दुमका : जलार्पण काउंटर के माध्यम से भी हो रहा जलार्पण

shrawan-mela-dumka-basukinath
वासुकिनाथ धाम से अमरेन्द्र सुमन, श्रावणी मेला के दौरान प्रतिदिन श्रद्धालुओं की संख्या में और भी इजाफा ही हो रहा है। वासुकिनाथ धाम पहुँचने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती ही जा रही है। लबी कष्टप्रद यात्रा के बावजूद श्रद्धालु बाबाधाम में जलार्पण के बाद सीधे  वासुकिनाथ धाम की ओर रुख ले रहे हैं। आस्था के कमंडल में पवित्र गंगाजल को सहेजे बोलबम के नारे के साथ श्रद्धालु फौजदारी बाबा के दरबार में अपनी हाजरी लगा रहे हैं। जलार्पण में श्रद्धालुओं को किसी प्रकार का कष्ट न हो इसके लिये जिला प्रशासन की ओर से हर संभव सहायता लगातार जारी है। जगह-जगह पर साइनेज लगाकर श्रद्धालुओं को दिशा व स्थान की जानकारी दी जा रही है। वैसे श्रद्धालु जो वासुकिनाथ धाम पहँुच तो जाते है लेकिन कतार में लगकर बाबा पर जलार्पण नहीं कर सकते उनके लिये दो अलग-अलग जगहों पर जलार्पण काउंटर की व्यवस्था की गयी है। ऐसे श्रद्धालु जलार्पण काउंटर के माध्यम से बाबा पर जलार्पण कर धन्य हो रहे हैं। विश्वप्रसिद्ध श्रावणी माह की तीसरी सोमवारी को डीसी दुमका मुकेश कुमार ने श्रद्धालुओं के लिये बनाये गये जलार्पण काउंटर का निरीक्षण किया। प्रतिनियुक्त अधिकारी को निदेश दिया कि श्रद्धालु दौड़ते हुए जलार्पण काउंटर पर न चढंे। धक्का-मुक्की न हो इसका भी पूरा ध्यान रखा जाय। श्रद्धालुओं की भारी तादाद को देखते हुए जलार्पण काउंटर में सुरक्षा के विशेष इंतजाम किये गये हैं। तीसरी सोमवारी को जलार्पण काउंटर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ सुबह से देखी जा रही थी। जलार्पण काउंटर के खुलने के इंतजार में खड़े श्रद्धालु अपनी-अपनी बारी का इन्तजार करते हुए दिखाई दिये। जलार्पण शुरु होते ही जलार्पण काउंटर भी खोल दिया गया। बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं ने जलार्पण काउंटर के माध्यम से बाबा पर जलार्पण किया। पूरे वासुकिनाथ धाम परिसर में आस्था का विहंगम दृश्य व्याप्त है। बम बम भोले के नारों से पूरा वासुकिनाथ धाम परिसर गुंजायमान है। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...