नीतीश की हालत अपहृत विमान के पायलट जैसी : सुशील

nitish-trapped-cm-sushil-modi
पटना 25 जुलाई, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के इस्तीफे को लेकर सत्तारूढ़ महागठबंधन के घटक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल यूनाईटेड (जदयू) में जारी रस्साकशी के बीच आज राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान पर पलटवार करते हुये कहा कि इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री की हालत अपहृत विमान के पायलट जैसी हो गई है। श्री मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर कहा, “राजद ने श्री कुमार को महागठबंधन की ड्राइविंग सीट सौंपने पर पहले आनाकानी की और अब वह चाहता है कि गाड़ी भ्रष्टाचार के गहरे गड्ढों वाली सड़क पर उतार दी जाए।” उन्होंने कहा कि चालक (मुख्यमंत्री) की हालत अपहृत विमान के पायलट जैसी हो गई है। राजद उपाध्यक्ष श्री सिंह ने कल कहा था कि महागठबंधन सरकार की स्टियरिंग श्री कुमार को सौंपी गई है इसलिए सरकार में सबकुछ ठीक चलाने की जिम्मेवारी मुख्यमंत्री की है। उल्लेखनीय है कि उप मुख्यमंत्री श्री यादव के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो की प्राथमिकी के बाद उनके इस्तीफे को लेकर महागठबंधन में मचे घमासान के बीच जहां जदयू ने श्री यादव को जनता के बीच जाकर लगे आरोपों पर तथ्यपरक जवाब देने की मांग की थी वहीं राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एवं उनकी पार्टी ने ब्यूरो की प्रथमिकी को वाजिब कारण नहीं मानते हुये दो टूक शब्दों में कह दिया था कि सब कुछ जनता के बीच है इसलिए कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है । उन्होंने कहा था कि इस मामले में कानूनी लड़ाई लड़ी जायेगी और श्री तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे। 


श्री मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “26 साल की उम्र में 26 बेनामी सम्पत्ति अपने नाम कराने वाले उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के समर्थन में राजद का नया कुतर्क यह है कि सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार जारी है, इसलिए इस मुद्दे पर जीरो टालरेंस की बात करना दिखावा है।” उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव बतायें कि यदि समाज में गरीबी, शोषण और सामाजिक अन्याय जारी है तो क्या उसके खिलाफ संघर्ष नहीं होना चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि जिन लोगों ने बेनामी सम्पत्ति जमा कर परिवार की सात पीढ़ियों का इंतजाम कर लिया वे विकास में तेजी लाकर रोजगार सृजन की नीतियों का विरोध कर रहे हैं। श्री मोदी ने आर्थिक सुधार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों का उल्लेख करते हुये कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की ताजा रिपोर्ट के अनुसार भारत में नोटबंदी, आर्थिक सुधार और ढांचागत निवेश बढ़ने से वर्ष 2018 में देश की आर्थिक विकास दर 7.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जिससे युवाओं को रोजगार के काफी अवसर मिलेंगे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...