नीतीश ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर लालू के समक्ष घुटने नहीं टेके : भाजपा

nitish-did-not-surrender-lalu-corruption-bjp
पटना 26 जुलाई, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद)अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के खिलाफ बेनामी संपत्ति एवं भ्रष्टाचार के लगे आरोप के मुद्दे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आज पद से इस्तीफा दिये जाने का स्वागत किया और कहा कि श्री कुमार ने राजद अध्यक्ष से न तो समझौता किया और न ही उनके सामने घुटने टेके। भाजपा विधान मंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यहां पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय की उपस्थति में अपने सरकारी आवास पर पार्टी विधानमंडल दल की हुयी बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि श्री कुमार ने कभी भ्रष्टाचार से समझौता नहीं किया है। इसके कई उदाहरण भी पूर्व में भी देखने को मिल चुके हैं। श्री मोदी ने कहा कि श्री कुमार ने ठीक ही कहा है कि कफन में कोई जेब नहीं होती। चारा घोटाला से भी राजद अध्यक्ष ने सबक नहीं लिया और बेनामी संपत्ति बनाने में लगे रहें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार एवं बेनामी संपत्ति के मुद्दे पर श्री यादव और उनके परिवार पर लगे आरोपों के बाद समझौता नहीं किया और इस्तीफा देकर सही कदम उठाया। 


भाजपा नेता ने कहा कि श्री कुमार ने इस मुद्दे पर इस्तीफा देकर भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को बरकरार रखा है । उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद पिछले 20 दिनों से उनकी पार्टी इस्तीफे की मांग कर रही थी लेकिन राजद ने इस पर जवाब न देकर चुप्पी साध रखी थी। उन्होंने कहा कि श्री कुमार की पार्टी जदयू भी राजद से इस मुद्दे पर तथ्यपरक बिंदुवार जवाब की उम्मीद में था लेकिन इस पर राजद की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया। श्री मोदी ने कहा कि उनकी पार्टी के विधानमंडल दल की हुई बैठक में प्रदेश में ताजा राजनीतिक हालात को देखते हुए तीन सदस्यीय कमेटी बनायी गयी है। इस कमेटी में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता प्रेम कुमार और वह स्वयं शामिल हैं । उन्होंने कहा कि यह कमेटी बिहार के ताजा राजनीतिक हालात पर केन्द्रीय नेतृत्व को अवगत कराती रहेगी तथा संपर्क में बनी रहेगी। भाजपा नेता ने कहा कि बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि बिहार में मध्यावधि चुनाव न हो । पार्टी मध्यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं है। उन्होंने कहा कि जो भी निर्णय होगा वह तीन सदस्यीय कमेटी ही लेगी ।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...