गुजरात में कांग्रेस को एक और झटका, तीन विधायक भाजपा में शामिल

one-more-blow-to-congress-three-mlas-joins-bjp
गांधीनगर, 27 जुलाई,  गुजरात में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव से पहले एक महत्वपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम में कांग्रेस के मुख्य सचेतक बलवंत सिंह राजपूत समेत तीन विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और कुछ ही देर बाद भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गये। राज्य में पार्टी के कद्दावर नेता शंकर सिंह वाघेला के हाल में पार्टी छोड़ने के बाद श्री राजपूत, वीरमगाम की महिला विधायक तेजश्रीबेन पटेल और वीजापुर के विधायक प्रहलाद पटेल का इस्तीफा कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है। ये तीनों नेता आज इस्तीफे की घोषणा करने के बाद शाम को भाजपा के प्रदेश मुख्यालय श्रीकमलम पहुंचे जहां पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी ने केसरिया अंगवस्त्र पहनाकर उन्हें भाजपा में शामिल करने की औपचारिक घोषणा की। श्री वाघाणी ने इस मौके पर कहा कि कांग्रेस की रीति और नीति ऐसी है कि कोई भी अच्छा व्यक्ति इसमें नहीं रह सकता। उन्होंने कहा कि तीनों वरिष्ठ और अनुभवी नेताओं का वह स्वागत करते हैं। तीनों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में चल रही विकास यात्रा में सहभागी बनेंगे। इससे पहले इन तीनों नेताओं ने यहां विधानसभा अध्यक्ष रमनलाल वोरा को अपना त्यागपत्र सौंपने के बाद पत्रकारों से कहा कि वे पार्टी के रवैये और अंतर्कलह से क्षुब्ध थे। राज्य में पाटीदार समुदाय का गढ कहे जाने वाले वीजापुर सीट के विधायक श्री पी आई पटेल ने कांग्रेस पर अपने समुदाय की उपेक्षा का आरोप लगाया। सिद्धपुर के विधायक श्री राजपूत ने कहा कि वह लगातार 35 साल से कांग्रेस की सेवा करते रहे हैं लेकिन श्री वाघेला का रिश्तेदार होने के कारण उन्हें अब शंका की नजर से देखा जा रहा था। वीरमगाम की विधायक श्रीमती पटेल ने कहा कि पार्टी का प्रदेश नेतृत्व ही उनके खिलाफ था और पार्टी में ऊपर से नीचे तक जबरदस्त अंतर्कलह है। इन विधायकों के इस्तीफे के बाद कुछ और कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे की अटकलें लगायी जा रही हैं। एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि उनका अनुमान है कि आठ विधायक पार्टी छोड़ सकते हैं। आज के घटनाक्रम को पिछले करीब एक सप्ताह में मुख्य विपक्षी दल के लिए दूसरा बडा झटका माना जा रहा है। इससे पहले 21 जुलाई को कद्दावर नेता शंकरसिंह वाघेला ने पार्टी छोड दी थी। समझा जा रहा है कि श्री राजपूत आठ अगस्त को गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों पर होने वाले चुनाव में भाजपा के तीसरे उम्मीदवार बनाये जा सकते हैं ताकि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल को लगातार पांचवी बार जीतने से रोका जा सके। दो अन्य सीटों पर भाजपा की आेर से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को उम्मीदवार घोषित किया जा चुका है। नामांकन पत्र भरने की कल अंतिम तिथि है। कुल 182 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा के पास एक बागी समेत 122 विधायक हैं, कांग्रेस के 54, राकांपा के दो और जदयू का एक विधायक है। श्री पटेल को जीत के लिए कम से कम 47 विधायकों के समर्थन की जरूरत होगी।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...