नीतीश के राजग में शामिल होने में सुशील बन रहे बाधा : भोला प्रसाद सिंह

sushil-creating-distance-to-nitish-and-bjp-bhola-prasad-singh
पटना 24 जुलाई, बिहार के उप मुख्यमंत्री तजस्वी प्रसाद यादव के इस्तीफे को लेकर महागठबंधन के प्रमुख घटक राष्ट्रीय जनता दल(राजद) और जनता दल यूनाईटेड(जदयू) में जारी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के सांसद भोला प्रसाद सिंह ने आज कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी निजी हितों के लिए मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) में शामिल होने में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं।  श्री सिंह ने यहां कहा, “बिहार में जारी सियासी घमासान में मेरी पार्टी(भाजपा) के लिए जरूरी था कि वह पूरे सम्मान के साथ श्री कुमार को राजग में शामिल करने का प्रयास करती लेकिन इस मामले में श्री मोदी खलनायक की भूमिका निभा रहे हैं। वह निजी हित के लिए श्री कुमार और भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के बीच दूरी उत्पन्न कर उनके राजग में शामिल होने में बाधा बन रहे हैं।” उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार का राजनीतिक कद काफी ऊंचा है। यदि वह राजग में शामिल हो जायें तो भाजपा को सबसे अधिक फायदा होगा। भाजपा सांसद ने कहा कि श्री मोदी राज्य का मुख्यमंत्री बनने के स्वार्थ में पार्टी हितों का ध्यान नहीं रखते हुये लगातार अपने एजेंडे पर काम करते रहे हैं। उन्होंने कहा, “अपने हितों की रक्षा के लिए श्री मोदी ने मुझे, श्री चंद्रमोहन राय एवं अन्य नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया, जिसका नुकसान भाजपा को उठाना पड़ा है। राज्य के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य में मुख्यमंत्री श्री कुमार को राजग में लाने में श्री मोदी को नायक की भूमिका निभानी चाहिए लेकिन वह निजी हितों के लिए खलनायक की भूमिका निभा रहे हैं।” 



श्री सिंह ने 28 जुलाई से शुरू हो रहे विधानमंडल के सत्र से पहले उपमुख्यमंत्री श्री यादव के इस्तीफा नहीं देने या मुख्यमंत्री श्री कुमार द्वारा उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त नहीं किये जाने पर दोनों सदनों की कार्यवाही नहीं चलने देने की श्री मोदी की घोषणा पर कहा कि श्री मोदी ने यह घोषणा करने से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से कोई बातचीत नहीं की है। उन्होंने कहा कि यह श्री मोदी का निजी निर्णय है पार्टी की ओर से ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है। उल्लेखनीय है कि उप मुख्यमंत्री श्री यादव के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो के प्राथमिकी दर्ज करने के बाद उनके इस्तीफे को लेकर महागठबंधन में मचे घमासान के बीच जहां जदयू ने श्री यादव को जनता के बीच जाकर लगे आरोपों पर तथ्यपरक जवाब देने की मांग की थी वहीं राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एवं उनकी पार्टी ने ब्यूरो की प्रथमिकी को वाजिब कारण नहीं मानते हुये दो टूक शब्दों में कह दिया है कि श्री तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे। वहीं, पूर्व में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने घोषणा की थी कि राज्य को मध्यावधि चुनाव से बचाने के लिए उनकी पार्टी नीतश सरकार को बाहर से समर्थन देगी। श्री राय के इस बयान को राजनीतिक हलकों में श्री कुमार को राजग में शामिल होने की हरी झंडी के रूप में देखा जाने लगा था। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...