तेजस्वी नाबालिग होने का दावा करके अपराध पर पर्दा नहीं डाल सकते : सुशील मोदी

tejaswi-can-not-defens-as-minor-sushil-modi
पटना 12 जुलाई, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) की ओर से उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी में लगाये गये आरोप और अपने बचाव में दिये गये बयान पर आज कहा कि वह नाबालिग होने का दावा करके अपने अपराधों पर पर्दा नहीं डाल सकते हैं। श्री मोदी ने यहां कहा कि सीबीआई की ओर से दर्ज प्राथिमिकी के अभियुक्त श्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर बेनामी सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप उस समय का है जब वह दाढ़ी-मूंछ वाले बालिग हो चुके थे। उन्होंने कहा कि नाबालिग होने का दावा कर वह अपने अपराधों पर पर्दा नहीं डाल सकते हैं। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री के मीडिया के साथ गाली-गलौज करने, मीडियाकर्मियों पर हमला करवाने और मीडियाकर्मी को राष्ट्रविरोधी कहने से उनके भ्रष्टाचार की सच्चाई छुप नहीं सकती है। भाजपा नेता ने सवालिया लहजे में कहा कि क्या श्री यादव यह घोषणा करेंगे कि जिस डिलाइट कम्पनी द्वारा दी गई तीन एकड़ जमीन पर उनका 750 करोड़ का माॅल बन रहा है, वह उसके मालिक नहीं है। क्या वह ऐलान करेंगे कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के डी-1008, न्यू फ्रेंड्स काॅलोनी स्थित 115 करोड़ रुपये का चार मंजिला मकान उनका नहीं है। उन्होंने कहा कि क्या राजधानी पटना की जिस जमीन पर पेट्रोल पम्प बना है वह उनकी नहीं है। उन्होंने कहा कि क्या श्री यादव यह बतायेंगे कि सरला गुप्ता और प्रेमचन्द गुप्ता ने अपनी वर्षों पुरानी कम्पनी सहित करोड़ों की जमीन उन्हें नहीं दी है। 


भाजपा नेता ने सत्तारूढ़ महागठबंधन के प्रमुख घटक जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के विधानमंडल दल, जिलाध्यक्षों तथा विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की बैठक में उप मुख्यमंत्री को जनता के बीच जाकर उनके ऊपर लगे आरोपों का तथ्यपरक जवाब देने की मांग पर कहा कि जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी सहित छह मंत्रियों को इस्तीफा देने के लिए कोई मोहलत नहीं दी तो फिर श्री तेजस्वी प्रसाद यादव को क्यों। श्री मोदी ने सवालिया लहजे में कहा कि क्या कभी भी कोई अपराधी अपना अपराध स्वीकार करता है। उन्होंने कहा कि जब राष्ट्रीय जनता दल (राजद), लालू परिवार और श्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने इस्तीफा देने से साफ इनकार कर दिया है तब क्या मुख्यमंत्री को अब उन्हें बर्खास्त करने की हिम्मत नहीं दिखानी चाहिए। उल्लेखनीय है कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से उनके खिलाफ दर्ज की गई प्राथमिकी के बाद राज्य में मचे सियासी घमासान के बीच आज मंत्रिमंडल की बैठक के बाद चुप्पी तोड़ते हुये कहा, “मेरे ऊपर लगाये गये सभी आरोप झूठ का पुलिंदा हैं। मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह गहरी साजिश कर ऐसे मनगढ़ंत मामले में फंसा रहे हैं जिस दौरान मेरी उम्र केवल 14 साल की थी। उस वक्त मेरी दाढ़ी-मूंझ भी नहीं आई थी।” 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...