देउबा ने संविधान को लेकर की गयी टिप्पणी का किया बचाव

deuba-defend-their-statement
काठमांडू, 28 अगस्त, नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने नयी दिल्ली में गत गुरुवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में संविधान संशोधन विधेयक को लेकर की गयी अपनी टिप्पणी का बचाव किया है। नेपाली अखबार ‘हिमालय टाइम्स’में आज छपी रिपोर्ट के अनुसार श्री देउबा ने कहा,“ मैं उस समय सही था जब मैंने भारत में कहा कि संविधान संशोधन विधेयक पर संसद में हुआ मतदान विफल हो गया और सरकार दो तिहाई बहुमत में आने के बाद इस अधिनियम को पारित कराने का प्रयास करेगी। ” श्री देउबा ने त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर भारत की पांच दिवसीय यात्रा से वापस आने के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा,“ हम विश्वास करते हैं कि मधेशी लोगों की चिंताओं को देखते हुए संविधान में संशोधन होना चाहिए। ” प्रधानमंत्री ने कहा,“ मैंने कहा था कि लोगों की इच्छाओं का सम्मान करते हुए संविधान में संशोधन हो सकता है और मैं उम्मीद करता हूँ कि कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल(यूनिफाइड मार्क्ससिस्ट-लेनिनिस्ट) भी इसका समर्थन करेगी। ” श्री देउबा ने कहा,“भारत दौरे के बाद दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को लेकर विश्वास की बढ़ोतरी होगी। भारत यात्रा के बाद महत्वपूर्ण क्षेत्रों जैसे ऊर्जा,व्यापार,सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए पर्यटन के क्षेत्रों में भारत की ओर से सहायता बढ़ायेगी जाएगी। ” उन्होंने कहा कि भारत और नेपाल के बीच पहले हस्ताक्षरित हुई विभिन्न परियोजनाओं पर भी सकारात्मक माहौल बना है। उन्होंने कहा कि दोनों देश एक माह के अंदर पंचेश्वर बहुउद्देश्यीय परियोजना के बारे में रिपोर्ट पेश करने पर सहमत हुए हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...