झारखंड : पलामू डीएसई को बर्खास्त करने का आदेश

cm-discharge-palamu-dse
रांची 01 अगस्त, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पलामू जिले के छतरपुर प्रखंड के नव प्राथमिक विद्यालय पटसारा में लापरवाही एवं सालभर से बंद मध्याह्न भोजन पर नाराजगी जताते हुए आज पलामू के जिला शिक्षा अधीक्षक (डीएसई) को बर्खास्त करने का आदेश दिया। श्री दास ने यहां आयोजित सीधी बात कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र में दर्ज शिकायतों की सुनवाई करते हुए प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी (बीईईओ) के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव को निर्देश दिया कि जिले के सभी पदाधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए उन्हें डायरी उपलब्ध कराई जाए ताकि उनकी रोजाना की गतिविधि की जानकारी मिल सके। मुख्यमंत्री ने गढ़वा जिले में एक ही भवन में संचालित गोपीनाथ सिंह महिला महाविद्यालय एवं गोपीनाथ सिंह इंटर महाविद्यालय कभी महिला महाविद्यालय तो कभी इंटर महाविद्यालय दिखाकर अनुदान प्राप्त करने में अनियमितता बरतने के मामले को गंभीरता से लेते हुए उच्च एवं तकनीकी शिक्षा तथा स्कूली शिक्षा विभाग के सचिव को संयुक्त रूप से इसकी जांच कर 15 दिनों में रिपोर्ट देने का आदेश दिया। इस दौरान आवेदक को प्रोत्साहित करते हुए उन्होंने कहा कि इसी तरह जागरूक रहकर भ्रष्टाचार का खुलासा करें। श्री दास ने रांची जिले के रातू प्रखंड में मुर्चू मोड़ से बनापीरि जामुन मोड़ तक बनाई गई सड़क में अनियमितता को लेकर टीम भेजकर विस्तृत जांच कराने का आदेश दिया। इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सौंपी गई जांच रिपोर्ट की दोबारा जांच करने को कहा। उन्होंने सभी विभागों के प्रधान सचिवों को हिदायत दी कि जांच के नाम पर खानापूर्ति न की जाए। 


मुख्यमंत्री ने धनबाद जिले में झरिया यूको बैंक झरिया द्वारा वर्ष 2011 में संपत्ति नीलामी में जगिया देवी के सभी जरूरी दस्तावेज के साथ इस बाबत 10 लाख रुपए बैंक को उपलब्ध कराने के बावजूद छह साल बाद भी संपत्ति पर दखल नहीं मिलने की शिकायत पर उपायुक्त को मंगलवार को ही पुलिस की प्रतिनियुक्ति कर दखल दिलवाले का आदेश दिया। पलामू जिले के मेदिनीनगर स्थित जीएलए कॉलेज परिसर में वर्ष 2005 से बन रहे क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण कार्य आज भी अधूरा है। स्टेडियम में दर्शकों के बैठने के लिए तीन तरफ ही दीर्घा बनाए गए हैं। 12 वर्ष बाद भी निर्माण कार्य पूर्ण नहीं होने से नाराज मुख्यमंत्री ने इसके लिए दोषी विशेष प्रमंडल के इंजीनियर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया। उन्होंने उपायुक्त को आदेश दिया कि इंजीनियर की लापरवाही के मामले में सप्ताहभर के अंदर पर्यटन, कला, संस्कृति, खेलकूद एवं युवा विभाग तथा ग्रामीण विकास विभाग को रिपोर्ट भेजें। इसी तरह पूर्वी सिंहभूम जिले के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पटमदा में पेयजल एवं बिजली की व्यवस्था नहीं है। मुख्यमंत्री ने उपायुक्त को 15 दिनों में व्यवस्था सुनिश्चित कराने का आदेश दिया। रांची जिले के मोरहाबादी मैदान में 15 अगस्त 2015 को रांची के 25 झारखंड आंदोलनकारियों को सम्मानित किया गया था। इन्हें पेंशन देने की घोषणा की गई थी। अब तक इन्हें पेंशन की राशि नहीं मिली है। श्री दास ने गृह विभाग के प्रधान सचिव को निर्देश दिया कि इस संदर्भ में उनसे अनुमोदन लेकर जल्द पेंशन का भुगतान सुनिश्चित कराएं। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...