कर्मचारियों को वीआरएस देने की कोई योजना नहीं : एयर इंडिया

no-vrs-in-airindia
नयी दिल्ली 18 जुलाई, सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया ने आज मीडिया में आयी इस रिपोर्ट का खंडन किया है कि कंपनी अपने 15,000 कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) देने की योजना बना रही है। कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अश्विनी लोहानी ने यहाँ कहा “यह खबर आधारहीन है। वीआरएस का ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। ” संवाद समिति रायटर ने प्रधानमंत्री कार्यालय के एक सूत्र के हवाले से खबर दी थी कि नागर विमानन मंत्रालय और एयर इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों से कहा गया है कि एयरलाइन के 40 हजार कर्मचारियों में से 15 हजार को वीआरएस देेने के लिए वे एक रिपोर्ट तैयार करें। श्री लोहानी ने कहा कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। एयर इंडिया ने बाद में एक बयान जारी कर कहा “यह खबर पूरी तरह से आधारहीन और गलत है तथा इसमें तथ्यात्मक त्रुटियाँ भी हैं। एयर इंडिया तथा इसकी पाँचों इकाइयों को मिलाकर कर्मचारियों की संख्या 20 हजार है। इनमें एयर इंडिया के 11 हजार 500 कर्मचारी हैं। एयर इंडिया प्रबंधन ने अपने कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की पेशकश नहीं की है। ” खबर में यह भी कहा गया है कि एयर इंडिया ने अपनी विस्तार योजनाओं को अभी ठंडे बस्ते में डाल दिया है और आठ बोइंग 787 विमानों की खरीद का प्रस्ताव रद्द कर दिया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...