चार साल बाद राजग में शामिल हुआ जदयू

after-4-years-jdu-join-nda
पटना 19 अगस्त, बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाईटेड (जदयू) करीब चार साल के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल हो गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर आज पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जदयू के राष्ट्रीय महासचिव के0 सी0 त्यागी ने राजग में शामिल होने का प्रस्ताव रखा जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। बैठक में पंजाब और झारखंड समेत कई अन्य राज्यों के जदयू के प्रदेश अध्यक्ष भी मौजूद थे । पार्टी के इस फैसले के साथ ही चार साल बाद जदयू की राजग में वापसी हो गयी । पिछले लोकसभा चुनाव से पूर्व भाजपा की ओर से श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किये जाने के विरोध में जदयू जून 2013 को राजग से अलग हो गया था। इसके बाद जदयू ने लोकसभा का चुनाव अकेले अपने दम पर लड़ा लेकिन उस चुनाव में उसके दो ही उम्मीदवार जीतने में सफल रहे । लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद जदयू ने राष्ट्रीय जनता दल(राजद) और कांग्रेस के साथ महागठबंधन बनाकर वर्ष 2015 का विधानसभा चुनाव लड़ा जिसमें महागठबंधन को दो तिहाई से भी अधिक सीटों पर सफलता मिली । इस अपार जनसमर्थन के बल पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने करीब 20 माह तक महागठबंधन की सरकार चलायी लेकिन भ्रष्टाचार तथा बेनामी सम्पत्ति के मामले में राजद नेता और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के खिलाफ केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की प्राथमिकी दर्ज होने के बाद जदयू की ओर से बार-बार अनुरोध किये जाने के बावजूद इस मामले में श्री यादव की ओर से जनता के बीच स्थिति स्पष्ट नहीं किये जाने के कारण श्री कुमार ने 26 जुलाई को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था । श्री कुमार इस्तीफे के 24 घंटे के अंदर ही भाजपा से नाता जोड़कर फिर से मुख्यमंत्री बन गये । इसके बाद श्री कुमार जब पहली बार दिल्ली गये तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी । इसी दौरान श्री शाह ने श्री कुमार को राजग में शामिल होने का न्योता दिया था । 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...