में उनको स्मरण नही किया जाता, उनको पूजा नही जाता । इसलिये हम सभी को अपने अतीत को भूल कर वर्तमान को ही स्मरण रखा जाना चाहिये । किसी भी परिवार, किसी भी समाज, किसी भी राष्ट्र मे एकता लाना है तो सभी को एक स्वरूप  होकर जीना पडेगा ।समय एवं परिस्थितिया ही बदलाव करती है। जीएसटी को लागू करना राष्ट्र उत्थान के लिये जरूरी है इससे देश की आर्थिक व्यवस्था दुरूस्त होगी इसमे सभी को साथ देना चाहिये । व्यक्ति को हमेशा वर्तमान के साथ जीवन जीना सीखना चाहिये अतीत को पकड कर नही बैठना है । यदि हम वर्तमान के साथ जियेगें, सभी के साथ अच्छा बर्ताव करेगें , सभी से प्रेम भावना के साथ व्यवहार करेगें तभी हमारा जीना सार्थक है और यह वही कर सकता है जिसे वास्तव मे जीना आता है। उक्त प्रभावी,ज्ञानवर्धक एवं जीवन में उतारने वाली बात मंगलवार को स्थानीय बावन जिनालय के सभागार में चातुर्मास निमित्ते पधारे परमपूज्य,शासन प्रभावक, जीवदया प्रेमी श्री मद्वियज आचार्य ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी मसा. ने धर्मसभा में श्रावक श्राविकाओं को संबोधित करते हुए कहीं । उन्होने पूज्य साध्वी पुष्पाश्रीजी मसा की 18 वीं पूण्यतिथि पर आयोजित गुणनुवाद एवं श्रद्धाजंलि सभा के अवसर पर कहा कि किसी भी अच्छी आत्मा के गुण गाने, उनका बखान करने से हमारे अन्दर भी गुण भावना का प्रार्दूभाव होता है । आत्मा का सकाराम्त्मक विकास होना प्रारंभ हो जाता है। ऐसे विभिूतियों की वाणी का स्मरण करके की गई प्रार्थना से हमेशा ही सकारात्मक उर्जा पैदा होती है। देवताओं का नखशीश वर्णन एवं उनकी हर छबि का बखान गुणानुवाद करने से एक अलौकिक आत्मीय आनन्द की अनुभूति मिलती है । व्यक्ति के शरीर नही अपीतु उसकी वाणी, उसके चरित्र, उनके आचरण का गुणगान किया जाना चाहिये । पूज्य पुष्पाश्री महाराज के साथ 35 वर्षो के आध्यत्मिक संग का सस्मरण सुनाते हुए आचार्य देवेश ने कहा कि उनका मार्गदर्शन मिलता रहा है और वे हमेशा समाज के प्रति सद्चिंतनमे जुटी रही । आचार्य देवेश ने आगे कहा कि उनमे ज्ञान साधना इतनी अधिक थी अस्वथ रहने के बाद भी वे समाज के उत्थान के लिये अपना सहयोग देती रही । उनके साहित्य अनुभव धर्म जागरण को विस्मृत नही किया जासकता है ।उन्होने हर विषय का अध्ययन किया अनेको चातुर्मास किये तथा अपनी शिष्याओं को भी गुणों से परिपूर्ण किया । पूरे देश में करीब 18 से अधिक राज्यों में उन्होने भ्रमण किया और सर्वत्र पवित्रता से आच्छादित किया ।इसलियंे वर्तमान को कभी विस्मृत नही करना चाहिये और अतीत को कभी भुलना नही चाहिये । इस अवसर पर मुनि श्री रजतचन्द्रविजय जी मसा ने धर्मसंभा को संबोधित करते हुए पूज्य पुष्पाश्रीजी मसा की 18 वी पूण्यतिथि पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि सिद्धीतप आराधना होना चाहिये । इससे आठ भव से मुक्ति का मार्ग प्रशस्त होता है ।उन्होने पूज्य पुष्पाश्रीजी का स्मरण करते हुए कहा कि ज्ञान कहीं से भी मिले उसे अंगीकार करना ही चाहिये । झाबुआ जैसी जगह पर पूज्य साध्वीजी की भावनानुसार आयंम्बिल भवन बना है । उनहोने 1955 से आज तक अपने उपदेशो एवं सदसंदेशो से धर्म जागरण का कार्य किया उन्हे विस्तृत नही किया जासकता है । उन्होने आगे कहा कि संसार एक सृष्टि एवं दृष्टि है  गुणगान करने से कैवल्यज्ञान प्राप्त होता है । पूण्य तिथि को अपने लाभ के रूप में ज्ञान के रूप में मनाना चाहिये । चातुर्मास समिति की अध्यक्ष संजय कांठी ने संचालन करते हुए कहा कि झाबुआ नगर में पूज्य आचार्य देवेश  आदि ठाणा एवं साध्वी मंडल का सानिध्य प्राप्त होना नगर के लिये गौरव का क्षण हे । चार माह तक झाबुआ की धर्मधरा तीर्थ स्वरूपा हो जायेगी और हम सभी को ज्ञान गंगा प्राप्त का दुर्लभ अवसर मिला है । इस अवसर पर श्री संघ के अध्यक्ष धर्मचन्द्र मेहता ने ने साध्वी श्री पुष्पाश्रीजी को श्रद्धांजलि देते हुए गुणानुवाद करते हुए उनके द्वारा 1954, 1970 एवं 1986 में झाबुआ नगर में किये गये चातुर्मास के संस्मरण सुनाते हुए उन्हे प्रेम मूर्ति,धर्म जागृति की सन्देश वाहिका बताते हुए निर्विवाद साध्वी निरूपित किया । अशोक राठौर ने अपने  संस्मरण सुनाते हुए उनसे माता तुल्य मिले स्नेह का जिक्र करते हुए उनकी भावनानुसार आयंबिल भवन की नगर में स्थापना के स्वप्न के पूरे होने की बात कहीं । सुश्रावक संजय मेहता ने कहा कि दीव्य पुरूष, महापुरूष का आगमन समाज के उत्थान के लिये होता है । साध्वीजी के जीवन वृत पर प्रकाश डालते हुए कहा कि चातुर्मास के माध्यम से उन्होने जो ज्ञान गंगा प्रवाहित की थी उसे आज भी स्मरण किया जाता है । तेज प्रकाश  कोठारी ने श्रद्धाजलि देते हुए गणानुवाद किया । इस अवसर पर गुरूपूजन अशोक राठौर, सोहनलाल कोठारी, बाबुलाल कोठारी, संतोष नाकोडा, मुकेश रूनवाल, इन्द्रसेन संघवी आदि ने संपन्न किया । आचार्य देवेश को कांबली ओढा कर धर्मचन्द्र मेहता, अशोक राठौर रिंकू रूनवाल अभय धारीवाल, अशोक कटारिया मनोहर मोदी, सूर्या कांठी, मुकेश संघवी  आदि ने स्वागत किया । इस अवसर पर साध्वी श्री अनुभवदृष्टाश्री जी ने श्री पुष्पाश्री जी कोे हुए उनकी आध्यात्मिक जीवनयात्रा एवं समाज को दिये गये उनके अनमोल विचारों के बारे में विस्तार से बताया । आमील की आराधना का आयोजन करीब 40 लोगों ने दोपहर मे किया  इसमे मांगुबेन सकलेचा, सुरेश, संजय, संदीप सकलेचा परिवार द्वारा लिया गया । आमील मे श्रीमती मांगुबेन सकलेचा नीता  सुरेन्द्र कांठी, रीना राठौर, श्रद्धा राठौर, समता कांठी, सपना संघवी, आदि ने अनुकरणीय सेवा कर योगदान दिया । दोपहर 2 बजे से सामुहिक सामयिक एवं नवकार महामंत्र के जाप किये गये ।

जनसुनवाई में दर्ज हुआ आवेदक का मोबाईल नम्बर, अब सी.एम.हेल्पलाईन की तरह ही होगी जनसुनवाई की मानीटरिंग
  • कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने लिए आवेदन

झाबुआ । आज 4 जुलाई को शासन के निर्देशानुसार जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसुनवाई में आवेदन कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना एवं सीईओ जिला पंचायत श्री दिलीप कापसे ने लिये। आवेदको से आवेदन प्राप्त कर संबंधित कार्यालय प्रमुखो को निराकरण के लिये आवश्यक निर्देश दिये गये। जनसुनवाई में आये दिव्यांग जनो से नीचे प्रथम तल पर ही आवेदन लिये गये। महिलाओं एवं बुजूर्गों के आवेदन पहले लिये गये। जनसुनवाई के आवेदनो के निराकरण की प्रक्रिया भी सी.एम.हेल्पलाइन की तरह ही हो गई है। आवेदनों को आॅनलाईन साफ्टवेयर में दर्ज किया गया। जनसुनवाई में प्रकरण के निराकरण की स्थिति बताने के लिए आवेदक का मोबाईल नम्बर दर्ज करना भी अनिवार्य हो गया है। इसलिए आवेदन के साथ आवेदक का मोबाइल नम्बर भी दर्ज किया गया। जनसुनवाई में अनिता पति अमृतलाल निवासी ग्राम रायपुरिया तहसील पेटलावद ने आंगनवाडी कार्यकत्र्ता की जारी चयन सूची में बी.ए.स्नातक के 10 अंक एवं बीपीएल कार्ड के अंक जोडकर चयन सूची में प्राथमिकता देते हुए। आंगनवाडी कार्यकत्र्ता के पद पर नियुक्ति दिलवाने के लिए आवेदन दिया।
रमेश पिता वीरसिंह एवं गुण्डिया पिता दल्ला निवासी भेरूपाडा तहसील पेटलावद ने बच्चों को कक्षा 6 टी एवं 7 वी में झकनावदा स्कूल में प्रवेश नहीं दिये जाने की शिकायत की एवं बच्चों को झकनावदा सकूल में प्रवेश दिलवाने के लिए आवेदन दिया। रसोईयन लीलाबाई पति सोमला वसुनिया निवासी ग्राम बामनिया तहसील पेटलावद ने जनवरी 2015 से मार्च 2016 तक का मानदेय का भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। कमला बाई पति कालूराम ने घर की विद्युत सप्लाई लाईन जुड़वाने के लिए आवेदन दिया। कैलाश पिता मांगीलाल प्रजापत निवासी सिद्धेश्वर कालोनी झाबुआ ने निर्माण श्रमिक का पंजीयन कार्ड नगरपालिका द्वारा नहीं दिये जाने की शिकायत की एवं शासन की प्रसुति सहायता योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पंजीयन कार्ड दिलवाने के लिए आवेदन दिया। थावरिया पिता सुरपाल निवासी सजेली मोगजी साथ तहसील मेघनगर ने ग्राम वन योजनांतर्गत शासकीय भूमि पर लगे पेड पौधो को उखाड कर खेती करने वाले दितु पिता दितमल, चरण पिता दितमल के विरूद्ध कार्यवाही करवाने एवं शासकीय भूमि पर से अतिक्रमण हटवाने के लिए आवेदन दिया।
रूपा पिता गवजी निवासी ग्राम भामली तहसील थांदला ने कपिल धारा कूप निर्माण की राशि का भुगतान करवाने के लिए आवेदन दिया। अंगूरी पति श्री राम निवासी तलावडा तहसील थांदला एवं मांगीलाल पिता गिरधारी निवासी बामनिया तहसील पेटलावद ने आवास स्वीकृत करवाने के लिए आवेदन दिया। ग्राम मातापाडा तहसील पेटलावद के ग्रामीणों ने सिंगदेवी (मातापाडा) मंदिर में नियुक्त पुजारी को हटाये जाने के लिए आवेदन दिया। कैलाश पिता हेमराज निवासी महुडीपाडा एवं अंतरसिंग पिता मोरिया निवासी पिपलीपाडा तहसील पेटलावद ने महुडी पाडा ग्राम पंचायत में मुक्तिधाम निर्माण कार्य की राशि का भुगतान करवाने के लिए आवदेन दिया। 

जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर 7 जुलाई को
\
झाबुआ । जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर ग्राम पंचायत चैनपुरा जनपद पंचायत मेघनगर में 7 जुलाई शुक्रवार को आयोजित किया जायेगा। शिविर में अधिकारी उपस्थित होकर शासकीय योजनाओं की जानकारी देगें एवं प्राप्त आवेदनों का निराकरण करेगेे।

शासकीय उचित मूल्य दुकानो से प्याज विक्रय प्रारंभ, अपना पहचान पत्र दिखाकर खरीद सकते है प्याज

झाबुआ । शासकीय उचित मूल्य दुकानो से शासन द्वारा निर्धारित दर 2 रू. प्रति किलो प्याज का विक्रय प्रारंभ हो गया है। पात्र हितग्राही अपनी सहकारी उचित मूल्य दुकान पर अपना पहचान पत्र आधार कार्ड, इपिक कार्ड, ड्रायविंग लायसंेस इत्यादि दिखाकर प्याज खरीद सकते है। उपभोक्ता को न्यूनतम 10 किलो प्याज क्रय करना होगा एवं 50 किलो से अधिक प्याज एक परिवार को प्रदाय नहीं किया जाएगा।

अत्याचार अधिनियम अंतर्गत गठित समिति की बैठक 6 जुलाई को

झाबुआ । आदिवासी विकास विभाग अंतर्गत अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत गठित समिति की बैठक 6 जुलाई को प्रातः 11 बजे कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना की अध्यक्षता में आयोजित की जाएगी। 

प्रथम किश्त लेने के बाद आवास निर्माण नहीं करने वाले हितग्राही से राशि वसूल करे - कलेक्टर
  • समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक संपन्न

झाबुआ । कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने टी.एल.बैठक में सभी सीईओ जनपद को निर्देशित किया कि जिले में स्वीकृत इंदिरा आवास प्रधानमंत्री आवास एवं मुख्य मंत्री आवास की पूर्णता अथवा वर्तमान निर्माण स्थिति का भौतिक सत्यापन कार्य करवाये। जिन हितग्राहियों ने आवास की प्रथम किश्त लेने के बाद आवास निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं किया है, उनके आवास निरस्त कर राशि वसूली की कार्यवाही करे। सभी कार्यालय प्रमुख सी.एम. हेल्प लाइन के प्रकरणो का निराकरण एल-1 स्तर पर ही शिकायतकत्र्ता से बात करके करना सुनिश्चित करे।  उक्त निर्देश कलेक्टर श्री सक्सेना ने कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आज समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में दिये। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने की। बैठक में मुख्य कार्य पालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिलीप कापसे सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।

जिले में अब तक कुल 186.6 मि.मी. औसत वर्शा दर्ज, 24 घण्टो में कुल 28.4 मि.मी. वर्षा दर्ज

झाबुआ । अधीक्षक भू-अभिलेख झाबुआ ने बताया कि जिले में 1 जून से आज दिनांक तक कुल 186.6 मि.मी. औसत वर्शा हो चुकी है। जिले में विगत 24 घण्टों के दौरान औसत 28.4 मि.मी. वर्शा दर्ज की गई। विगत 24 घण्टो में झाबुआ तहसील में 30.0 मि.मी., थांदला तहसील में 9.4 मि.मी., रानापुर में 32.0 मि.मी., मेघनगर में 57.0 मि.मी., पेटलावद में 8.4 मि.मी., रामा में 40.0 मि.मी. वर्शा दर्ज की गई है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...