भारत में सुधारों का लाभ उठायें इजरायली उद्यमी : मोदी

modi-invite-israil-for-businessतेल अवीव, 05 जुलाई, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत एवं इज़रायल के बीच भविष्य के रिश्तों का आधार विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवान्वेषण को बताते हुए इज़रायली उद्यमियों का आज आह्वान किया कि वे रक्षा, आवास निर्माण और बीमा जैसे क्षेत्रों में निवेश के अवसरों का लाभ उठायें। श्री मोदी ने यहां इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के साथ इजरायली भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए यह बात कही। इससे पहले श्री नेतान्याहू ने भी कहा कि कुछ वर्षों पहले भारत इजरायल संबंध लगभग ठंडे बस्ते में चले गये थे लेकिन कोच्चि में रहने वाली एक युवती ने उन्हें पत्र लिख कर कहा था कि वह भारत एवं इजरायल के बीच संबंधों को बहुत ऊंचाई पर देखना चाहती है और उसके बाद उन्होंने एवं श्री मोदी ने दोनों देशों के रिश्तों को नई ऊंचाई पर ले जाने का फैसला किया। श्री मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की इजरायल यात्रा 70 साल बाद होने पर खेद जताया तथा अपने भव्य स्वागत के लिये इजरायल सरकार और श्री नेतान्याहू का आभार व्यक्त किया। श्री मोदी ने इजरायली भारतीय समुदाय के लोगों की ओसीआई कार्ड की समस्या का उल्लेख करते हुए उन्हें आश्वासन दिया कि यहां रह रहे जिन भारतीय यहूदियों को यहां जरूरी सैन्य प्रशिक्षण लेने की वजह से ओसीआई कार्ड नहीं मिल पा रहा था उन्हें अब यह कार्ड मिलने में कोई दिक्कत नहीं होगी। इसके लिए उनकी सरकार ने नियमों में बदलाव करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि भारत किसी को ओसीआई कार्ड देने से मना नहीं करेगा। अगर भारतीय यहूदी समुदाय को ओसीआई कार्ड नहीं मिला तो इस कार्ड का उद्देश्य पूरा नहीं होगा। प्रधानमंत्री ने भारत इजरायल के बीच सांस्कृतिक सेतु मज़बूत करने के उद्देश्य से तेल अवीव में एक भारतीय सांस्कृतिक केन्द्र स्थापित करने तथा दिल्ली -मुंबई -तेल अवीव के बीच विमान सेवा शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि भारत आप सबके दिलों में बसा है ...आप ज़्यादा से ज़्यादा तादाद में आयें। भारत एवं इजरायल इतिहास एवं संस्कृति से जुड़े हैं। अतिथि को भगवान मानने वाले देश में आप अच्छी यादों को लेकर जायेंगे। श्री मोदी ने देश में सुधारों का उल्लेख किया और कहा कि इसी माह माल एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू किया है। इससे देश में एक देश, एक कर और एक बाज़ार का सपना साकार हो गया है। उन्होंने भारत में युवाओं, किसानों एवं श्रमिकों के लिये प्रशासनिक एवं कानूनी सुधारों तथा 2022 तक हर परिवार को मकान एवं किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य का उल्लेख किया और कहा कि इजरायल के साथ मिल कर इन लक्ष्यों को हासिल करना आसान हाेगा। प्रधानमंत्री ने आतंकवाद से मुकाबले, रक्षा, अंतरिक्ष, जलसंरक्षण और खेती के क्षेत्र में भारत-इजरायल सहयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि इजरायल ने दिखा दिया है कि वह एक देश से कहीं अधिक है और यही भावना आगे बढ़ने में मदद करती है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...