सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 28 जुलाई

पदीय दायित्वों का निर्वहन न करने तथा  लापरवाही पाये जाने पर दो हुए निलंबित
  • नसरूल्लागंज के पीसीओ तथा सीहोर कोडियाछीतू के सचिव पर हुई कार्यवाही

sehore news
जनपद पंचायत नसरूल्लागंज के पंचायत समन्वयक अधिकारी श्री शंकरलाल धनवारे द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के कार्यों मंे रूचि न लेने, आबंटित ग्राम पंचायतों का भ्रमण न करनें, ग्राम पंचायत मंे चल रहे विकास कार्यों मंे रूचि न लेने पर पदीय दायित्वों के प्रति लापरवाही मानते हुऐ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डाॅ0 केदारसिंह ने निलंबन आदेश जारी किया है। इसी प्रकार जनपद पंचायत सीहोर की ग्राम पंचायत कोडिया छीतू के सचिव श्री पूनमचंद्र तिवारी द्वारा बिना निर्माण कार्य कराये ग्राम पंचायत सरपंच के फर्जी हस्ताक्षर कर सात लाख रूपये आहरित करने पर निलंबन की कार्यवाही की गई है। ग्राम पंचायत सचिव द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के साथ निर्माण कार्यों मंे भी रूचि न लेने के साथ लापरवाही पायी गई। मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ0 केदारसिंह ने आदेश जारी करते हुऐ बताया कि ग्राम पंचायत कोडियाछीतू के सचिव श्री पूनमचंद्र तिवारी तथा नसरूल्लागंज के पंचायत समन्वयक अधिकारी श्री शंकरलाल धनवारे को म0प्र0 सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9-1 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि मंे श्री धनवारे का मुख्यालय जनपद पंचायत इछावर तथा श्री तिवारी का मुख्यालय जिला पंचायत सीहोर नियत किया गया है।


हेल्थ सुपरवाईजर्स करेंगे ई-निरीक्षण

sehore news
जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष एवं कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टेªट सभाकक्ष में गत दिवस आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने निर्देषित किया कि जिले में पदस्थ समस्त स्वास्थ्य सुपरवाईजर्स सप्ताह में दो दिन मैदानी क्षेत्रों में जाकर समस्त स्वास्थ्य योजनाओं की ई-माॅनीटंिरग एवं ई-रिपोर्टिंग करेंगे और निरीक्षण की सीधी रिपोर्ट कलेक्टर को उसी दिन शाम तक देंगे। कलेक्टर ने निर्देषित किया कि सभी चिकित्सक समय पर अपने-अपने कार्य स्थल पर उपस्थित होकर कर्तव्यों का निष्ठापूर्वक निर्वहन करें षिकायत पाए जाने पर संबंधित चिकित्सा अधिकारियों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जाएगी बल्कि उनके विरूद्ध मेडिकल काउंसिल इंडिया को भी लिखा जाएगा। उन्होंने निरंतर अवकाष पर चल रहे नसरूल्लागंज बीएमओ को तत्काल कार्य पर लौटने हेतु निर्देषित किया अन्यथा उनके विरूद्ध विभागीय जांच बिठाए  जाने के निर्देष दिए। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.आर.के.गुप्ता,जिला परिवार कल्याण अधिकारी डाॅ.डी.आर.अहिरवार,जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.टीआर उईके,जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.एम.चंदेल, जिला आयुष अधिकारी डाॅ.आर.राजपूत, सहायक संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग, डीपीएम श्री धीरेन्द्र आर्य, जिला लेखा प्रबंधक श्री रमाकांत द्विवेदी, जिला मूल्यांकन अधिकारी श्री निलेष गर्ग, डिप्टी अधिकारी सुश्री उषा अवस्थी, जिला मीडिया सलाहकार श्री शैलेष कुमार,एपीडियोमीलाॅजिस्ट सुश्री रूचिरा उइके, जिला टीबी समन्वयक श्री कीर्ति सिंह सहित समस्त बीएमओ, डाॅ.बीबी शर्मा, डाॅ.प्रवीर गुप्ता,डाॅ.वीवी देषमुख, डाॅ. मनीष सारस्वत, समस्त सीडीपीओ, समस्त हेल्थ सपुरवाईजर्स, बीइई एवं अन्य विभागीय अधिकारी बैठक में उपस्थित थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.आर.के.गुप्ता ने बताया कि कुपोषित बच्चों की सेहत ठीक करने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के अमले को साथ मिलकर तथा समन्वय बनाकर काम करने के निर्देष दिए। कलेक्टर ने कहा कि समन्वित योजनाओं का लक्ष्य प्राप्त नहीं होनेे पर दोनों ही विभागों के सुरवाईजर्स तथा सीडीपीओ सीधे तौर पर जिम्मेदार होंगे। उन्होंने समीक्षा के दौरान कहा चिकित्सकों तथा समस्त जिम्मेदार अधिकारियों को अपने कार्य दायित्व का जिम्मेदारी पूर्वक निर्वहन करना होगा आम हितग्राही का अहित किसी कर्मचारी के कारण होता है तो ऐसेे कर्मचारियों की वेतनवृद्धि रोकी जाएगी साथ ही ऐसे लापरवाह कर्मचारियों के विरूद्ध नियमानुसार अपराधिक प्रकरण भी दर्ज किए जाएंगे। स्वास्थ्य समिति की बैठक में समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों की समीक्षा भी की गई। वर्ष 2017-2018 का पीआईपी भी अनुमोदित किया गया। रोगी कल्याण समिति की समीक्षा के दौरान उन्होंने जिला चिकित्सालय में सुलभ शौचालय बनाने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति प्रदान की उन्होंने कहा कि इस पर तत्काल कार्य शुरू किया जाना चाहिए। जिला चिकित्सालय के वाहन स्टेण्ड,ओपीडी विंडो सहित महत्वपूर्ण स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के भी निर्देष दिए। उन्होंने कार्य में लापरवाही बरतने वाले नियमित एवं संविदा कर्मचारियांे की सूची तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देष सीएमएचओ को दिए जिससे उनके विरूद्ध कडी कार्यवाही की जा सकें। एसएनसीयू की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने षिषु मृत्यु दर कम करने पर जोर दिया । टीबी कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान खखार की जांच बढ़ाए जाने के निर्देष समस्त बीएमओ को दिए गए वहीं राष्ट्रीय परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान निर्देषित किया कि स्वास्थ्य विभाग सहित महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी संयुक्त प्रयास कर नसबंदी का दिया गया लक्ष्य पूरा करने में समन्वय बनाकर कार्य करें। कलेक्टर ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पदस्थ निष्क्रिय एवं अक्रियाषील आषाओं को तत्काल हटाने के निर्देष दिए वहीं निर्देषित किया कि ब्लॅाकों में पदस्थ बीईई भी सुपरवाईजर्स के ई-निरीक्षण की समीक्षा कर रिपोर्ट मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम से कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे। सफाई ठेकेदार द्वारा सफाई कर्मियों को कम वेतन दिए जाने का मुद्दा भी बैठक में उठा जिस पर कलेक्टर ने संबंधित ठेकेदार के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने तथा ठेके पर कार्यरत सफाई कर्मियों को कलेक्टर दर पर वेतन दिए जाने के निर्देष दिए। बैठक में रोगी कल्याण समिति,पीसीपी एंड डीटी,रेडक्राॅस सोसायटी के कार्यो की भी समीक्षा की गई तथा जरूरी दिषा निर्देष मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए गए। 

स्थायी समिति स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास की बैठक आज

सभापति स्थायी समिति स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास श्रीमती बबीता सिंह की अध्यक्षता में 29 जुलाई 2017 को दोपहर 12 बजे से कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कक्ष में विभागीय समीक्षा बैठक आयोजित की गई है। बैठक में समिति के सभी सदस्य सहित स्वास्थ्य कार्यक्रमों के समस्त नोडल अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, जिला आयुष अधिकारी सहित समस्त बीएमओ, जिला कार्यक्रम प्रबध्ंाक एनएचएम, जिला लेखा प्रबंधक एनएचएम, जिला मूल्यांकन अधिकारी एनएचएम, जिला मीडिया सलाहकार, जिला आरबीएस केे समन्वयक, जिला स्तर के समस्त समन्वयकों को उपस्थित रहने के निर्देष सीएमएचओ ने द्वारा दिए गए है। बैठक में स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, आयुष विभाग की वर्ष 2017-2018 के प्रथम क्वाटर माह अप्रेैल से जून 2017 तक के लक्ष्य एवं उपलब्धि की समीक्षा की जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा समिति के सचिव डाॅ.आर.के.गुप्ता ने बताया कि दिनांक 29 जुलाई 2017 को आयोजित जिला पंचायत स्वास्थ्य स्थायी समिति की बैठक में दस्तक अभियान, राष्ट्रीय परिवार कल्याण कार्यक्रम, राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम, मलेरिया एवं कुष्ठ नियंत्रण कार्यक्रम, टीबी एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम, अंधत्व निवारण कार्यक्रम, जनसंख्या स्थिरता माह, आईडीएसपी, महिला एवं बाल विकास द्वारा संचालित समस्त कार्यक्रम, आयुष विभाग द्वारा संचालित समस्त कार्यक्रम सहित समस्त स्वास्थ्य विभाग के समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों की विस्तार से समीक्षा की जाएगी। समिति की सभापति श्रीमती बबीता सिंह की अध्यक्षता में आयोजित उक्त बैठक में समिति के सदस्य तथा जिला पंचायत के सदस्य श्री हरीसिंह देवड़ा, श्री अंबाराम मालवीय,श्री राजेष गौर, श्रीमती नमीता सिंह, श्रीमती गायत्री बाई उपस्थित रहेगी। सीएमएचओ द्वारा बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के निर्देष सभी नोडल अधिकारियों एवं समस्त बीएमओ को दे दिए गए है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...