झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 30 अगस्त

आज  पेंशनर देगें साई मंदिर पर धरना,
  • प्रधानमंत्री के नाम सातवे वेतनमान के लाभ को लेकर सोपेगें प्रशासन को ज्ञापन ।

झाबुआ ।मध्यप्रदेश सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों की तरह की प्रदेश सरकारी के पेंशनरों को भी सांतवे वेतनमान का लाभ नही दिये जाने तथा छत्तीसगढ सरकार की सहमति के अभाव में आदेश जारी नही करने का लेकर जिले पर के पेंशनर आज 31 अगस्त को दोपहर 1 बजे से शिरडी साई मंदिरन परिसर में धरना प्रदर्शन कर प्रदेश सरकार की हटधर्मिता के चलते पेंशनरों को आर्थिक नुकसान होने के कारण देश के प्रधानमंत्री के नाम दोपहर 2 बजे ज्ञापन जिला कलेक्टर को सौपेगें तथा ज्ञापन द्वारा सरकार से पेंशनरों को भी सातवे वेतनमान के लाभ के लिये अनुरोध करेगें । जिला पेंशनर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने जानकारी देते हुए बताया कि छत्तीसगढ राज्य की स्थापना हुए 17 वर्ष का समय हो चुका है इसके बाद भी पेंशनरों के हितलाभ के लिये उनसे सहमति लेने की बाध्यता समझ से परे है ।उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री से अनुरोध के बाद भी यदि राज्य सरकार द्वारा पेंशनरों को सातवे वेतनमान के लाभ देने में आनाकानी करती है तो प्रातीय निर्देशानुसार जिले भर के पेशनर राजधानी भोपाल में आयोजित होने वाले जंगी धरना प्रदर्शन के माध्यम से अपना विरोध दर्ज करावेगें ।श्री राठौर ने जिले के सभी तहसील ब्लाक संगठनों से आज होने वाले धरना प्रदर्शन में अपने अपने बैनर्स के साथ अनिवार्यरूप से उपस्थित रहने की अपील की है ।


भागवत कथा मे सात दिनों तक बहेगी ज्ञान गंगा
  • श्रीमद भागवत कथा स्वयं भगवान श्रीकृष्ण का साक्षात स्वरूप- अनुपानंदजी महाराज

झाबुआ । श्री वदमवंशीय मेवाडा राठौर तेली समाज द्वारा स्थानीय राठौर समाज की धर्मशाला में  कानपुर उत्तर प्रदेकश के आचार्य पण्डित अनुपानंदजी महाराज भगवताचार्य के मुखरबिन्द से श्रीमद भागवत सप्ताह का आयोजन बुधवार से किया गया।कथा आयोजन समिति के शांतिलाल राठौर एवं प्रवीण राठौर ने बताया कि विधि विधान से श्रीमद भागवतजी की प्रतिष्ठा पूजनादि के बाद व्यास पीठ पर बिराजित पण्डित अनुपानंद भगवताचार्य ने प्रथम दिवस श्रीमद भागवत माहात्म्य बताते हुए कहा कि बिनु परतीती होई नहीं प्रीति अर्थात माहात्म्य ज्ञान के बिना प्रेम चिरंजीव नहीं होता, अस्थायी हो जाता है। धुंधकारी चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आत्मसात कर लेें तो जीवन से सारी उलझने समाप्त हो जाएगी। द्रौपदी, कुन्ती महाभागवत नारी है। कुन्ती स्तुति को विस्तारपूर्वक समझाते हुए परीक्षित जन्म एंव शुकदेव आगमन की कथा सुनाई। उन्होने गौकर्ण की कथा सुनाई गई।शास्त्री जी महाराज ने कहा कि भगवान की लीला अपरंपार है। वे अपनी लीलाओं के माध्यम से मनुष्य व देवताओं के धर्मानुसार आचरण करने के लिए प्रेरित करते हैं। श्रीमदभागवत कथा के महत्व को समझाते हुए कहा कि भागवत कथा में जीवन का सार तत्व मौजूद है आवश्यकता है निर्मल मन ओर स्थिर चित्त के साथ कथा श्रवण करने की। भागवत श्रवण से मनुष्य को परमानन्द की प्राप्ति होती है। भागवत श्रवण प्रेतयोनी से मुक्ति मिलती है। चित्त की स्थिरता के साथ ही श्रीमदभागवत कथा सुननी चाहिए। भागवत श्रवण मनुष्य केे सम्पूर्ण कलेश को दूर कर भक्ति की ओर अग्रसर करती है। उन्होंने अच्छे ओर बुरे कर्मो की परिणिति को विस्तार से समझाते हुए आत्मदेव के पुत्र धुंधकारी ओर गौमाता के पुत्र गोकरण के कर्मो के बारे में विस्तार से वृतांत समझाया ओर धुंधकारी द्वारा एकाग्रता पूर्ण भागवत कथा श्रवण से प्रेतयोनी से मुक्ति बताई तो वही धुंधकारी की माता द्वारा संत प्रसाद का अनादर कर छल.कपट से पुत्र प्राप्ती ओर उसके बुरे परिणाम को समझाया।मनुष्य जब अच्छे कर्मो के लिए आगे बढता है तो सम्पूर्ण सृष्टि की शक्ति समाहित होकर मनुष्य के पीछे लग जाती है ओर हमारे सारे कार्य सफल होते है। ठीक उसी तरह बुरे कर्मो की राह के दौरान सम्पूर्ण बुरी शक्तियॉ हमारे साथ हो जाती है। इस दौरान मनुष्य को निर्णय करना होता कि उसे किस राह पर चलना है। छल ओर छलावा ज्यादा दिन नहीं चलता। छल रूपी खटाई से दुध हमेशा फटेगा। छलछिद्र जब जीवन में आ जाए तो भगवान भी उसे ग्रहण नहीं करते है- निर्मल मन प्रभु स्वीकार्य है। छलछिद्र रहित ओर निर्मल मन भक्ति के लिए जरूरी है।पहले दिन भगवान के विराट रूप का वर्णन किया गया। इसे सुन श्रद्धालु भाव-विभोर हो गए।

सार्वजनिक गणेषमंडल की पेषकष, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन 2 सितम्बर को

jhabua news
झाबुआ । सार्वजनिक गणेश मंडल राजवाडा चैक के तत्वावधान में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन 2 सितम्बर शनिवार को किया जारहा है । हास्य,वीररस एवं श्रृगाररस के लगभग 7 कवि अपनी रचनाओं के माध्यम से श्रोताओं का मनोरंजन करेगें । तैयारियों को लेकर कवि सम्मेलन के पोस्टर का विमोचन मंगलवार रात्री मे राजवाडा स्थित श्री सत्यनारायण मंदिर पर किया गया । कार्यक्रम के संयोजक नीरजसिंह राठौर एवं मनीष व्यास ने बताया कि अखिल भारतीय कवि सम्मेलन को लेकर तैयारिया जारी है । प्रदेश एवं देश  मे पचाने जाने वाले 7 कवियों को इस बार झाबुआ आमन्त्रित किया गया है । 5 हास्य, 1 वीर रस एवं 1 श्रृंगार की कवियित्री काव्य रचनाये प्रस्तुत करने हेतु पधार रहे है । आमन्त्रित कवियों में कैलाश मन्देला हास्यरस भीलवाडा राजस्थान, दिनेश बंटी हास्य रस जयपुर राजस्थान, डा. शंभूसिंह मनहर वीररस खरगौन, अतुल ज्वाला हास्यरस इन्दौर, असीम शुक्ला हास्यरस उत्तरप्रदेश डा. व्रेरणा ठाकरे श्रृंगार रस नीमच एवं शंकरसिंह सिसौदिया हास्यरस महिदपुर उपस्थित रहेगें । सूत्रधार होगें हास्यकवि धीरजशर्मा नालछा । कार्यक्रम को लेकर प्रचार प्रसार का दौर शुरू हो गया है । मंगलवार को किये गये पोस्ट विमोचन8 में राजेन्द्र प्रसाद अग्निहौत्री, नानालाल कोठारी, जितेन्द्र अग्निहौत्री, रविराजसिंह राठौर, डा.केके त्रिवेदी, निरंजनसिंह चैहान, सौभाग्यसिंह चैहान, जनार्दन शुक्ला,भागवत शुक्ला, जैमिनीशुक्ला, अजय रामावत, भेरूसिंह चैहान, ऋतुरातसिंह राठौर, सहित सार्वजनिक गणेशमंडल के पदाधिकारी बडी संख्या में उपस्थित थे । कवि सम्मेलन आयोजन को लेकर तैयारिया जोरो पर शुरू हो चुकी है ।

आगामी दिनों मे नगर को मिलेगी अनूठे कार्यक्रम की सौगात, आसरा पारमार्थिक ट्ररूट की बैठक मे हुआ निर्णय

jhabua news
झाबुआ । आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट की बैठक एक नीजि गार्डन में संपन्न हुई । जिसमें दो तपस्चियों का सम्मान किया गया व आगामी दिनों में झाबुआ में एक अनुठे कार्यक्रम के आयोजन का निर्णय लिया गया । संस्था की अध्यक्षा श्रीमती वंदना व्यास ने बताया कि आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के सदस्यों की बैठक में अनेक विषयों पर चर्चा हुई जिसमें यह तय किया गया कि आगामी दिनों में नगर के लोगों के बीचएक ऐसा अनुठा आयोजन किया जाए जिससे लोगों के स्वास्थ्य संबंधि रोगों का निदान हो सकें । सेवा प्रकल्प के अध्यक्ष अजय रामावत ने सदस्य संख्या बढाये जाने पर जोर दिया । सचिव रविवराजसिंह राठौर ने कम उपस्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सामाजिक दायित्व निभाने में हमे कभी पीछे नही हटना चाहिये। कार्यक्रम के दौरान चातुर्मास में संगठन के सदस्य इन्दरसेन संघवी एवं श्रीमती संघवी द्वारा सिऋीतप किये जाने पर उनका बहुमान किया गया । प्रसादी के लाभार्थी अशोक शर्मा रहे । इस अवसर पर संस्थापक अध्यक्ष राजेश नागर, कुंता सोनी ने भी अपने विचार व्यक्त किये । बैठक के दौरान जयंतीलाल राठौर, हसुमति परिहार, चंचला सोनी, लक्ष्मीकांत सोनी, आतिथ्य देशलहरे, भारती राठौर, पण्डित द्विजेन्द्र व्यास, अब्दूलरहीम, प्रकाश जेन, कमलेश सोनी, सीमा चैहान, मनीष बैरागी, सुधीर कुशवाह सहित बडी संख्या में सदस्यगण उपहिस्थत थे । संचालन संस्थापक सचिव नीरजसिंह राठौर ने किया आभार अशोक शर्मा ने माना ।


तय होगा किसान की फसल का औसत दाम, समर्थन से कम मिलेगे तो भावांतर योजना में अंतर की राशि सरकार देगी

jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश में खेती को लाभ का धंधा बनाने की ओर सरकार ने बडा कदम उठाया है। अब प्रदेश में किसानो को उनकी उपज का कम मूल्य मिलने पर नुकसान की चिंता नहीं करना पडेगी, अब फसल का समर्थन मूल्य तय किया जाएगा। यानी अब किसानो को फसलों के उचित दाम मिल सकेगे। मध्यप्रदेश सरकार ने फसलो के उचित मूल्य दिलाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भावांतर योजना लागू कर दी है। किसानो की बाजार जोखिम कम करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने भावांतर भुगतान योजना शुरू की है। भावांतर योजना के तहत अब प्रदेश में फसलो की कीमत बाजार में समर्थन मूल्य से कम होने पर सरकार अंतर की राशि सीधे किसानो के बैंक खाते में जमा कराएगी। इसके लिए सरकार द्वारा फसल का समर्थन मूल्य तय किया जायेगा। बाजार में बेची गई उपज की कीमत और समर्थन मूल्य के बीच की राशि को भावांतर योजना में किसानो को सरकार द्वारा भुगतान किया जाएगा। इस योजना का लाभ किसानो को इसी खरीफ सीजन से मिलेगा। इसके लिए 11 सितम्बर से किसानो के पंजीयन का काम शुरू होगा।

औसत के आधार पर निकलेगा समर्थन मूल्य
ऐसा नहीं है कि किसानो को मंडी में फसल बेचने के तुरंत बाद ही अंतर की राशि का भुगतान कर दिया जाएगा। बल्कि खरीदी सीजन के दो माह का औसत निकाला जाएगा, कि उस अवधि में उपज का क्या दाम मंडियों में रहा। इतना ही नहीं इसके लिये म.प्र. सहित दो अन्य राज्यों में चल रहें दामों को मिलाकर गणना की जाएगी और तीनों राज्यों का एक तिहाई मिलाकर कुल औसत निकाला जाएगा, इसके आधार पर समर्थन मूल्य तय होगा। यह भी हो सकता है कि यह समर्थन मूल्य किसानो द्वारा बेचे गये फसल के दाम से कम आये। यदि समर्थन मूल्य ज्यादा रहा और किसानो ने कम दाम में बेचा तो उसके अंतर की राशि किसानो के बैंक खाते में जमा होगी।

किसान को घोषणा पत्र देना होगा
भावांतर योजना का लाभ लेने के किसानों को घोषणा पत्र देना होगा। इसमें उसे बोया गया क्षेत्र, मंडी की नीलामी पर्ची, आधार कार्ड नंबर देना होगा। इसका सत्यापन पटवारी करेगे।

रोजगार मेला 1 सितम्बर को पेटलावद में
    
झाबुआ । जिला रोजगार कार्यालय झाबुआ द्वारा खुशबू गार्डन परिसर पेटलावद जिला झाबुआ में 01 सितम्बर 2017 को रोजगार मेले का आयोजन प्रातः 10.30 बजे से सांय 4.00 बजे तक किया जाएगा । मेले में झाबुआ जिले के शिक्षित बेरोजगार आवेदकों जिनकी उम्र 18 से 30 वर्ष तक एवं शैक्षणिक योग्यता कक्षा 8 वी से स्नातक, आईटीआई उत्तीर्ण हो, को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाये जायेगे, आवेदक मेले में शैक्षणिक योग्यताओं की अंकसूची, रोजगार कार्यालय का पंजीयन, जाति एवं मूल निवासी के प्रमाण पत्रों की छायाप्रति एवं मूल अभिलेखों, पासपोर्ट साईज 5 फोटो, वोटर आईडी, आधार कार्ड, राशन कार्ड लेकर उपस्थित हो सकते है। इस रोजगार मेले में औद्योगिक संसथान मे 03-04 कम्पनियां उपस्थित हो रही है। इस रोजगार मेले में निजी संस्थानों द्वारा लगभग 200-300 आवेदकों का चयन संस्थान के मापदण्डों के अनुसार किया जाएगा ।

आंगनवाडी केन्द्र के रिक्त पंदो की पूर्ति के लिए आवेदन आमंत्रित

झाबुआ । परियोजना कार्यालय मेघनगर अन्तर्गत स्वीकृत आंगनवाडी केन्द्रो में आंगनवाडी कार्यकत्र्ता/सहायिका के रिक्त पदो की पूर्ति के लिए 05 सितम्बर 2017 तक आवेदन आमंत्रित किये गये है। आवेदक संबंधित परियोजना कार्यालय पर सम्पर्क कर कार्यालयीन समय 12.00 से 4.00 बजे तक आवेदन जमा कर सकते है। आवेदन परियोजना कार्यालय से प्राप्त किये जा सकते है। अधिक जानकारी के लिए परियोजना कार्यालय मे संपर्क करे।

जिले में अब तक कुल 690.9 मि.मी. औसत वर्शा दर्ज, 24 घण्टो में कुल 14.0 मि.मी. वर्षा दर्ज

झाबुआ । अधीक्षक भू-अभिलेख झाबुआ ने बताया कि जिले में 1 जून से आज दिनांक तक कुल 690.9 मि.मी. औसत वर्शा हो चुकी है। जिले में विगत 24 घण्टों के दौरान औसत 14.0 मि.मी. वर्शा दर्ज की गई। विगत 24 घण्टो में झाबुआ तहसील में 51.6 मि.मी, रामा तहसील में 7.5 मि.मी., रानापुर में 15.0 मि.मी., थांदला तहसील में 2.0 मि.मी., मेघनगर में 20.0 मि.मी., पेटलावद में 3. 2 मि.मी., वर्शा दर्ज की गई है।

थांदला में सकंल्प से सिद्धि कार्यक्रम का आयोजन हुआ
  • 2022 तक गाॅव के विकास के लिए जनप्रतिनिधियों ने लिया संकल्प

झाबुआ । शासन के निर्देशानुसार भारत छोडो आंदोलन की 75 वी वर्ष गांठ पर न्यू इण्डिया मंथनः संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम का आयोजन आज 30 अगस्त को थांदला जनपद में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में पंचायतराज संस्थाओ के निर्वाचित जन प्रतिनिधियो का सम्मेलन आयोजित कर न्यू इण्डिया मंथन का संकल्प करवाया गया। कार्यक्रम में, जनपद अध्यक्ष गेंदाल डामोर, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमना भिडे, जनपद सीईओ थांदला मीना झा, एसडीएम थांदला श्री दर्रोह एवं पंचायत राज संस्थाओ के निर्वाचित जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। कार्यक्रम में गाॅव के विकास के लिए सभी को संकल्प करवाया एवं गाॅव का विकास करने के लिए सरपंचों को बताया गया कि सन् 2022 तक सरपंच प्रत्येक गाॅव के प्रत्येक घर एवं प्रत्येक किसान के यहां बिजली पहंुचाये, हर परिवार के पास शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करे। गाॅव को खुले में शौच से मुक्त करने के लिए प्रत्येक घर में शौचालय निर्माण करवाये। गाॅव को कीचड मुक्त करने हेतु सडक निर्माण करवाये, गाॅव में शत-प्रतिशत साक्षरता के लिए पहल करे। बच्चो का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करे। हर जरूरत मंद को आवास, खाद्यान्न एवं सामाजिक पेंशन का लाभ दिलवाये, गाॅव के सभी व्यक्तियों के बैंक खाते खुलवाये हर खेत तक पानी पहंुचाने को प्राथमिकता दे। हर गाॅव में स्वयं सहायता समूह बनवाकर उन्हें आत्म निर्भर बनवाये, हर गाॅव को वृक्षों से आच्छादित करे, गाॅव को गरीबी मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त, सम्प्रदाय मुक्त, जातिवाद मुक्त उन्नत गाॅव बनाये। कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों से बालिकाओं का विवाह 18 साल से कम उम्र में नहीं करने एवं उनकी पढाई पूरी करवाने तथा दहेज दापा प्रथा को गांव से समाप्त करने का संकल्प भी करवाया गया।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह 1 से 7 सितम्बर तक आयोजित होगा

झाबुआ । प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी 01 से 07 सितम्बर 2017 के दौरान राष्ट्रीय पोषण सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। पोषण सप्ताह के दौरान आंगनवाडी केन्द्रो पर पोषण जागरूकता को बढावा देने के लिए ग्रामीणो को समझाया जाएगा, पोषण विविधता के बारे में बताया जाएगा, स्थानीय खाद्य सामग्री के उपयोग को बढावा देने की सलाह दी जाएगी। किचन गार्डन लगाने हेतु महिलाओं को प्रेरित किया जाएगा। पोषण सप्ताह के दौरान पोषण आनंद मेला आयोजित होगा। मेले में अपना पोषण अपने हाथ पर आधारित पोषण आनन्द मेला का आयोजन जिला स्तर पर होगा। मेले का आयोजन होम साइंस काॅलेज एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के समन्वय से किया जाएगा। इस संबंध में आज जिले में कार्यशाला का आयोजन कर महिला बाल विकास विभाग के मैदानी अमले को आवश्यक निर्देश दिये गये। कार्यशाला में जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री जमरा, महिला बाल विकास अधिकारी श्री चैहान सहित शासकीय सेवक उपस्थित थे।

अवैध शराब का अपराध पंजीबद्ध
      
झाबुआ । आरोपी प्रकाश पिता दिपा मचार उम्र 28 साल निवासी गवसर के अवैध कब्जे से 3960/-रू0 की 36 बियर ब्लेक फोर्ट कंपनी की शराब जप्त कर गिर. किया गया। प्रकरण में थाना रानापुर में अपराध क्रं0 401/17 धारा 34-ए आब. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

दुर्घटना के दो अपराध पंजीबद्ध
      
झाबुआ । फरि. राजमल पिता सदिया हटिला उम्र 27 साल निवासी ग्राम बावड़िया ने बताया कि आरोपी स्कूटी चालक क्रं. एमपी-45 एमइ-1207 ने फरि. की माॅं को पिछे से टक्कर मार कर चोट पहुचायी । प्रकरण में थाना कोतवाली में अपराध क्रंमाक 686/17 धारा 279,337 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। फरि. गोबाजी पिता नाथु मेडा उम्र 50 साल निवासी दुलाखेडा ने बताया कि आरोपी बस चालक क्रं. एमपी-14 ईए-0128 का चालक ने तेज गति व लापरवाही पूर्वक बस चालकर लाया व फरि. की भैस को टक्कर मार कर चोेंट पहुचायी । प्रकरण में थाना पेटलावद में अपराध क्रंमाक 406/17 धारा 279,337 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

 अज्ञात की मोत
     
झाबुआ ।  अज्ञात मृतक पुरूष उम्र 50 साल लगभग की चोट के कारण मृत्यु हो गयी। थाना मेघनगर में में मर्ग क्रमांक 38/2017 धारा 174 जा.फौ. की कायमी की गयी।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...