गठबंधन बचाने की आड़ में तेजस्वी के भ्रष्टाचार का समर्थन कर रहे शरद : सुशील मोदी

sharad-supporting-tejaswi-corruption-sushil-modi
पटना 24 जुलाई, बिहार भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने सत्तारूढ़ महागठबंधन के मुख्य घटक जनता दल यूनाईटेड(जदयू)के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव पर गठबंधन बचाने की आड़ में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार का समर्थन करने का आरोप लगाते हुये आज कहा कि यदि उनके कहने पर जदयू भी उपमुख्यमंत्री को सहयोग करता है तो राज्य की जनता उसे कभी माफ नहीं करेगी। श्री मोदी ने यहां कहा कि हवाला कांड में आरोप लगने मात्र पर लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने वाले श्री शरद यादव आज गठबंधन बचाने की आड़ में उप मुख्यमंत्री श्री यादव के भ्रष्टाचार का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को जनादेश भ्रष्टाचार से समझौता कर किसी तरह पांच साल सरकार चालने के लिए नहीं बल्कि प्रदेश में सुशासन स्थापित करने के साथ ही भ्रष्टाचार और अपराध पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए मिला था। भाजपा नेता ने कहा कि वैसे, सजायफ्ता राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के साथ रह कर महागठबंधन सरकार में जनादेश का सम्मान हो भी नहीं सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के श्री यादव के राजधानी पटना स्थित आवास सहित 12 ठिकानों पर छापेमारी करने और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से राजद के नेता तो अब हताश और निराशा में गाली-गलौज पर उतर आए हैं। 


श्री मोदी ने कहा कि केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल (वर्ष 2009-14) के दौरान घोटाले दर घोटाले होते रहे और उसे रोकने की बजाय कांग्रेस उस पर पर्दा डालती रही, जिसका खामियाजा उसे वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ा। उन्होंने कहा कि यदि जदयू भी श्री शरद यादव के कहने पर श्री तेजस्वी यादव की बेनामी संपत्ति मामले और भ्रष्टाचार से समझौता कर लेता है तो उसे भी बिहार की जनता कभी माफ नहीं करेगी। जदयू को अपने रुख पर कायम रहना चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि दरअसल राजद अध्यक्ष की पूरी राजनीति ही उनके परिवार तक सीमित रही है और उसी का नतीजा है कि चारा घोटाले में जेल जाते समय उन्होंने अपनी पत्नी राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री और अब पहली बार विधायक बनने वाले अपने पुत्रों को स्वास्थ्य मंत्री (तेजप्रताप यादव) और उपमुख्यमंत्री (तेजस्वी प्रसाद यादव) बना दिया। उन्होंने कहा कि राजनीति में नीति-नौतिकता, शुचिता एवं सिद्धांत का राजद अध्यक्ष श्री यादव के लिए कोई अर्थ नहीं है। श्री मोदी ने कहा कि बिहार में साढ़े सात साल तक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के कार्यकाल में न तो किसी मंत्री और न ही सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप लगा था। इस दौरान विशेष न्यायालय अधिनियम बना कर भ्रष्टाचारियों की संपत्ति जब्त की गई और बड़ी संख्या में रिश्वतखोरों को पकड़ा गया। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या आज राजद के साथ सरकार चलाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए यह सब संभव है। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...