बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को दी जाएगी हर संभव सहायता : नीतीश कुमार

government-help-people-in-flood-nitish
पटना 14 अगस्त, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्यों में मिली त्वरित मदद के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद देते हुये आज कहा कि इन इलाकों में लोगों की सहायता के लिए हर संभव कार्रवाई की जाएगी। श्री कुमार ने बाढ़ की गंभीर स्थिति को देखते हुये आज सर्वाधिक प्रभावित अररिया, किशनगंज, कटिहार और पूर्णिया जिले का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्यों के लिए कल ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षामंत्री अरुण जेटली से बातचीत की थी। उनसे राष्ट्रीय आपदा बल (एनडीआरएफ) की टीम भेजने का आग्रह किया था। उन्होंने कहा, “मैं केन्द्र सरकार को धन्यवाद देता हूं कि हमने जो भी सहायता मांगी थी वह तुरंत मिल गई। अब हमें राहत पहुंचाने के लिए जो कार्रवाई करनी होगी हम करेंगे।” मुख्यमंत्री ने बताया कि सबसे अधिक अररिया और किशनगंज जिले का बड़ा हिस्सा, पूर्णिया के तीन प्रखंड एवं कटिहार का एक प्रखंड प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में बचाव कार्यों के लिए सेना, एनडीआरएफ और राज्य आपदा बल (एसडीआरएफ) की टीम को लगा दिया गया है। बचाव से लेकर राहत तक सब काम युद्धस्तर पर हो रहा है। उन्होंने कहा कि कटिहार जिले में पानी के और फैलने की आशंका काे देखते हुये अांकलन कर इससे निपटने की तैयारी की जा रही है। 


श्री कुमार ने बताया कि हवाई सर्वेक्षण से पता चला कि नेपाल और बिहार के जलग्रहण क्षेत्रों में भारी वर्षा हुई है। खासकर महानंदा और कनकई नदी में पानी का प्रवाह बहुत तेज है। गांवों में पानी प्रवेश कर गया है। साथ ही सड़के भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। कई स्थानों पर पुलों के ऊपर भी पानी का दबाव देखा गया। महानंदा नदी पुल पर अहतियात बरतते हुये यातायात बंद कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्णिया में आपदा प्रबंधन मंत्री, प्रभारी सचिव और आयुक्त के साथ चर्चा हुई है। अभी तुरंत अधिकारियों को बैठक के लिये बुलाया गया है और आगे जो करना है, उस पर चर्चा तथा दिशा-निर्देश दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि गांव में प्रवेश कर गये बाढ़ के पानी को निकलने में थोड़ा वक्त लगेगा। इसके लिये राहत की पूरी तैयारी की गई है। इसके अलावा हुये नुकसान की भरपाई की भी पूरी कोशिश की जाएगी। श्री कुमार ने कहा, “प्राप्त सूचनाओं के अनुसार सीतामढ़ी, दरभंगा, मधुबनी, पूर्वी और पश्चिम चम्पारण जिले में भी एनडीआरएफ की टीम भेजी जा रही है। पूर्णिया जिले में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना के जवानों को लगाया गया है। इसके अलावा पूर्वी एवं पश्चिम चम्पारण तथा सीतामढ़ी में भी सेना को लगाया जाएगा।” 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...