पार्टी के खिलाफ शरद ने कहा आज भी महागठबंधन के साथ

sharad-said-still-with-mahagathbandhan
पटना 10 अगस्त, महागठबंधन टूटने के बाद पहली बार बिहार आये जनता दल यूनाईटेड(जदयू)के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने एक बार फिर पार्टी लाइन से अलग हटकर कहा कि आज भी वह महागठबंधन के साथ हैं। श्री यादव अपने तीन दिवसीय बिहार यात्रा के क्रम में आज पटना के जयप्रकाश नारायण हवाईअड्डा पहुंचने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि गत विधानसभा चुनाव में दो गठबंधन बना था और दोनों ने अलग-अलग घोषणा पत्र पर चुनाव लड़ा लेकिन उसमें से एक दल ने पाला बदल लिया है, जो उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में कभी नहीं देखा। उन्होंने दावा किया कि महागठबंधन आज भी बरकरार है। जदयू के राज्यसभा सांसद ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को जनादेश मिला था। बिहार के 11 करोड़ लोगों ने बड़ी उम्मीद के साथ महागठबंधन को वोट दिया था। इस तरह से गठबंधन को तोड़ना ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि गठबंधन तोड़ना जनादेश का अपमान है। पिछले 40 वर्षों से वह सक्रिय राजनीति में हैं और विधानसभा चुनाव में वह स्वयं डेढ़ माह तक लोगों के बीच गये थे। श्री यादव ने पटना के दीघा में अपने समर्थकों के बीच कहा कि श्री कुमार ने जनादेश का अपमान किया है। मात्र छह घंटे में ही जनादेश को पलट दिया। उन्होंने दावा किया और कहा कि जदयू के असली नेता और कार्यकर्ता उनके साथ हैं और सरकारी जदयू के लोग नयी सरकार में शामिल हो गये हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या यह जनादेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ सरकार बनाने के लिए मिला था। इसके बाद श्री यादव सोनपुर होते हुए मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हो गये जहां वह लोगों से सीधा संवाद कार्यक्रम करेंगे। इसी तरह अगले दिन मुजफ्फरपुर के अलावा दरभंगा और मधुबनी जिले में भी लोगों से संवाद करेंगे। श्री यादव इसके बाद तीसरे और अंतिम दिन मधुबनी, सुपौल, सहरसा और मधेपुरा जिले में आयोजित विभिन्न संवाद कार्यक्रमों में लोगों से रू-ब-रू होकर राज्य की ताजा राजनीतिक हालात की जानकारी लेंगे। इससे पूर्व पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण जदयू के राष्ट्रीय महासचिव पद से हटाये गये अरुण श्रीवास्तव ने हवाई अड्डा पर ही पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार पार्टी को मनमाने तरीके से चला रहे हैं। विधानसभा चुनाव में जदयू को जनादेश भाजपा के खिलाफ मिला था। उन्होंने कहा कि श्री कुमार ने वरिष्ठ नेता शरद यादव को धोखे में रखकर अध्यक्ष पद हथिया लिया है। 


श्री श्रीवास्तव ने कहा कि श्री कुमार मात्र चार राज्यों के प्रतिनिधियों के चुने हुए अध्यक्ष हैं। पार्टी को दिन-रात की कड़ी मेहनत के बाद खड़ा किया गया है। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद पर रहते हुए श्री कुमार ने पार्टी विस्तार के लिए 13 दिन का समय भी नहीं दिया है। यदि श्री कुमार चाहें तो बिहार में अपनी पार्टी बना सकते हैं। उन्होंने दावा किया और कहा कि उनके साथ पार्टी के कई विधायक हैं। श्री यादव का बिहार दौरे पर आने का मकसद लोगों से सीधा संवाद कर उनकी राय जानना है। हालांकि उन्होंने कहा कि 17 अगस्त को श्री यादव दिल्ली में आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे। इसबीच जदयू के प्रदेश प्रवक्ता एवं विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने कहा कि श्री यादव के बिहार दौरे का यह कार्यक्रम उनका व्यक्तिगत है और उनके साथ जदयू का कोई भी जिलाध्यक्ष नहीं है। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की कृपा से श्री यादव कार्यक्रम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्री यादव अपने दम पर किसी राज्य में चुनाव नहीं जीत सकतें जबकि श्री श्रीवास्तव आज तक मुखिया का चुनाव भी नहीं जीत सके हैं। श्री कुमार ने कहा कि श्री यादव ने लोकशाही में विश्वास कर क्या भ्रष्टाचार को शिष्टाचार मानकर राजनीति में आत्मसमर्पण कर दिया है। पार्टी उनकी इस यात्रा पर पैनी नजर रख रही है। उन्होंने कहा कि शीर्ष नेतृत्व सही समय पर उचित फैसला लेगा। वहीं, राजद के विधायक एवं प्रवक्ता भाई वीरेन्द्र ने आरोप लगाया और कहा कि श्री यादव की यात्रा के दौरान उनकी जान को खतरा है। नीतीश सरकार अपने विरोधियों की हत्या भी करवा सकती है। उन्होंने कहा कि आज सुबह ही राजधानी पटना में राजद नेता केदार राय की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। राजद प्रवक्ता ने कहा कि जदयू के वरिष्ठ नेता श्री यादव ही पार्टी के असली निर्माणकर्त्ता रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री कुमार केवल ‘कुर्सी कुमार’ बनकर रह गये हैं और उन्होंने बड़ी चालाकी से पार्टी के अध्यक्ष की कुर्सी हथिया ली है। उन्होंने कहा कि जदयू नेता श्री यादव को किसी की भी सहायता की जरुरत नहीं है। उल्लेखनीय है कि महागठबंधन से नाता तोड़कर श्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के साथ बिहार में सरकार बना ली है वहीं जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री यादव आज भी महागठबंधन के साथ होने का दावा कर रहे हैं । 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...