‘जय श्रीराम’ बोलने को लेकर माफी मांगने पर मंत्री पर जारी फतवा वापस

minister-say-sorry-fatwa-take-back
पटना 30 जुलाई, बिहार में नवगठित राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के कोटे से अल्पसंयक कल्याण एवं गन्ना उद्योग मंत्री फिरोज अहमद उर्फ खुर्शीद के ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाने पर धार्मिक संगठन इमारत-ए-शरिया से माफी मांगने के बाद उनके खिलाफ जारी फतवा आज वापस ले लिया गया। इमारत-ए-शरिया फुलवारी शरीफ, पटना के मौलाना मुफ्ती सोहैल अहमद कासमी के समक्ष श्री खुर्शीद ने अपने गैर इस्लामी बयान पर शर्मिंदगी जाहिर करते हुए माफी मांगी। बाद में उन्होंने कलमा-ए- शहादत पढ़ा। इसके बाद मौलाना कासमी ने कहा कि कलमा पढ़ लेने के बाद उन्हें माफ कर दिया गया। उन्होंने तमाम मुसलमानों से अपील की कि श्री खुर्शीद के साथ पहले की तरह व्यवहार किया जाये। इस मौके पर इमारत-ए-शरिया की ओर से उन्हें मंत्री पद की जिम्मेवारियों को निभाने के लिए शुभकामना दी गयी । उल्लेखनीय है कि इमारत-ए-शरिया के मौलाना मुफ्ती सोहैल अहमद कासमी ने श्री खुर्शीद के खिलाफ फतवा जारी किया था जिसमें कहा गया था कि जो मुसलमान यह नारा लगाये और कहें हैं कि मैं रहीम के साथ राम की भी पूजा करता हूं तथा सभी प्रमुख स्थानों पर मत्था टेकता हूं, ऐसे व्यक्ति को इस्लाम से खारिज किया जाता है। फतवे में यह भी कहा गया है कि इस गलती से श्री खुर्शीद निकाह से खारिज हो गये हैं। आम मुसलमानों को इस तरह के मुस्लिमों से संबंध रखना जायज नहीं है। हालांकि मौलाना कासमी ने कहा कि यह उनकी निजी राय है। इसबीच मंत्री खुर्शीद ने कहा कि उन्हें फतवे से कोई डर नहीं है और फतवा जारी करने से पहले उनसे किसी ने बात नहीं की है। फतवे का वह कोई जवाब नहीं देंगे बल्कि उनका काम जवाब देगा। श्री खुर्शीद ने 28 जुलाई को विधानसभा में राजग के विश्वासमत हासिल करने के बाद विधानमंडल परिसर में जदयू के सिकटा से विधायक श्री खुर्शीद ने सार्वजनिक रूप से नारा लगाया था । 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...