मधुबनी जिले की प्रशासनिक हलचल (01 जुलाई)

मिलरों से बकाया चावल की प्राप्ति के लिए निर्देश

madhubani samaharnalay, मधुबनी समाहरणालय, madhubani collectoret
मधुबनी, 01 जुलाई; मिलरों से बकाया चावल की प्राप्ति के लिए जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री शीर्षत कपिल अषोक ने आज समाहरणालय सभा कक्ष में जिले के मिलरों के साथ बैठक की । बैठक में जिला पदाधिकारी ने निम्न निर्देश जारी किये ! एक किलो चावल भी यदि बकाया रहेगा तो संबंधित मिलर पर कार्रवाई होगी। जिन पैक्सों का मिलर के यहाॅ चावल बकाया है, उन पैक्स अध्यक्षों की भी जिम्मेवारी है कि वे मिलर पर दबाव बनाकर ससमय चावल गोदाम में भेजवायें। सागर राइस मिल 10 जून तक सभी बकाया चावल की आपूर्ति करेगा। इस राइस मिल पर तब तक दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। संबंधित प्रखंड के बी.सी.ओ. भी इस मिल से चावल की हो रही आपूर्ति का निरीक्षण करेंगे। चावल (सी.एम.आर.) की गुणवत्ता अच्छी होनी चाहिए। गरीब जनता को अच्छा चावल मिलना चाहिए। वीरपुर पैक्स का धान खुटौना बी.सी.ओ. के भौतिक सत्यापन में गायब पाया गया। जिला पदाधिकारी ने बी.सी.ओ. को पैक्स अध्यक्ष पर सुसंगत धाराओं के अंतर्गत प्राथमिकी दर्ज करने का निदेष दिया। जिला पदाधिकारी ने सभी बी.सी.ओ. को निदेष दिया कि वे मिलरों की  समस्या का भी समाधान करें।

इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल  परीक्षा सञ्चालन के लिए बैठक 

मधुबनी, 01 जुलाई; बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल सह विषेष परीक्षा-2017 को मधुबनी जिले में कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण ठंग से संचालित करने के लिए जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री शीर्षत कपिल अषोक ने समाहरणालय सभा कक्ष में सभी केंन्द्रधीक्षक के साथ बैठक की। यह परीक्षा तीन जुलाई से 13 जुलाई तक चलेगी। जिले में 17 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है। पहली पाली की परीक्षा 9ः45 बजे पूर्वा. से तथा द्वितीय पाली की परीक्षा 1ः45 अप. से प्रांरभ होगी। जिले में कुल 7,850 परीक्षार्थी इस परीक्षा में सम्मिलित हो रहे है।   बैठक में जिला पदाधिकारी ने निम्न निर्देश जारी किये ! परीक्षा का संचालन पूर्णतः कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण ढंग से होगा। कोई भी परीक्षार्थी मोबाइल फोन, अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण लेकर परीक्षा केंन्द्र के अंदर प्रवेष नहीं कर पाएंगे। सी.सी.टी.वी. कैमरा तथा वीडियोग्राफी की व्यवस्था रहेगी। केन्द्र के बाहर परीक्षार्थियों की सघन जांच की जाएगी। ताकि कोई परीक्षार्थी चिट-पुर्जा लेकर अंदर प्रवेष नहीं कर सके। वीक्षकों से यह घोषणापत्र लिया जाएगा कि उन्होंने सभी परीक्षार्थियों की जांच कर ली है। यदि जांच के दौरान परीक्षार्थियों के पास से नकल सामग्री मिलती है तो संबंधित वीक्षक एवं केद्राधीक्षक से स्पष्टीकरण की मांग की जाएगी। वीक्षकों को भी परीक्षा हाॅल के अंदर मोबाइल लेकर नहीं जाना है। यदि किसी परीक्षार्थी का एडमिटकार्ड गुम हो गया है या भूलवष नही ला पाया है, तो उपस्थिति पत्र के फोटो से मिलान कर केंद्राधीक्षक उस परीक्षा में बैठने की औपबंधिक स्वीकृति देगे। छोटी भूल पर भी कडा दंड दिया जाएगा। उपस्थिति- ए.सी., ए.एस.पी., डी.ई.ओ., सभी एस.डी.ओ., डी.पी.ओ. मा.षिक्षा आदि।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...