विवादित श्रीरामजन्म भूूमि के साथ अयोध्या सावन झूला मेले में सुरक्षा के कडे प्रबन्ध

shriramjamam-bhoomi-ayodhya-savan-jhula-mela-security-arrangement
अयोध्या, 09 जुलाई, विवादित श्रीरामजन्म भूूमि पर कडी चौकसी के साथ ही अयोध्या के प्रसिद्ध सावन झूला मेले में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये हैं। अपर जिलाधिकारी नगर/मेलाधिकारी विन्ध्यवासिनी राय ने आज यहाँ “यूनीवार्ता” को बताया कि कल से शुरू हो रहे सावन झूला मेला की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। इस सिलसिले में जिलाधिकारी संतोष कुमार राय की अध्यक्षता में अधिकारियों के साथ कई बैठकें आयोजित की गयी हैं। उन्होंने बताया कि अयोध्या में खराब सड़कों को ठीक करवाया जा रहा है, साथ ही मेला क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने के लिये व्यापक व्यवस्था की जा रही है। मेलाधिकारी ने बताया कि मेला क्षेत्र को बीस सेक्टरों में विभाजित करके सेक्टर प्रभारी नियुक्त किये जायेंगे। अयोध्या के विभिन्न घाटों तथा यातायात नियंत्रण के लिये छह जोन बनाये जायेंगे। प्रत्येक क्षेत्र में एक जोनल मजिस्ट्रेट की नियुक्ति की जायेगी। जिससे आने वाले तीर्थयात्रियों के सही दिशा में चलने व निगरानी रखने के लिये कार्य करेंगे। उन्होंने बताया कि सरयू तट के किनारे कच्चा घाट, पक्का घाट अौर बंधा तिराहा पर वॉच टॉवर तथा सीसीटीवी कैमरे की स्थापना की जा रही है। श्री राय ने बताया कि मेले में भीड़ को नियंत्रित करने एवं उसे सही दिशा में मोडऩे के लिये विभिन्न मार्गों तक मंदिरों पर करीब पन्द्रह सौ बैरियर लगाये जा रहे हैं। मेले में पेयजल, खाद्य आपूर्ति, चिकित्सा व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था, जल बैरीकेडिंग के साथ जगह-जगह वॉच टॉवरों की स्थापना की जा रही है।पूरे मेला क्षेत्र में लाडउस्पीकर भी लगाये जा रहे हैं जिससे मेलार्थी को समय-समय पर दिशा-निर्देश दिया जा सके। मेला क्षेत्रों में गंदगी व्याप्त न हो इसके लिये लगभग चार सौ सफाई कर्मी तथा अस्थायी शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है।


उन्होंने बताया कि अयोध्या के प्रसिद्ध मंदिर हनुमानगढ़ी के सीढिय़ों पर फिसलन को देखते हुए बालू का छिड़काव भी कराया जा रहा है। कच्चा घाट व पक्का घाट पर लगभग पैंतीस नावों की तैनाती की जा रही है जिससे मेलार्थी सुरक्षित ढंग से सरयू नदी में स्नान कर सकें। मेलाधिकारी ने बताया कि मेला क्षेत्र में करीब आठ जगहों पर उपचार केन्द्र बनाये गये हैं। विभिन्न मार्गों पर खोया-पाया शिविर लगाया गया है। स्नानार्थियों की सुरक्षा के लिये नदी पर पुलिस बल तैनात किये गये हैं और घाटों के चारों तरफ कई मोटरबोटें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि सावन झूला मेला सात अगस्त अर्थात् रक्षाबंधन के दिन समाप्त होगा। इस मेले में दूरदराज से लाखों श्रद्धालु यहाँ आते हैं और मेला का आनन्द उठाते हैं। इस बीच, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुभाषचन्द्र बघेल ने बताया कि अयोध्या में आतंकवादी हरकतों की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए अयोध्या के प्रसिद्ध सावन झूला मेले में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध किये गये हैं। उन्होंने बताया कि सावन झूला मेले में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के पोख्ता इंतजाम तो रहेंगे ही इसके अलावा मेला क्षेत्र में आधुनिक तकनीक के द्वारा प्रत्येक व्यक्ति पर कड़ी नजर रखी जायेगी।

उन्होंने बताया कि मेले के दौरान प्रवेश के चारों मार्गों पर लगे बैरियर पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहेगी। पूरा मेले क्षेत्र को सुरक्षा की दृष्टिकोण से एक ही स्थान पर सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से व्यवस्था देखी जायेगी। साथ ही साथ मेला क्षेत्र में भारी भरकम पुलिस बल की तैनाती होगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूरा मेले के दौरान सादी वर्दी में महिला पुलिस, पुरुष पुलिस की तैनाती रहेगी। इसके अलावा सरयू नदी में घाटों पर स्नान करने वाले महिलाओं और पुरुषों की सुरक्षा व्यवस्था भी पुख्ता किया जायेगा, साथ ही साथ अयोध्या के प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी, कनक भवन, नागेश्वरनाथ जैसे तमाम मंदिरों की भी सुरक्षा रहेगी। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान विवादित श्रीरामजन्मभूमि पर लगे पुलिस बल के अलावा अलग से और पुलिस बल तैनात करके सुरक्षा को और कड़ा किया जायेगा। श्री बघेल ने बताया कि सावन झूला मेला को देखते हुए जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठकें भी की गयी हैं। इस बैठक में यह निर्णय लिया गया कि अयोध्या पहले से ही संवेदनशील है किन्तु मेले के दौरान विशेष सतर्कता रहेगी। उन्होंने बताया कि सुरक्षा के दृष्टिकोण से सावन मेले में कांवरियों के आने-जाने के रास्तों पर भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करने तथा आने-जाने वाले सभी आगंतुकों की सख्त चेकिंग करने के निर्देश दिये हैं। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि मेले में आतंकी गतिविधियों पर भी कड़ी नजर रखी जायेगी। मेले को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिये पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने के निर्देश भी दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि कांवरियों को डीजे की जगह लाउडस्पीकर बजाने की छूट होगी। मेले की सुरक्षा व्यवस्था के लिये डाग स्कवायड, बम खोजी व निरोधी दस्ता आदि सुरक्षा की सभी एजेंसियों को लगाया जायेगा। उन्होंने बताया कि वांछित अपराधियों को गिरफ्तार करने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ पर निगाह रखने के लिये एटीएस कमाण्डो के साथ पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों समेत भारी तादात में पुलिस व पैरामिलेट्री फोर्स व दस्तों के तैनाती के भी निर्देश दिये हैं। जिससे मेले को सकुशल सम्पन्न कराया जा सके।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...