पटना : प्रत्येक पार्षद 77 लाख से वार्ड को चकाचक कर सकेंगे

ward-development-patna
पटना। पटना नगर निगम बोर्ड की पहली बैठक.इस बैठक को नव निर्वाचित पार्षदों के उन्मुखीकरण कार्यक्रम के रूप में रखा गया.इसमें निर्वाचिच 75 वार्ड पार्षदों ने हिस्सा लिये. मौके पर जलजमाव,कूड़ा उठान,घर-घर जाकर कूड़ा संग्रह अभियान में शिथिलता को लेकर जमकर चर्चा की गयी. पटना नगर निगम के नव चयनित नगर सरकार की पहली निगम बोर्ड बैठक शनिवार 29 जुलाई को  की गयी. यह बैठक इनकम टैक्स चौराहा स्थित होटल पाटलिपुत्रा अशोक में 11:30 बजे से की गयी है. बैठक में बीते तीन सशक्त स्थायी समिति में पास मुद्दों को रखा गया. पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से नगर पालिका का संविधान और कार्य समझाया गयाने का प्रयास उन्मुखीकरण कार्यक्रम से किया गया. पीएम हाउस फोर ऑल,एनयूएलएम, राजीव गांधी आवास योजना,स्वच्छ भारत मिशन,ओडीएफ,सीएम के सात निश्चय आदि का प्रदर्शन किया गया.


प्रति वार्ड खर्च होंगे 77 लाख
मुख्यमंत्री 7 निश्चय योजना (नली,गली व शौचालय)  55 लाख रुपये,पथ निर्माण छह लाख रुपये ,सड़कों पर प्रकाश  चार लाख रुपये ,जलापूर्ति व पाइप लाइन विस्तार चार लाख रुपये

नाला निर्माण   4.5 लाख रुपये
और मेनहोल निर्माण  3.5 लाख रुपये व्यय होगा.इन पर भी हुआ निर्णय। वार्ड 30, 31 व 32 में जलजमाव दूर करने के लिए कच्चे नाले को बादशाही पैन से जोड़ने का निर्देश, एक सप्ताह में जगनपुरा व बाइपास नाले से सभी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने का निर्देश.

डिसेल्टिंग मशीन को रखने का निर्णय.
मौके पर मेयर सीता साहू, नगर आयुक्त अभिषेक सिंह,नगर विकास व आवास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद आदि उपस्थित रहे. इसके अलावे समिति के सदस्य सहित अन्य लोग मौजूद थे. इसके अलावा बाइपास नाले की एक बार फिर से सफाई करने, सैदपुर से भिखना पहाड़ी नाले पर सड़क निर्माण पूरा करने की मंजूरी के अलावा अन्य कई निर्णय लिये गये. समिति में स्वीकृति लगभग सभी मुद्दों का प्रस्ताव बना कर वहां लाया जायेगा. बोर्ड से स्वीकृति के बाद निगम में ये योजनाएं लागू की जायेंगी.अगले वर्ष के लिए जलजमाव से बचाव की योजना बैठक में सभी चारों अंचलों के कार्यपालक पदाधिकारियों को अगले वर्ष शहर में जल-जमाव नहीं हो, इसके लिए योजना बनाने का निर्देश दिया गया. किस वार्ड में कौन से नाले का निर्माण करना है, कहां कनेक्शन किया जाना है, क्या नया निर्माण करना है, इसकी पूरी योजना बना कर देने के लिए नगर आयुक्त ने कहा है, ताकि निगम मुख्यालय इन योजनाओं को नगर विकास व आवास विभाग भेज सके. वहां से स्वीकृति मिलने के बाद निर्माण किया जा सके.


तीन नये वार्डों में कर निर्धारण के लिए तय हुई सड़क : नगर निगम में जुड़नेवाले तीन नये वार्ड 22ए, 22बी, 22 सी में होल्डिंग कर निर्धारण के लिए नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी ने तीन सदस्यीय टीम बना कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया था. टास्क फोर्स के अनुसार पटना दानापुर प्रिंसिपल मेन रोड, कुर्जी मोड़ से न्यू पाटलिपुत्र मोड़ तक, राजीव नगर रेलवे लाइन से पाटलिपुत्र गोलंबर होते हुए नेहरू नगर से राजापुरपुल तक व पाटलिपुत्र गोलंबर से दक्षिण बोरिंग रोड को प्रधान मुख्य सड़क माना गया है. इसके अलावा गोसांईं टोला, बालू पर संत माइकल, कुर्जी नाला, लोयोला स्कूल की सड़क को मुख्य सड़क माना गया है. इसके अलावा अन्य सभी सड़कें तीसरे स्तर पर रखी गयी हैं. उन्मुखीकरण कार्यक्रम से भाग लेकर लौटी वार्ड नम्बर-27 की वार्ड पार्षद रानी कुमारी ने कहा कि मंदिरी में है चीना कोठी यहां पर काफी गंदगी है. इसे दूर करने को कहा गया.दक्षिण चीना कोठी में अधूरा नाला निर्माण है. पूरा करने को कहा गया. वहीं वार्ड के लोगों से आग्रह किया गया है कि आम सभा में जरुर आयें.  वार्ड नम्बर-22 सी की वार्ड पार्षद रजनी राय के प्रतिनिधि पप्पू यादव ने कहा कि 77 लाख रू.में सेंधमारी होने नहीं देंगे. जो सेंधमारी का प्रयास करेंगा उसे सलाखों के पीछे करवा देंगे. एक भी गली छूटे न का नारा दिया है.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...