राष्ट्रपति चुनाव में अलग राय के बावजूद महागठबंधन में एकता : तारिक अनवर

mahagathbandhan-unite-tariq-anwar
कटिहार 02 जुलाई, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के राष्ट्रीय महासचिव और स्थानीय सांसद तारिक अनवर ने आज कहा कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार में सत्तारुढ़ महागठबंधन के घटक दलों में भले ही अलग-अलग राय हो फिर भी इन दलों के बीच एकता बनी हुयी है। श्री अनवर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि महागठबंधन के घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) की राष्ट्रपति चुनाव में अलग राय है लेकिन इससे यह नहीं समझा जाना चाहिए कि महागठबंधन के बीच एकता नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी भी राजनीतिक दल का राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए किसी को समर्थन देना उनका निजी विचार हो सकता है । राकांपा महासचिव ने कहा कि देश में अभी भी दूसरा मोर्चा मजबूत है, जो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की विचारधाराओं से लड़ रहा है । उन्होंने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर इशारा करते हुए कहा कि राष्ट्रपति चुनाव के बाद जो लोग समझ रहे हैं कि महागठबंधन टूट जायेगा वे किसी मुगालते में न रहें।

श्री अनवर ने कहा कि उपराष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनाव में ऐसा देखने को मिलेगा कि भाजपा की विचारधारा से अलग रहने वाले सभी दल एकजुट होकर एक नाम पर सहमति बनायेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग महागठबंधन में टूट की बात कर बिहार की जनता को गुमराह करने में लगे हैं । राकांपा महासचिव ने भारत और चीन के ताजा विवाद पर कहा कि विपक्ष देशहित में केन्द्र सरकार के निर्णय के साथ है । श्री अनवर ने महागठबंधन के बड़े घटक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की होने वाली रैली में जदयू के शामिल नहीं होने के फैसले पर पूछे गये एक सवाल के जवाब में कहा कि यह उनका निजी मामला है । 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...