मधुबनी : जिले की प्रशासनिक हलचल (05 जुलाई)

डी एम् की सभी प्रधान सहायकों के साथ बैठक

मधुबनी, 05 जुलाई; जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री शीर्षत कपिल अशोक ने समाहरणालय सभा कक्ष में आज सभी प्रधान सहायकों के साथ बैठक की। जिला पदाधिकारी ने बैठक ने निम्न निर्देश जारी किये ! आप अपने क्रिया-कलाप को चुस्त-दुरूस्त रखें। इससे काम की गति बठ जाएगी। निर्धारित समय पर कार्यालय आ जाएं और निर्धारित समय पर जांए। ऐसी बैठक अब नियमित रूप से होती रहेगी। आज जो निदेष आपको मिलेंगे, अगली बैठक से पूर्व उसका अनुपालन निष्चित रूप से हो जाना चाहिए। मधेपुर, झंझारपुर, खजौली, लखनौर, खुटौना प्रखंड में कई महादलित सामुदायिक भवन का निर्माण अधूरा पडा हुआ है। कार्य एजेंसी संबंधित विकास मित्र है। यदि इसे पूर्ण नहीं किया जाता है, तो संबंधित विकास मित्र पर कार्रवाई होगी। सी.डब्लू.जे.सी. एवं एम.जे.सी.के. लंबित वादों की समीक्षा करते हुए जिला पदाधिकारी ने कहा कि सी.डब्लू.जे.सी. के जिन मामलों में प्रतिषपथ-पत्र दायर कर दिया गया है, उसकी षपथ-संख्या विधि प्रषाखा को प्रेषित करें। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग एवं राज्य मानवाधिकार आयोग के मामलों में सभी प्रधान सहायक सतत् सतर्क रहें। निलाम-पत्र वादों के निष्पादन के लिए पंजी 9 एवं 10 का मिलान राजस्व की अगामी बैठक में कर लें। जिले के सभी सैरात की षत-प्रतिषत बंदोवस्ती सुनिष्चित करें। किसी सेवानिवृत कर्मचारी को सेवानिवृति के बाद सेवांत लाभ के लिए संबंधित कार्यालयो में दौड़ना नहीं पडे़ इसके लिए सेवानिवृति के दिन ही उन्हें सभी सेवांत लाभ मिलना आप लोग सुनिष्वित करेें। सेवानिवृत कर्मियों के मामले में यदि लापरवाही हुई तो वह बर्दाष्त नहीं की जाएगी। सामाजिक सुरक्षा कोषांग के माध्यम से पंेषन वितरण हेतु अग्रिम राषि पंचायत सचिवों को दी गई लेकिन उसका उपयोगिता प्रमाण-पत्र अप्राप्त है। उसी तरह कबीर अंत्येष्टि योजनान्तर्गत डी.सी. बिल का समायोजन 2007-08 से ही बकाया है। आप इसे षीध्र समायोजित करायें। प्रधान सहायक, सामाजिक सुरक्षा कोषांग रहिका और लदनिया, प्रखंड के किसी पंचायत में जाकर जाॅच करें कि वहाॅ सभी लाभुकों को कबीर अंत्येष्टि योजना के अंतर्गत राषि दी गई है। राष्ट्रीय लोक अदालत 8 जुलाई 2017 को विभिन्न न्यायालयों में गठित किया जा रहा है। आप उसमें उपयुक्त मामलों को निष्पादन हेतु भेजें। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजनान्तर्गत 2002-03 से 2016-17 तक का उपयोगिता प्रमाण-पत्र भेज दें। बैठक में प्रखंड, अंचल, बाल विकास परियोजना कार्यालय सहित जिलास्तरीय कार्यालयों के प्रधान सहायक तथा स्थापना उप समाहत्र्ता और अपर समाहत्र्ता भी उपस्थित थे।


जिला पदाधिकारी ने की  सडक सुरक्षा समिति की बैठक

madhubani DM
मधुबनी, 05 जुलाई; आज समाहरणालय सभा कक्ष में जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री षीर्षत कपिल अषोक की अध्यक्षता में जिला सडक सुरक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक का मुख्य उद्वेष्य जिला में सडक दुर्घटना एवं उससे होने वाले नुकसान में कमी लाना था। बैठक में जिला पदाधिकारी ने नींद निर्देश जारी किये. सिविल सर्जन प्रसिद्व निजी चिकित्सालयों की सूची देंगे। जहाॅ सडक दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को भेजा जा सके। फोर लेन और जिला के मुख्य सडक के किनारे बने ढावे और होटलों को सही ठंग से गाडी पार्क करवाने के संदर्भ में संबंधित अनुमडंल पदाधिकारी नोटिस निर्गत करेंगे। एस.डी.ओ. और एस.डी.पी.ओ. महीने में कम से कम दो बार सघन वाहन चेकिंग अभियान चलाएगे। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा स्कुल बस के संचालक के लिए जो मार्गदषिका बनाई गई है, उसका अनुपालन कराया जाएगा। प्रत्येक माह जिला परिवहन पदाधिकारी, निजी विघालय के बसो की जाॅच करेंगे। स्कुल बस में अग्निषमन यंत्र सी.सी.टी.बी. कैमरा, जी.पी.एस., गतिनियंत्रक उपकरण, फस्र्ट एड बाॅक्स यदि रखना आवष्यक है। जिला परिवहन पदाधिकारी निजी विधालय के संचालको के साथ बैठक कर निदेष का अनुपालन सुनिष्चत करायेंगे। सभी एस.डी.ओ. तथा जिला परिवहन पदाधिकारी अपने क्षेत्रान्तर्गत पाॅच-पाॅच ब्लैक स्पाॅट की पहचान करेंगे। जहाॅ स्पिड ब्रेकर, साइनेज, रिफलेक्टर आदि लगाया जाएगा ताकि वहाॅ दुर्घटना नहीं हो। सभी पेट्रोल पम्प संचालक ऐसी व्यवस्था करे कि वगैर हेल्मेट के बाइक में पेट्रोल नहीं दिया जाएगा। सभी एस.डी.ओ. अपने क्षेत्र के एक पेट्रोल पम्प की जाॅच करेंगे कि वहाॅ सही मात्रा में सही गुणवत्ता ईधन दिया जा रहा है या नही। सभी व्यवसायिक वाहन में अग्निषमन यत्रं लगा रहना चाहिए। बस की छत पर सफर करने वालो के विरूद्व एक सप्ताह का विषेष अभियान चलाये। कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद षीध्रातिषीध्र नए बस स्टेण्ड निर्माण की प्रक्रिया को आगे बढाए। उपस्थिति-सदर तथा बेनीपटटी, फुलपरास के एस.डी.ओ., सदर एस.डी.पी.ओ., ए.एस.पी. झझांरपुर, जिला परिवहन पदाधिकारी, सिविल सर्जन, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, एम.बी.आई. कई वरिय उपसमाहत्र्ता आदि।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...