हाई-स्पीड रेल परियाजनाओं पर 18 हजार करोड़ के निवेश को नीति आयोग की मंजूरी

niti-aayog-approves-investment-of-18-thousand-crores-on-high-speed--rail-project
नयी दिल्ली 21 जुलाई, नीति आयोग ने दिल्ली-मुम्बई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर हाई-स्पीट रेल परियोजनाओं के लिए 18,000 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दे दी है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने आज यहां उद्योग संगठन एसोचैम में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘रेलटेक 2017’ का शुभारंभ करने के बाद कहा, “हम 180 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार वाली देश की सबसे उच्च गति वाली ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस पर काम कर रहे हैं। साथ ही मुम्बई-दिल्ली और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर अधिकतर 200 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार वाली ट्रेनें चलाने की कोशिश कर रहे हैं, जिस पर 18,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा और नीति आयोग ने इसे मंजूरी भी दे दी है।” उन्होंने बताया कि जब इस परियोजना का प्रस्ताव रखा गया तो लोग पहले बड़े सशंकित थे। लेकिन अब सबको इसके महत्व का पता चल गया है। यह सबसे कम लागत वाला विकल्प है। इसी कारण हम इसे मूर्तरूप देने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “आप कल्पना कर सकते हैं कि यदि ट्रेन दिल्ली से मुम्बई इस रफ्तार से चले तो सफर का कितना समय बच जायेगा।” रेल मंत्री ने कहा कि रेल मंत्रालय फ्रांस सहित कई देशों के साथ इन परियोजनाओं की गति बढ़ाने की दिशा में काम कर रहा है। कई अध्ययन किये जा रहे हैं जो अग्रिम चरण में हैं और अगले कुछ माह में उन्हें लागू कर दिया जायेगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...