जनधन, आधार, मोबाइल से सामाजिक क्रांति आ रही है : जेटली

jandhan-adhar-mobile-new-revolution-jaitely
नयी दिल्ली, 27 अगस्त, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि जनधन, आधार और मोबाइल :जैम: की ‘त्रिमूर्ति’ से सामाजिक क्रांति की शुरुआत हो चुकी है। इससे सभी भारतीय साझा वित्तीय, आर्थिक और डिजिटल क्षेत्र में आ चुके हैं। यह कुछ उसी तरीके से है जिससे माल एवं सेवा कर :जीएसटी: से एकीकृत बाजार बना है। उन्होंने कहा, ‘‘अब देश की निगाह एक अरब-एक अरब-एक अरब पर है। एक अरब आधार नंबर जो एक अरब बैंक खातों और एक अरब मोबाइल फोन से जुड़े हों। एक बार यह हो जाने के बाद पूरा देश वित्तीय और डिजिटल मुख्यधारा में आ जाएगा।’’ प्रधानमंत्री जनधन योजना :पीएमजेडीवाई: की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर फेसबुक पोस्ट में लिखा है, ‘‘जिस तरह से जीएसटी से एक कर, एक बाजार, एक भारत बना है, पीएमजेडीवाई और जैम क्रांति से सभी भारतीयों को एक साझा वित्तीय, आर्थिक और डिजिटल क्षेत्र से जोड़ा जा सकता हैं। कोई भारतीय इस मुख्यधारा से बाहर नहीं रहेगा।’’ वित्त मंत्री ने कहा कि जैम किसी सामाजिक क्रांति से कम नहीं है। इससे सरकार, अर्थव्यवस्था और विशेषरूप से गरीबों को काफी फायदा मिलेगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...