झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जुलाई

खेती को लाभ का धंधा बनाने वाली प्रदेष की भाजपा सरकार ने किसानों के विकास के लिये अच्छा काम किया- शांतिलाल बिलवाल
  • कांग्रेसी  सांसद भूरिया ने कृषिमंत्री रहने काद भी जिले को कुछ नही दिया- भावसार
  • किसान सन्देष यात्रा का हुआ समापन

झाबुआ । कांग्रेस के 60 साल के कुशासन में न तो केन्द्र की कांग्रेस सरकार ने कोइ्र कदम उठाया और ना ही प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने किसानों के हित की बात को सोचा। प्रदेश की शिवराजसिंह सरकार के आने  के बाद से सतत विकास की गति ऐसी बढी की प्रदेश का स्थान देश के अन्य राज्यों की तुलना में अग्रणी हो गया । कृषि के क्षे़त्र में प्रदेश ने कृषि विकास में इतनी अधिक प्रगति कर ली की प्रदेश को 5-5 बार केन्द्र सरकार द्वारा कृषि कर्मण पुरस्कार से नवाजा गया । प्रदेश में किसानों के हित मे शिवराजसिंह सरकार ने अनेको योजनायें एवं कार्यक्रम लागू करके किसानों की माली हालत को उत्तरोत्त बढाने का काम किया है । वर्तमान सांसद कांतिलाल भूरिया जो केन्द्र में कृषि मंत्री रहे के द्वारा इस अंचल के किसानों के लिये कुछ भी काम नही किया । मंत्री होते हुए भी यहां कृषि महाविद्यालय तक नही लासके । जब कांतिलाल भूरिया सांसद के साथ ही जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे तो तब वे किसानों से 16-17 प्रतिशत व्याज वसुल करके किसानों का शोषण करते रहे है  । जबकि शिवराजसिंह ने सबसे पहले किसानों की ऋण पर लगने वाली ब्याज दर को शून्य प्रतिशत पर लाकर किसानों को भरपुर राहत दी है ।  खेती को लाभ का धंधा बनाने वाला प्रदेश प्रथम राज्य है ।प्रदेश सरकार ने किसानों के हित में कई बहुआयामी योजनायें लागू की है वही प्रदेश सरकार की 165 से अधिक योजनाओं के कारण गरीबों के उत्थान का कार्य तेजी से हुआ है । भाजपा सरकार ने किसानों के हित मे जितना किया उतना कोई सरकार नही कर पाई है । कांग्रेस के शासनकाल में किसानों की बात सुनने वाला ही कोई नही था आज किसानों को बगैर किसी पेरशानियों के योजनाओं का लाभ मिल रहा है । किसानों की बेहतरी के लिये उठाये गये कदमों से कांग्रेस ने बौखला कर किसानों की आड में प्रदेश में शांत वातावरण को बिगाडने का काम किया और अन्ततः जांच के बाद साबित हो रहा है कि इस आन्दोलन के नाम पर ऐसे अफीम तस्करों एवं कांग्रेस के लोगों उने सोची समझी रणनीति के तहत किसान आन्दोलन की आड में अपनी राजनैतिक रोटिया सेकने का काम किया किन्तु उन्हे सफलता नही मिली है । आज कांग्रेस की हालत बिना आधार वाली हो चुकी है और किसान एवं जनता सभी जानगये है कि कांग्रेस पार्टी सिर्फ प्रदेश में अशान्ति का माहौल तेयार करके अपना उल्लु साधना चाहती है । उक्त बात रविवार को स्थानीय कृषि उपज मंडी में किसान सन्देश यात्रा के समापन के अवसर पर बडी संख्या में हाट बाजार मे आये किसानों, पार्टी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों को  संबोधित करते हुए कहीं । श्री बिलवाल ने कहा कि सन्देश यात्रा का उद्देश्य ही किसानों को सरकारी योजनाओं के बारे बताना तथा कांग्रेस की गंदी राजनीति से जन जन से परिचित कराना है । 27 जुन से प्रारंभ हुई किसान सन्देश यात्रा के समापन के अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष दौलत भावसार, नगरपालिका अध्यक्ष धनसिंह बारिया, कल्याणसिंह डामोर, जिला मतंत्री गोपालसिंह पंवार, जिला महामंत्री थावरसिंहद , जिला पिछडावर्ग प्रकोष्ठ अध्यक्ष संतोष सोनी,  पूर्णकालिक नवीन कुवाते, हरू भूरिया, सुरेश चैहान, बबलु सकलेचा, सूरसिंह हटिला, मुकेश अजनार,विधायक प्रतिनिधि राजेन्द्रकुमार सोनी, बहादूर हटिला, लालरा गुण्डिया, मथियास भूरिया, मेजिया कटारा, प्रवीण सुराणा, जगदीश बडदवाल, अमीत वसुनिया, भूपेश सिंगोड रईसा कुरेशी, बसंती बारिया, उरोशन आरा सहित बडी संख्या में पार्टी पदाधिकारी उपस्थित थे । इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष दौलत भावसार ने भी किसान सन्देश यात्रा के समापन के अवसर पर कांग्रेस पार्टी को आडे हाथ लेते हुए  कांग्रेस पार्टी पर आम किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया ।प्रदेश की शिवरीाजसिंह सरकार की नीतियों एवं कार्यक्रमों की प्रसंशा करते हुए प्रदेश को 5 बार मिले कृषि कर्मण पुरस्कार का जिक्र करते हुए प्रदेश सरकार द्वारा प्राकृर्तिक आपदा आदि मे जिले के किसानों को 9 करोड कके मुआवजे वितरण की जानकारी दी । कांतिलाल भूरिया के कृषिमंत्री के रूप  में उनके द्वारा विदेश यात्रा मे दो फर्जी किसानो को विदेश यात्रा करवाने का जिक्र करते हुए कहा कि कांतिलाल भूरिया को जिले में एक भी ऐसा किसान नही दिखाई दिया जिसे विदेश मे अध्ययन के लिये ले जाते । श्री भावसार ने किसान आन्दोलन के नाम पर कांग्रेस द्वारा प्रदेश की फिजा बिगाडने का आरोप लगाते हुए इस आन्दोलन मे किसानों की आड मे अफीम तस्करों एवं काग्रेसी नेताओं का हाथ बताया । उन्होने कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी द्वारा आन्दोलन के नाम पर किये गये कृत्यों की निन्दा करते हुए कहा कि जिले की तीनों विधानसभा क्षेत्रों में किसान सन्देश यात्रा के नाम से किसानों मे जन जागृति फैलाने का काम किया है । उन्होने केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना के बारे में भी विस्तार से बताया । श्री भावसार ने किसानों के नाम पर राजनीति5 करने वाली कांग्रेस को झुठी एवं किसान विरोधी बताया । इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष धनसिंह बारिया ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह की किसान हितैषी योजनाओं का जिक्र करते हुए विधानसभा क्षेत्र में सफल आयोजन करने के लिये विधायक शांतिलाल बिलवाल की प्रसंशा की । , इस अवसर पर किसान सन्देश यात्रा में पूरे समय विधानसभा क्षेत्र में सक्रियता काम करने वाले राधुसिंह भूरिया एवं बबलु वाहन चालक का विधायक सहित अतिथियों ने पुष्पमालाओं से सम्मान किया । कार्यक्रम का संचाल नगर मंडल अध्यक्ष बबलु सकलेचा ने किया तथा आभार मंडी उपाध्यक्ष बहादूर हटिला ने माना । विधायक ने गा्रमीण किसानों को किसान हितैषी योजनाओं का साहित्य का हाट बाजार मे वितरण किया ।


भजन संध्या में साई भजनों पर झुम उठे श्रोता, गुरूपूर्णिमा पर शिरडीधाम बना साई मंदिर
  • हजारों ने भंडारा प्रसादी का लिया लाभ, भव्य पालकी यात्रा का नगरवासियों ने किया स्वागत ।

jhabua news
झाबुआ । श्रीशिरडीसाई मंदिर परिसर में त्रि दिवसीय  श्री गुरूपूर्णिमोत्सव में रविवार को प्रातःकाल से ही शिरडी साई बाबा का मंदिर शिरडीधाम बन गया । हजारों उकी संख्या में साईबाबा के दर्शनार्थ लोगों ने कतार लगा कर बाबा का वंदन पूजन किया ।  कार्यक्रम संयोजिका श्रीमती कविता शेलेन्द्र सिंगार ने जानकारी देते हुए बताया कि गुरूपूर्णिमा की पूर्व संध्या पर शनिवार रात्रि को बाबा के दरबार में अमर पंजाबी की भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें एक से बढ कर एक भजनों की प्रस्तुति से पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया । संगीत की स्वर लहरियों पर श्रोतगण नाचने लगें। रविवार को प्रातःकाल से गुरूपूर्णिमा के अवसर पर  प्रातः 5 बजे कांकड आरती में बडी संख्या में साईभक्तो ने आरती में भाग लिया तथा बाबा के अभिषेक काक अनुष्ठान भी किया गया । प्रातः 10 बजे से बाबा के दरबार मे भव्य भंडारे काक आयोजन किया गया जिसमें हजारों की संख्या में गा्रमीणों एवं नगरवासियों ने प्रसादी का लाभ लिया । स्वयं जिला कलेक्टर आशीष सक्सैना, पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन ने भोजन प्रसादी परोसी । वही क्षेत्रीय विधायक शांतिलाल बिलवाल, नगरपालिका अध्यक्ष धनसिंह बारिया, श्रीमती बसंती बारिया, श्रीमती संगीता शैलेन्द्र सिंगार, बबलु सकलेचा, प्रवीण सुराणा आदि ने भंडारा प्रसादी में परोसगारी की । विधायक ने गुरूपूर्णिमा के पर्व पर सभी को बधाईया देते हुए गुरू को ज्ञानदाता बताया । युवा साई समिति के दिलीप कुशवाह ने जानकारी देते हुए बताया कि सायंकाल 4 बजे से साई बाबा मंदिर से गाजे बाजे के साथ भव्य एपालकी यात्रा आयोजित की गई ।  जिसमे आदिवासी लोक नृत्य दल आलीराजपुर, विश्वकर्मा डीजे के साउंड सिस्टम, बेंड बाजो, ताशापार्टी,नासिक के ढोल आकर्षण का केन्द्र रहे । बच्चों के मनोरंजन के लिये मिक्की माउस गणेश जी बंदर आदि आकर्षण का केन्द्र रहे । शोभायात्रा मे साई पालकी को उठाने के लिये साईभक्तों का उत्साह देखने लायक था । साई पालकी मन्दिर प्रांगण से राजगढ़ नाका, ब्लॉक कॉलोनी, कुरेशी कंपाउंड, भोजमार्ग, चारभुजा नाथ मंदिर ,राजवाड़ा चैक, लक्ष्मी बाई मार्ग,जैन मंदिर वाली गली,रूनवाल बाजार, थांदला गेट, मैन बाजार, आजाद चैक, कालिका माता मंदिर , नेहरू मार्ग होते हुए पुनः साई मंदिर प्रांगण पहूचेगी जहां बाबा की आरती की जावेगी । रात्री में 8-30 बजे बाबा की महा आरती एवं 9 बजे से इन्दौर के कलाकारों द्वारा रंगारग आतिशबाजी की गई तथा प्रसिद्ध भजन गायक श्री अमर पंजाबी की भजन संध्या का आयोजन किया गया । श्री कुश्वाह ने बताया कि रात्री 8-30 बजे बाबा की महा आरती मे हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया । रात्री 11 बजे शयन आरती के बाद त्रि दिवसीय साई महोत्सव का समापन हुआ ।

श्री रामकृष्ण सेवा समिति ने मनाया गुरूपूर्णिमा पर्व

झाबुआ । नगर के एकलव्य भवन थांदला गेट पर श्री रामकृष्ण सेवा समिति द्वारा गुरूपूर्णिमा पर्व पूरी श्रद्धा के साथ मनाया गया । शनिवार रात्रि को संगीतमय सुंदरकांड का पाठ का आयोजन किया गया तथा रविवार प्रातः 6 बजे से अभिषेक हवन के बाद दोपहर 12 बजे महा आरती कर गुरूवंदना की गई । बालिका भोजन  एवं विकलांग केन्द्र के बच्चों को भेजन करवाया गया तथा इसके बाद महा भंडारे का आयोजन किया गया जिसमे बडी संख्या में लोगों ने भोजन प्रसादी प्राप्त की ।

बडो के घर बिना बुलाये मत जाओं और छोटे और गरीब के यहां बिना बुलाये जाना चाहिये - मुनि रजतचन्द्र विजय जी मसा
  • गुरू महिमा अनन्त होती है- आचार्यदेवेश ऋषभचन्द्रसूरीजी मसा बावन जीनालय मे गुरूपूर्णिमा पर्व हर्षोल्लास से मनाया ।

jhabua-news
झाबुआ । गुरूपूर्णिमा के अवसर परमपूज्य आचार्य देवेश श्री ऋषभचन्द्रसूरिश्वरजी मसा के चातुर्मास के दूसरे दिन गुरूपूर्णिमा पर्व बडे ही धुमधाम से मनाया गया । बडी संख्या में उपस्थित श्रावक श्राविकाओं को गुरू महिमा के बारे में बताते हुए श्री ऋषभचन्द्रसूरीजी मसा ने कहा कि गुरू की महिमा अनन्त है । उन्होने अपने सभी गुरूओं का गुणगान करते हुए कहा कि उन्होने अपने गुरू पूज्य श्री विद्याचन्द्रसूरीजी मसा के सानिध्य में 22 साल तक शास्त्रों का गहन अध्ययन किया उसके बाद ही उनकी दीक्षा संपन्न हुई । उसके बाद 25 साल तक पूज्य हेमेन्द्र सूरीज मसा की आज्ञ में  मुनिधर्म का निर्वाह किया । उनके सांसारिक भ्रमा एवं गुरू रवीन्द्रसूरिश्वरजी मसा की पाट परम्परा के अनुसार उन्होने धर्म का ज्ञान अर्जित किया । उनहोने अपने गुरूओं का गुणानुबाद किया । इसके पूर्व धर्मसभा को संबोधित करते हुए अपने पवचन में पूज्य मुनि रजतचन्द्रवियजय जी मसा ने कहा कि गुरू के प्रति समर्पण भाव हो वही सच्चा शिष्य होता है । भगवान महावीर स्वामी एवं उनके प्रथम शिष्य  गौतम स्वामी का समर्पण भाव ही उनकों परम उपलब्धि प्रदाता बना । गुरूकृपा से उन्हे ऐसी लब्धि प्राप्त हुई  िकवे जिसे भी दीक्षा देते उन्हे कैवल्यज्ञान प्राप्त हो जाता और मोक्ष की प्राप्ति हो जाती । मुनि श्री ने महाराजा छत्रपति शिवाजी का उद्धरण देते हुए कहा कि उनके गुरू स्वामी रामदाय जी को कोई गंभीर बीमारी होगई । बहुत उपचार कराया किन्तु ठीक नही हुए । किसी वैद्य ने कहा कि शेरनी का दुध ही इसका उपचार है । शिवाजी महाराज ने  अपने बुद्धिबल से जंगल की ओर जाकर शेरनी के पास जाकर अपने स्नेह एवं प्रेम भाव के चलते उसका दुध ले आये । मुनि श्री ने आगे कहा कि शिवाजी को गुरू पर आस्था थी इसलिये उन्हे भय नही था । प्रेम भाव से सभी भय दूर हो जाते है । उन्होने कहा कि भगवान महावीर तारने के लिये चण्डकौशिक सर्प के पास गये और प्रतिवोधित कर उसको भी तारा औरी देवलोक को प्राप्त हुआ ।  गुरू की कृपपा दृष्टि हो तो शिष्य सुशिय हो कर सभी विद्या को प्राप्त कर सकतपा है । गुरू द्रोणाचार्य और एकलव्य का उदाहरण देते हुए उन्होन बताया कि दा्रेणाचार्य केचल क्षत्रिय पुत्रों को ही आयुध की शिक्षा एवं िवद्या प्रदान करते थे किन्तु समर्पण भाव के चलते एकलव्य ने गुरू द्रोणाचार्य की माटी की मूर्ति बना कर आयुध का पर्याप्त ज्ञान हांसील कर लिया । श्री कृष्ण और सुदामा का उदाहरण से यही शिक्षा मिलती है कि बडो के घर बिना बुलाये मत जाओं और छोटे और गरीब के यहां बिना बुलाये जाना चाहिये । मुनि श्री ने आगे कहा कि गुरू के प्रति समर्पण भाव हो तो गुरू द्रोणाचार्य जिन्होने एकलव्य से दक्षिणा में उसका दाये हाथ का अंगुठा मांग लिया और एकलव्य ने  बिना सोच वि0चार के उन्हे अंगुठा दे दिया । समर्पण भाव ही गुरू कृपा का कारण होता है । गुरू गोविन्द दोनो खडे हो तो गुरू के ही पांव लगना  शिष्य का धर्म होता है । इस अवसर पर साध्वीरत्ना कल्पलताश्री ने गुरू महिमा पर प्रेरक प्रवचन देते हुए गुरू के कीर्तन भाव से गुणगान किये । परमात्मा और गुरू के गुणों का वर्णन एक दिन मे नही गाया जासकता है । गुरू का मार्गदर्शन ही भव मुक्ति दिला सकता है । भक्त से भगवान बनाने की कला गुरू ही बता सकते है । गुरू चरणों को जो लूट जाता है वही भाग्यशाली होता है । गुरू की कृपा भगवान की कृपा के तुल्य होती है । एक बार देवों में बहस हो गई किसी ने देव ने कहा पृथ्वी बडी है , किसी ने शेष नाग, किसी ने शिवजी किसी ने कैलाश पर्वत, बताया जहां शिवजी निवास करते है, किसी ने हनुमानजी को बडा बताया जिन्होन पर्वत उठा लिया था तो किसी ने राम को बडा बताया जिनके चरणों में हनुमान लोटा करते थे अन्ततः निष्कर्ष यही निकला कि सबसे बडे तत्व गुरू ही होते है । मुनिश्री जितविजयजी मसा ने काव्य के माध्यम से गुरू गुणानुवाद किया उन्होने कहा कि उनका सानिध्य ही हमारे जीवन के लिये कल्याणकारी होता है ।कुमारी नेहा ने भी गुरू पर अपने विचार व्यक्त किये और गुरू को परमात्मा और प्रभू का स्वरूप् बताया । गुरू पूर्णिमा के अवसर पर मोहनखेडा, राजगढ, पारा आदि आदिवासी क्षेत्र के बडी संख्या में गा्रमीणजन भी नारियल एवं फुल पूज्य आचार्य देवेश को चढाने के लिये आये । इस अवसर पर बालिकाओं ने धार्मिक नृत्य प्रस्तुत कर गुरूमहिमा बताई । इस अवसर पर करीब 30 श्री संघों के बाहर से श्रावक जनों ने धर्मसभा का लाभ लिया । पूज्य आचार्य के जन्म स्थल7 सियाणा से भी अंजनशलाका के मुहर्त के लिये श्रीसंघ का आगमन हुआ ।अश्टम पट को संतोष नाकोडा द्वारा झाबुआ श्री संघ को अर्पित किया गया जिसे आचार्य श्री ने वाक्षप के साथ उसका मुहर्त भी किया । मेघनगर श्री संघ, इन्दौर, रारजगढ,  नागदा, बम्बई, बैंगलोर, से श्री आये श्रावकों को बहुमान किया गया ।गुरू पूजन परेशभाई एसपी ग्रुप मुबई द्वारा किया गया गुरूमंत्र प्राप्त करने वाले लाभार्थी सियाणा श्री संघ के 50 सदस्य रहे । पूज्य राजेन्द्र सरीजी मसा की गुरू चरण पादुका  केहनलाल राठौर अनील एवं सुनील राठौर रहे ।


नेशनल लोक अदालत सहकारिता खण्डपीठ क्र 14 के माध्यम से जि0सह0के0बैंक झाबुआ एवं संबंद्ध समितियो के 112 प्रकरणो का निराकरण
  • राषि रू. 12.12 लाख ब्याज माफ किया आवास ऋण के एक प्रकरण मे 5.09 लाख की सर्वाधिक छूट

jhabua news
झाबुआ । म.प्र. उच्च न्यायालय एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ के अध्यक्ष जिला एवं सत्र न्यायाधीष मान. श्री श्यामकांत कुलकर्णी के निर्देषानुसार,जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित झाबुआ परिसर मे दिनांक 08.07.2017 को आयोजित नेषनल लोक अदालत सहकारिता खण्डपीठ में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक झाबुआ एवं बैंक से संबंद्ध सहकारी समितियो के 112 प्रकरणो मे रू.12.12 लाख राषि की छूट दी जाकर 29.05 लाख राषि वसूल कर प्रकरणो का निराकरण किया गया । बैंक की मुख्य शाखा झाबुआ के आवास ऋण प्रकरण में कुलराषि रू. 21.23 लाख वसूल की जाकर 5.09 लाख की छूट प्रदान कर काफी पुराने कालातीत ऋण प्रकरण का निराकरण किया गया। उक्त आयोजित नेषनल लोक अदालत सहकारिता खण्डपीठ झाबुआ के पीठासीन अधिकारी एवं उपायुक्त सहकारिता श्री जी.एल.बडोले, सुलहकर्ता श्री मनोज मेहता एडव्होकेट झाबुआ, बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.एन.यादव, वरिष्ठ सह.निरीक्षक श्री कैलाष मुवेल, संबंधित शाखा प्रबंधक,पर्यवेक्षक व स.प्र. एवं कक्ष प्रमुखों आदि के संयुक्त प्रयास से कुल 112 प्रकरणो का निराकरण कराया जाकर बैंक एवं संस्थाओ के ऋणी सदस्यों को लाभांवित किया ।
कुल प्रकरणो की संख्या
कुल बकाया कालातीत ऋण(एनपीए)
सदस्यों को दी गई छूट
 सदस्यों से वसूल की गई राषि
112 
35.40 लाख
12.12 लाख
29.05  लाख

श्रम मेव जयते का साकार स्वरूप दिखाई दिया हाथीपावा की पहाडियों पर
  • पुलिस प्रषासन की पहल पर समाजसेवियों ने रौपे एक दिन मे 5000 से अधिक वृक्ष
  • आज  भी जारी रहेगा वृक्षारोपण का अभिनव कार्यक्रम

jhabua news
झाबुआ ।  पर्यावरण सरंक्षण एवं हरितिमा को बारहो महीने आच्छादिद रखने के जिला कलेक्टर आशीष सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन के सयंुक्त प्रयासों के चलते हाथीपावा की पहाडियों पर हरीतिमा से आच्छादित करने का क्रम सतत जारी है। पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन ने हाथीपावा की पहाडियों पर 8500 गड्ढो में काली मिट्टी भरवा कर वहां विभिन्न प्रजातियों के वृक्षों को न सिर्फ रौपने बल्कि उन्हे पनपाने के संकल्प को साकार करने का क्रम शुरू कर दिया है । पिछले दो माहों से हाथीपावा की टेकरी पर 8500 से अधिक गड्ढों को तैयार करने के काम की पूर्णाहूति होने के साथ ही शनिवार को  नगर के विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं, घार्मिक संस्थाओं, पुलिस विभाग, राजस्व विभाग, फारेस्ट विभाग, सकल व्यापारी संघ, गायत्री परिवार पेंशनर्स एसोसिएशन, बोहरा समाज, मुस्लिम समाज, संकल्प ग्रुप, शारदा विद्या मंदिर के स्टाफ एवं छात्र, मां त्रिपुरा कालेज आफ नर्सिंग के छात्र-छात्राये, बडी संख्या में महिलाओं आदि ने फुहारों के बीच प्रातः 9 बजे से 12 बजे तक करीब 5000 से अधिक पौधो (5 फीट से अधिक उंचाई वाले) का रोपण कार्य किया । स्वयं जिला कलेक्टर आशीष सक्सेना , पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन, जिला पंचायत सीईओ दिलीप कापसे, एएसपी रचना भदौरिया, एसडीएम अशफाक अली, तहसीलदार अंजलि गुप्ता, भाजपा नेता शैलेष दुबे, ओम प्रकाश शर्मा, नीरजसिंह राठौर,श्रीमती किरण शर्मा, श्रीमती भारती सोनी, पेंशनर्स संघ अध्यक्ष रतनसिंह राठौर, इन्जिनियर्स संघ के धर्मेन्द्र तोमर एवं श्रीमती तोमर,अजय रामावत, कमलेश पटेल, नुरूद्दीनभाई पिटोलवाला आदि ने सौपे गये सेक्टरों में पौधों का रोपण किया । इचक र जहां वृक्षास अवसर पर हाथीपावा टेकरी पर द्रोण कैमरे से रिकार्डिग भी की गई । नगर की मीडिया के प्रतिनिधियों ने भी हाथीपावा पहूंच कर जहां वृक्षारोपण कार्य में सहभागिता की वही अपने  दायित्वों का निर्वाह भी किया । पुलिस अधीक्षक श्री जैन एवं जिला पंचायत सीईओ श्री कापसे ने मीडिया की प्रसंशा की । प्ुालिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन पौधारोपण के अवसर पर हाथीपांवा टेकरीपर अलग ही अंदाज मे नजर आये । वे हर पौधा रोपने वाले के पास अपने मोबाईल फोन से लाईव रेकार्डिंग करते हुए सभी का उत्साह वर्धन करते रहे । हाथी पावा की पहाडी पर पिछले 2 माह से श्रम दान के बाद आज करीब 8500 गड़ढो में से करीब 5000 पोधो का रोपण किया गया । शेष 3000 गड्ढो में आज गुरूपूर्णिमा के अवसर पर पौधरोपण किया जाएगा । कलेक्टर आशीष सक्सेना के द्वारा गुरूपूर्णिमा पर होने वाले वृक्षारोपण के पुनित कार्य में सहभागी होने के लिये विभिन्न धर्मो के धर्मगुरूओं को भी रविवार को प्रातः 9 बजे हाथीपावा पहाडी पर वृक्षारोपण के लिये आमंत्रित किया है ताकि हाथीपावा की टेकरी पर सर्वधर्म समभाव के साथ किये गये पौधे वृक्ष बनने के बाद एक अनुकरणीय उदाहरण बन सकें ।

देवझिरी मे हर्षोल्लास के साथ षुरू होगा श्रावण सोमवार का अनुष्ठान, महामंगल आरती एवं प्रसादी का होगा वितरण

झाबुआ । श्रावण माह को भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने तथा उनकी पूजा अर्चना का  माह माना जाता है । श्रावण माह में पूरी निष्ठा के साथ यदि शिवजी की आराधना की जावे तो भगवान भोलेनाथ की कृपा दृष्टि सतत बरसती रहती है । श्रावण माह का शास्त्रों में भी उल्लेख किया गया है कि भगवान भोलेनाथ को समर्पित इस माह में यदि निच्छल भाव से शिवआराधना की जावे तो मनोवांछित फल प्राप्त होता हे । झाबुआ से 5 किलो मीटर दूर प्राकृर्तिक वातावरण में संत सिंगाजी महाराज की कर्मभूमि देवझिरी में  बिराजित भगवान संकटमोचन महादेव के मंदिर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी पांचों श्रावण सोमवार को श्रद्धा एवं भक्ति के साथ मनाया जावेगा । स्वर्गीय पण्डित हरिप्रसाद अग्निहौत्री द्वारा देविझिरी तीर्थ पर श्रावण सोमवार एवं महा शिवरात्री पर्व की परंपरा को आज भी अग्निहौत्री परिवार  बनाया हुआ है । जितेन्द्र अग्निहौत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को श्रावण माह की प्रथम तिथि के संयोग में मां नर्मदा के पवित्र कुंड के तट पर बिराजित भगवान भोलेनाथ के दरबार में सोमवार को धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन विधि विधान से किया जावेगा । विद्वान पण्डितों द्वारा प्रातः 10-30 बजे से  भगवान भोलेनाथ का रूद्राभिषेक देवझिरी की महन्त संत रूपादास के मार्गदर्शन में किया जावेगा । तथा दोपहर 12 बजे महा मंगल आरती होगी तथा प्रसादी का वितरण किया जावेगा । अग्निहौत्री परिवार ने नगर एवं जिले की धर्मप्राण जनता से पवित्र तीर्थ देवझिरी में प्रथम श्रावण सोमवार को  सपरिवार पधार कर धर्मलाभ प्राप्त करने का अनुरोध किया है ।

साई मंदिर मे चलाया स्वच्छता अभियान, आज निकलेगी साई बाबा की भव्य पालकी यात्रा

झाबुआ । त्रिदिवसीय गुरूपूर्णिमा महोत्सव साई मंदिर परिसर झाबुआ में चल रह आयोजन की कडी मे शनिवार प्रातःकाल से ही साईभक्तों का हुजुम दर्शनाथ। उमडा तथा साईभक्तों ने प्रातः बाबा की आरती में भाग लिया । श्री गुरूपूर्णिमा महोत्सव समिति की संयोजिका श्रीमती कविता शैलेन्द्र सिंगार ने बताया कि प्रातः 10 बजे से युवा साई समिति के सदस्यों ने  मंदिर परिसर मे स्वच्छता अभियान चलाया जिसमे बडी संख्या में महिलाओं एवं पुरूषो ने सहभागिता कर श्रमदान किया । श्रीमती सिंगार ने बताया कि सायंकाल 7-30 बजे महामंगल आरती के साथ ही रात्री 8 बजे से कव्वाल एवं भजन गायक  श्री अमर पजाबी की भजन संध्या को सुनने के लिये बडी संख्या में साई भक्तोक ने सहभागिता की । श्रीमती सिंगार ने बताया कि आज रविवार को प्रातःकाल से ही साई दरबार में श्री गुरूपूर्णिमोत्सव धुमधाम से मनाया जावेगा । पूरे मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया है तथा आकर्षक झांकी बनाई गइ्र है ।प्रातः 5 बजे कांकड आरती व बाबा का अभिषेक होगा, 7-30 प्रातः मंगला आरती होगी तथा प्रातः 10 बजे से  सायंकाल 4 बजे तक विशाल भंडारे का आयोजन होगा । सायंकाल 4-30 बजे साई मंदिर से  विशाल साई पालकी शोभायात्रा गाजे बाजों के साथ निकाली जावेगी  जो नगर भ्रमण कर बाबा नगरवासियों को दर्शन एवं आशीर्वाद प्रदान करेगें । श्रीमती सिंगार के अनुसार साई पालकी मन्दिर प्रांगण से राजगढ़ नाका, ब्लॉक कॉलोनी, कुरेशी कंपाउंड, भोजमार्ग, चारभुजा नाथ मंदिर ,राजवाड़ा चैक, लक्ष्मी बाई मार्ग,जैन मंदिर वाली गली,रूनवाल बाजार, थांदला गेट, मैन बाजार, आजाद चैक, कालिका माता मंदिर , नेहरू मार्ग होते हुए पुनः साई मंदिर प्रांगण पहूचेगी जहां बाबा की आरती की जावेगी । रात्री में 8-30 बजे बाबा की महा आरती एवं 9 बजे से इन्दौर के कलाकारों द्वारा रंगारग आतिशबाजी की जावेगी । आज भी भजन संध्या का आयोजन होगा । रात्री 11 बजे बाबा उकी शयन आरती के साथ त्रि दिवसीय गुरूपूर्णिमा उत्सव का समापन होगा ।

कलेक्टर एसपी सहित शासकीय स्कूलों विद्यार्थी एवं सामाजिक संगठनों के सदस्यो ने हाथीपावा पहाडी पर रोपे साढे 8 हजार से अधिक पौधे रोपे

झाबुआ । आज 9 जुुलाई को झाबुआ मुख्यालय पर हाथीपावा पहाडी पर कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना पुलिस अधीक्षक श्री महेशचन्द्र जैन के नेतृत्व में जनप्रतिनिधि सामाजिक संगठनों के सदस्य, शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थियों तथा शासकीय अधिकारी कर्मचारियों ने साढे 8 हजार से अधिक पौधे रोपे। प्रातः 8 बजे से प्रारंभ हुए पौधारोपण कार्यक्रम में 7.30 बजे से ही आमजन का हाथीपावा पहाडी पर पहुंचना प्रारंभ हो गया एवं 11 बजे तक हाथीपावा पहाडी पर आमजन के आने जाने का सिल सिला जारी रहा। स्कूली बच्चों के साथ स्कूल के स्टाफ एवं अभिभावको ने भी हाथीपावा पहाडी पर पहुच कर सहर्ष पौधोरोपण किया एवं अपने रोपे हुए पौधे के पास अपने नाम की पट्टिका भी लगाई। पौधारापेण कार्यक्रम में डीएफओ श्री खरे, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिलीप कापसे, सहित जनप्रतिनिधि, सामाजिक संगठन के सदस्य, शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थी  तथा आम जनो ने उपस्थित होकर पौधा रोपण किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुवे कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने कहा कि हाथीपावा पहाडी पर जंगल और रमणीय स्थल बनाने का सपना जिलेवासियो ने देखा है। इसको पूरा करने में सभी शासकीय अधिकारी एवं जन प्रतिनिधि सभी बाधाओं को दूर कर इसमें सहयोग करे। पौधा रोपना आसान काम है, लेकिन उसे वृक्ष बनाने में कई बाधाएॅ आती है। आप सभी उन बाधाओं को दूर कर अपने-अपने पौधो को वृक्ष बनाये एवं हाथीपावा पहाडी की पर्यटन स्थल के रूप में पहचान विकसित करे। पुलिस अधीक्षक श्री महेशचन्द जैन ने भी आम जन को पर्यावरण संक्षरण के लिये पौधा रोपण कर उन्हें बढा करने के लिये सहयोग करने की बात कहीं।

जिले की ग्राम पंचायतों में भी हुआ पौधा रोपण
जिला मुख्यालय पर हाथीपावा पहाडी पर पौधा रोपण किया गया तो ग्राम पंचायतों में भी आज एक साथ पौधा रोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ग्रामीण क्षेत्रो में पटवारी, कोटवार, आंगनवाडी कार्यकत्र्ता, सहायिका, आशा कार्यकत्र्ता, एएनएम सहित ग्राम स्तरीय शासकीय सेवको एवं आमजन ने पौधा रोपण किया।

झाबुआ पुलिस द्वारा शराब पीकर वाहन चलाने वालांे के विरुद्ध चलाया जा रहा है विशेष चैकिंग अभियान
      
झाबुआ । पुलिस मुख्यालय, भोपाल के निर्देश पर एवं पुलिस अधीक्षक जिला झाबुआ के मार्गदर्शन में शराब पीकर वाहन चलाने वाले चालकांे के विरुद्ध दिनांक 19 जून से 18 जूलाई 2017 तक विशेष चैकिंग अभियान चलाया जा रहा है जिसमें यातायात पुलिस झाबुआ एवं जिले के थानों द्वारा कार्यवाही करते हुए पुलिस द्वारा अभियान के तहत् शराब का सेवन कर वाहन चला रहे वाहन चालकों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए कुल चालान संख्या ’’43’’ न्यायालय में प्रस्तुत किए गए है, जिसमें न्यायालय द्वारा ’’72,500/-’’ रुपयें अर्थदण्ड भी किया गया है। गौरतलब है कि अभियान के प्रारंभ होने के पूर्व से ही पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा ग्रामों में जाकर खाटला बैठकों एवं जन संवाद के दौरान जनसामान्य के बीच यह समझाईश दी जा रही है, कि शराब पीकर वाहन ना चलाए ओर ना ही चलाने दे। संभवतः इस प्रयास से जिले में शराब के नशे में वाहन चलाने पर होने वाली दुर्घटनाओं में कमी आएगी। यह अभियान तब तक जारी रहेगा, जब तक की जनसामान्य में शराब का सेवन कर वाहन चलाने की प्रवृति समाप्त नहीं हो जाती।

अपहरण का अपराध पंजीबद्ध
झाबुआ । फरि. माणक पिता राणाराम सेन उम्र 40 साल निवासी हरिनगर ने बताया कि मेरी लडकी मधु उम्र 16 साल घर पर सोई थी जो बिना बताये कही चली गई शंका है कि संदेही आरोपी प्रताप पिता दिनेश मकवाना निवासी हरिनगर ने फरि. की लड़की मधु को बहला फुसला कर भगा कर ले गया। प्रकरण में थाना काकनवानी मे अपराध क्रं. 231/17, धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...