बाढ़ पीड़ितों के लिए 24 घंटे स्वास्थ्य नियंत्रण कक्ष: मंत्री

24-hours-health-control-room-for-flood-victims-of-bihar-needed
पटना 16 अगस्त, बिहार में बाढ़ की विभीषिका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने विशेष रुप से 24 घंटे के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है । राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बाढ़ पीड़ितों को स्वास्थ्य के क्षेत्र में किसी तरह की परेशानी नहीं हो इसके लिए उनका विभाग 24 घंटे सजग है। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव आपस में लगातार संपर्क बनाये हुए हैं । श्री पांडेय ने कहा कि इसी तरह राज्य स्वास्थ्य समिति के अधिकारी भी बाढ़ प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों के साथ संपर्क में हैं । राज्य स्वास्थ्य समिति , पटना में एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जहां 24 घंटे पीड़ित व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे । उन्होंने कहा कि इसी तरह चिकित्सकों की भी तैनाती की गयी है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावित पूर्णियां जिले में एक कैंप कार्यालय खोला गया है जहां 24 घंटे चिकित्क उपलब्ध हैं। इसी तरह सीतामढ़ी जिले में भी विशेष व्यवस्था की गयी है । उन्होंने कहा कि यदि प्रभवित इलाकों में किसी तरह की जानकारी मिलती है तो तत्काल चिकित्सकों का चलंत दस्ता मौके पर पहुंचेगा । श्री पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा बेहतर रहे इसके लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं । बाढ़ प्रभावित इलाकों में जो गर्भवती महिलाएं हैं और जिनका प्रसव 15 दिनों में संभावित है , उन पर विशेष रुप से नजर रखी जा रही है । उन्होंने कहा कि प्रभावित इलाकों में आशा कार्यकर्ताओं को यह जिम्मेवारी दी गयी है और इसके लिए गर्भवती महिलाओं का पहले से ही निबंधन कराया गया है । स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में सर्पदंश की अधिक शिकायत मिलती हैं और इसी को देखते हुए सभी प्रभावित जिलों में पर्याप्त मात्रा में एंटीवेनम उपलब्ध करा दी गयी है । इसी तरह पेयजल को शुद्ध करने के लिए टैबलेट उपलब्ध कराये गये हैं । उन्होंने कहा कि चर्मरोग की दवा भी संबंधित प्रशासन को उपलब्ध करा दी गयी है । इसके अलावा जहां तक सड़क है वहां के लिए एम्बुलेंस की सेवा दी जा रही है ।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...