दादरा एवं नागर हवेली को विकास के आदर्श के रूप में प्रस्तुत करें : राजनाथ

present-dadra-and-nagar-haveli-as-ideal-for-development-rajnath
नयी दिल्ली 21 जुलाई, केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दादरा और नागर हवेली प्रशासन से इस केन्द्रशासित प्रदेश के विकास कार्यों में तेजी लाने का आग्रह किया है ताकि उसे देश के सामने विकास के आदर्श के रूप में प्रस्तुत किया जा सके। श्री सिंह ने आज यहां दादरा और नगर हवेली के लिए गठित गृह मंत्रालय की सलाहकार समिति की बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में दादरा और नगर हवेली का प्रतिनिधित्‍व प्रशासक प्रफुल्‍लभाई खोड़ाभाई पटेल, सांसद नाटूभाई पटेल और अन्‍य सदस्‍यों ने किया। केंद्रीय गृह सचिव श्री राजीव महर्षि, विशेष कार्य अधिकारी (गृह) राजीव गाबा, एमओआरटीएच के सचिव युद्धवीर सिंह मलिक, सलाहकार श्री हरि कृष्ण पालीवाल और गृह मंत्रालय के अधिकारी तथा आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के प्रतिनिधि भी मौजूद थे। बैठक में कार्रवाई रिपोर्ट और केन्‍द्र शासित प्रदेश के विभिन्‍न विषयों से संबंधित 40 बिन्‍दुओं की प्रगति का जायजा लिया गया और मौजूदा 15 परियोजनाओं पर विस्‍तार से चर्चा हुई, जिनमें दादरा और नगर हवेली में प्रस्‍तावित मेडिकल कॉलेज की स्‍थापना, इंजीनियरिंग और मेडिकल कोटा सीटों के आवंटन में इजाफा, पंचायतों की अधिकारिता और अन्‍य प्रशासनिक मुद्दे शामिल थे। सिल्‍वासा तक 11.3 किलोमीटर रिंग रोड के निर्माण, जलमलशोधन संयंत्र, सम्‍पर्क में सुधार तथा सैली में खेल परिसर के निर्माण जैसी सरंचना परियोजनाओं की भी समीक्षा की गई। समिति ने सदस्‍यों के सुझावों के मद्देनजर 25 अन्‍य प्रस्‍तावों पर भी गौर किया। इनमें बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना, स्‍वच्‍छ भारत अभियान के तहत चलने वाले कार्यक्रमों और उपलब्धियों, पर्यटन क्षमता में सुधार के उपाय, शैक्षिक स्‍तर खासतौर से जनजातीय समुदाय को ध्‍यान में रखते हुए उसका उन्‍नयन, दादरा और नगर हवेली में विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना, वृद्धजनों, विधवाओं और दिव्‍यांग व्‍यक्तियों को पेंशन का भुगतान आदि शामिल थे। आवास और कौशल विकास के संबंध में प्रस्‍तावों पर भी चर्चा की गई। इसके तहत जनजातीय समुदायों के बीच सम्‍पर्क कौशल बढ़ाने पर जोर दिया गया। सदस्‍यों ने क्षेत्र में कुष्‍ठ रोगों के मामलों के संबंध में केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय से सहायता का आग्रह किया। श्री सिंह ने परियोजना विकास के लिए प्रशासक और उनके दल द्वारा किये जाने वाले प्रयासों की प्रशंसा की। उन्‍होंने आश्‍वस्‍त किया कि मंत्रालय सदस्‍यों द्वारा दिये गये सुझावों और प्रस्‍तावों पर गौर करेगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...