बिहार : केंद्र की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुट हुए सभी किसान संगठन: राजाराम सिंह

  • मंदसौर से 6 जुलाई को आरंभ होगी ‘किसान मुक्ति यात्रा’, 18 जुलाई केा दिल्ली में होगा समापन. कर्ज मुक्ति और लागत से ड्योढ़ा दाम की मांग कर रहे किसान.

unite-farmer-against-center-policy
पटना 4 जुलाई, पिछले एक महीने में देश में किसान आंदोलन का जबरदस्त उभार हुआ है और अब वह एक नए स्तर पर पर पहुंच गया है. महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के किसानों के आंदोलनों और मंदसौर में कई किसानों की शहादतों तथा देश में लगातार हो रही किसान आत्महत्याओं के खिलाफ देश भर के किसान संगठनों में एकजुटता का नया दौर शुरू हुआ है और उन्होंने मिलकर अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का गठन किया है. यह जानकारी अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व विधायक राजाराम सिंह ने आज प्रेस विज्ञप्ति जारी करके दी. उन्होंने कहा कि कर्ज माफी और लागत से ड्योढ़े दाम की मांग पर आगामी 6 जुलाई से किसान संगठन संयुक्त रूप से मंदसौर से ‘किसान मुक्ति यात्रा’ निकालेंगे. यह यात्रा देश के विभिन्न हिस्सों से गुजरता हुआ 18 जुलाई को दिल्ली पहुंचेगा. यह मुक्ति यात्रा मंदसौर में पुलिस गोली से मारे गये किसानों की स्मृति में पिपल्यामंडी (मंदसौर) से शुरू होकर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, हरियाणा होते हुए दिल्ली पहुंचेगी. इस यात्रा के दौरान रास्ते में मिलने वाले सभी शहरों व बाजारों पर सभायें भी आयोजित की जाएंगी.


इस अभियान में अखिल भारतीय किसान महासभा बढ़-चढ़कर हिस्सा लेगी. इसमें हमारे संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रूल्दु सिंह (पंजाब), महासचिव काॅ. राजाराम सिंह, राष्ट्रीय सचिव काॅ. ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा (उत्तरप्रदेश), काॅ. पुरूषोत्तम शर्मा (उत्तराखंड), राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व वयोवृद्ध नेता काॅ. देवेन्द्र सिंह चैहान (मध्यप्रदेश), काॅ. प्रेम सिंह गहलावत (हरियाणा) एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य काॅ. उमेश सिंह (बिहार), काॅ. गुरनाम सिंह (पंजाब), सुभाष काकुष्ते और राजेन्द्र भावुके (महाराष्ट्र) इस अभियान में भाग लेंगे. इनके साथ-साथ हजारों की तादाद में किसान बिहार, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, गुजरात व हरियाणा, पंजाब से भी साथी भाग लेंगे. इस अभियान के तहत किसानों की दो प्रमुख मांगें उठायी जाएंगी. किसानों की कर्ज माफी और लागत से ड्योढ़े दाम की मांग प्रमुखता से उठायी जाएगी.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...