रेलवे सुरक्षा को लेकर सरकार का रिकॉर्ड निराशाजनक : कांग्रेस

government-s-record-for-railway-safety-is-disappointing-congress
नयी दिल्ली, 20 अगस्त, कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के पास खतौली में रेल हादसे में 23 लोगों के मारे जाने और 70 से अधिक लोगों के घायल होने के लिए रेल मंत्रालय को जिम्मेदार बताते हुए आज कहा कि रेलवे सुरक्षा को लेकर केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार और मंत्रालय का रिकॉर्ड निराशाजनक है। कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां जारी एक बयान में कहा कि शुरूआती रिपोर्ट से पता चला है कि सूचनाओं के आदान-प्रदान में भारी गलती के कारण यह हादसा हुआ। उन्होंने कहा कि इस दुर्घटना से सुरक्षा इंतजामों की कमी तो उजागर हुई ही है, यह भी पता चला है कि ट्रेन प्रणाली का संचालन कितनी संवेदनशील स्थिति में किया जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की संवेदनाएं और प्रार्थनाएं इस दुर्घटना के पीड़ितों के साथ हैं। श्री सुरजेवाला ने कहा कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेलवे के अन्य अधिकारी यात्रियों की सुरक्षा को लेकर लापरवाही और ढीलेढाले रवैये के नये रिकॉर्ड स्थापित कर रहे हैं। श्री प्रभु को अपनी जिम्मेदारी माननी चाहिए। उन्होंने कहा कि बुलेट ट्रेन को भूल जाइए, मई 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से अभी तक 27 रेल हादसे हो चुके हैं। सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही पिछले 15 महीने में छह बड़ी रेल दुर्घटनाएं हुई हैं। उन्होंने कहा कि जब भी कोई दुर्घटना होती है, रेलवे के अधिकारी अपना पल्ला झाड़ने के लिए नयी कहानी गढ़ लेते हैं लेकिन तथ्य कुछ और कहते हैं। इस दुर्घटना में भी बड़े पैमाने पर रेलवे की लापरवाही उजागर हुई है। ट्रैक पर पिछले दो दिन से सिग्नलिंग का काम चल रहा था लेकिन उत्कल एक्सप्रेस के चालक को इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी। कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि दुर्घटना के बाद भी रेलवे और स्थानीय प्रशासन की नींद बहुत देर बाद खुली। दुर्घटना के कुछ ही देर के भीतर बड़ी संख्या में स्थानीय लोग वहां पहुंच गये और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया। स्थानीय स्तर पर 65 निजी एंबुलेंस काे बुला लिया गया तथा गैस कटर एवं अन्य आवश्यक उपकरणों का भी इंतजाम कर लिया गया लेकिन राज्य सरकार की आेर से काफी देर तक कोई मदद नहीं मिली। गौरतलब है कि ओडिशा के पुरी से उत्तराखंड के हरिद्वार आ रही कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के 14 डब्बे कल उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के खतौली के पास पटरी से उतर गए थे जिसके कारण 23 लोगों की मृत्यु हो गयी थी तथा 70 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...