मधुबनी : जमैला गाँव से हज यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को ग्रामीणों ने अश्रुपूरित विदाई दी।

madhubani-hz-pilgrim-depart
अंधराठाढी/मधुबनी ( मोo आलम अंसारी) अंधराठाढी। शनिवार को  प्रखंड के जमैला गाँव से हज यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को ग्रामीणों ने अश्रुपूरित विदाई दी। विदाई में शामिल गाँव के सभी जाति व धर्म के लोगों ने मंगलमय यात्रा की कामना की। सौभाग्यशाली हज यात्रियों में मो. ईलयास, मो. हेदायातूल्ल्ह, मरियम खातून आदि  हैं। हज यात्रियों को विदाई देने के लिये दरभंगा जिला के वरीय समाहर्ता मो. निसार अहमद भी मौके पर मौजूद थे। मुस्लिम धर्म में नेकी के बहूत सारे काम हैं जिस में हज यात्रा सब से पवित्र माना जाता है। इस्लाम के विद्वानों के अनुसार अल्लाह ने फरमाया जिस आदमी के उपर हज फर्ज हो जाए और वह हज नहीं करता है तो अल्लाह ताला उसे गुनाहगारों की सफ़ में दाखिल करता है। मौके पर मौजूद जमैला गाँव के मौलाना सुल्तान अहम काश्मी फरमाते हैं की बहुत ही खुशकिस्मत है वह शख्स जो नबी की जियारत यानी हज करने मदीना शरीफ जाते हैं। इस यात्रा में शामिल श्रद्धालु पवित्र स्थानों की जियारत एवं हज को अदा कर के अल्लाह को राजी कर के अपने वतन को वापस आते  हैं। एक हाजी का हज करने के बाद दूसरा जन्म होता है। हज़ करने के बाद  उनका दिल साफ हो जाता है और हाजियों ने मदीना पहुँचने के बाद पूरी क़ायनात के लोगों के लिए दुआ मांगते हैं ।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...