दुमका : बच्चों के अधिकार, संरक्षण व सुरक्षा पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

workshop-on-child-care
बाल सखा रांची व  भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के संयुक्त तत्वाधान में रेड क्रॉस भवन दुमका में दिन शनिवार (22 जुलाई 2017) को  बच्चों के अधिकार,  संरक्षण व  सुरक्षा हेतु विभिन्न स्टेक होल्डर्स बाल कल्याण समिति, किशोर न्याय बोर्ड, जिला बाल संरक्षण इकाई , श्रम विभाग व  विभिन्न स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधि व पत्रकारों की भागीदारी से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित उप-श्रमायुक्त राजेश प्रसाद ने कहा कि ऑपरेशन मुस्कान 3 के द्वारा मुक्त कराए गए बाल श्रमिकों,  बंधुआ मजदूरों आदि को विभाग द्वारा उनके परिवार को पुनर्वासन हेतु विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाता है साथ ही उन्होंने श्रम विभाग की बच्चों से संबंधित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दिया। बाल कल्याण समिति चेयरपर्सन अमरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि जरूरतमंद एवं भूले-भटके बच्चों के देखभाल एवं संरक्षण के लिए सीडब्ल्यूसी कृत संकल्पित है। समिति के प्रयास से दुमका में बाल श्रम को रोकने में बहूत हद तक कामयाबी मिल गई है। उन्होंने आगे कहा की समिति अब तक सैकड़ों बच्चों को उनके परिवार से मिला चुका है और आगे यह अभियान जारी रहेगा। बालसखा के कार्यक्रम समन्यवक पिजुष सेनगुप्ता ने किशोर न्याय बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम 2015 एवं जेजे रूल 2017 का विस्तार पूर्वक जानकारी दिया। कार्यक्रम का संचालन बालसखा के राहुल परवीन के द्वारा किया गया ।  इसके अलावा कार्यक्रम को एडीपीओ अशोक कुमार सिंहा, रेड क्रॉस सोसाइटी के वाइस चेयरमैन राज कुमार उपाध्याय व  संयुक्त सचिव मनोज कुमार घोष, अधिवक्ता सिकंदर मंडल,डीसीपीओ प्रकाशचंद्र, किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य ज्योतिष प्रसाद यादव एलपीओ अनिल मोहन ठाकुर रेड क्रॉस के आजीवन सदस्य सपन पत्रलेख ने संबोधित किया। कार्यशाला को सफल बनाने में आईरिस पब्लिक स्कूल एवं जिला बाल संरक्षण इकाई का सराहनीय योगदान रहा। कार्यक्रम में बाल कल्याण समिति सदस्य धर्मेंद्र नारायण प्रसाद,  शकुंतला दुबे, रंजन कुमार सिन्हा, रमेश प्रसाद साह, आइरिस पब्लिक स्कूल के शिक्षक विनय कुमार, क्राई के कालेश्वर मंडल, आफ्टर केयर होम के धर्मेंद्र पांडे, शैलेन्द्र राय एवं कई गणमान्य लोग और पत्रकार मौजूद थे

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...