सीबीआई छापेमारी के बाद राजद की बैठक पर सबकी नजर

rjd-meeting-after-cbi-raid
पटना 09 जुलाई, रेलवे के दो होटलों के टेंडर में हुई हेराफेरी के मामले में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष एवं पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव के पटना समेत 12 ठिकानों पर दो दिन पूर्व की गयी छापेमारी के बाद बिहार में बढ़े राजनीतिक तापमान के बीच सत्तारूढ़ महागठबंधन के बड़े घटक राजद ने कल विधानमंडल दल की बैठक बुलाई है जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा किये जाने की संभावना है।राजद सूत्रों ने आज यहां बताया कि पार्टी विधानमंडल दल की बैठक कल श्री यादव के 10 सर्कुलर रोड स्थित सरकारी आवास पर होगी। बैठक में पार्टी के सभी विधायक और विधान पार्षद के साथ ही वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहेंगे । इस दौरान आगे की रणनीति पर चर्चा तो होगी साथ ही 27 अगस्त को पटना में होने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हटाओ देश बचाव रैली पर भी विचार विमर्श किया जायेगा। राजद अध्यक्ष श्री यादव से आज भी पार्टी के विधायकों के मिलने का सिलसिला बना रहा। पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुनाथ झा ने राजद अध्यक्ष से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। हालांकि आज राजद अध्यक्ष के आवास के बाहर आम दिनों की अपेक्षा कम कार्यकर्ता देखे गये। झमाझम बारिश के बावजूद राजद अध्यक्ष के आवास के बाहर मीडियाकर्मी समाचार संकलन के लिए जमे रहे। 


वहीं, महागठबंधन के प्रमुख घटक जनता दल यूनाईटेड (जदयू) ने 11 जुलाई को पार्टी के विधायकों, विधान पार्षदों, जिलाध्यक्षों और पार्टी के विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ ही प्रदेश प्रवक्ताओं की बैठक बुलाई है। यह बैठक पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह की अध्यक्षता में होगी। जदयू के अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले पर अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है और मीडिया से दूरी बनाये हुए हैं। इसी तरह जदयू के प्रवक्ता भी इस मामले पर कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। हालांकि मुख्यमंत्री श्री कुमार राजगीर में स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद आज पटना आ गये हैं और अब सभी की नजर उन पर टिकी है। वहीं, दूसरी ओर भाजपा विधानमंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से बेनामी संपत्ति के मामले में आरोपी बनाये जाने के बाद राजद अध्यक्ष श्री यादव के पुत्र एवं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफा देने और नहीं देने पर मुख्यमंत्री श्री कुमार से उन्हें बर्खास्त किये जाने की मांग पर अड़े हुए हैं। प्रदेश भाजपा भी ताजा राजनीतिक हालात पर नजर बनाये हुए है। वहीं, राजद के नेताओं ने स्पष्ट रूप से कहा है कि श्री यादव इस्तीफा नहीं देंगे। भाजपा पहले केन्द्रीय मंत्री उमा भारती से इस्तीफा ले। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...