झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 अगस्त

सरकार कब तक करेगी पारा की अनदेखी, तहसील नही बनाए जाने पर आमजन मे आक्रोश
  •  आगामी निर्वाचन मे सभी पार्टीयो को करना पढ सकता हे मुसीबत का सामना

पारा ; अनिल श्रीवास्तव द्धगत दिनो राज्य सरकार द्वारा अचानक झाबुआ जिले के रामा/कालीदेवी को तहसील बनाए जाने की घोषणा के बाद से पारा नगर सहीत आसपास के ग्रामीण क्षेत्र मे प्रदेश की सरकार व मुख्यमंत्री शिवराज सिह चोहान मंत्री मण्डल के प्रति भारी आक्रेाश हे। जिसका खामियाजा मुख्यमंत्री व भाजपा की सरकार को आने वाले लोकसभा व विधान सभा चुनाव मे उठाना पढेगा। क्षेत्र की जनता का प्रदेश सरकार व जन प्रतिनिधियो के द्वारा कि जारही लगातार की वादा खीलाफी व उपेक्षा के चलते काफी आक्रोश फुटकर सामने आ रहा हे व मतदान नही करने का मन बना रही हे। ज्ञात हे कि विगत कई वर्षो से क्षेत्र की जनता द्वारा पारा नगर को तहसील का दर्जा देने ,ब्लाक कार्यालय बनाने व पुलिस थाना बनाने की मांग समय समय पर करती आरही हे। क्षेत्र के विधायक व सांसद ने भी इन मांगो को शिध्र पुरा करने के लिए कई बार आश्वासन दिया था। बावजुद इसके इन मांगो का आज तक कोई समाधान नही हुआ। उलटे प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय से जनता की समस्या हल होना तो दुर परेशानी बडेगी।


यु होगी परेशानी--- वर्तमान मे पारा क्षेत्र की तहसील झाबुआ हे। जोकि पारा से मात्र 15 किलो मीटर व क्षेत्र के ग्राम सागीया तेजारीया कलमोडा से करिब 50 किलांे मीटर दुर हे। जोकि सीघे झाबुआ जाती हे। वही रामा कालीदेवी को तहसील बनाने के बाद यह दुरी पारा के लिए करिब 35 किलोमीटर व सागीया तेजारीया के लिए 70 से 80 किलोमिटर दुर हो जावेगी। अधिकांश लोगो को रामा कालीदेवी झाबुआ होकर ही जाना पढेगा हें। जिसमे समय ओर पेसा दोनो का बोझ आम जन पर पडेगा। वही रामा के लिए आवागमन के साधन भी नही के बाराबर हे। अर्थात किसी भी काम के लिए रामा जाना होतो स्वयं का वाहन होना बहुत जरुरी हे। नही तो आम आदमी न तो समय पर रामा पहुच पाएगा ओर न ही समय पर वापस अपने घर पहुच सकेगा।

कई मर्तबा दिए आवेदन-- पारा नगर मे तहसील, ब्लाक,खेल मेदान व थाना बनाने के लिए क्षेत्र के नागरीको व समाजीक कार्यकर्ताओ ने कई बार आवेदन दिए। ग्राम उदय से भारत उदय, पंचायत की वार्षीक सभा सहीत कलेक्टर यहा तक की जिले व नगर के प्रवास पर आए प्रदेश मुखीया शिवराजसिह चोहान तक को उक्त मांगो को लेकर आवेदन दिए साथ ही देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी इस बाबत पत्र दिया था । आसपास के ग्रामीण क्षेत्र मे भी ग्राम उदय से भारत उदय मे पारा को तहसील बनाने के आवेदन आमजन द्वारा दिए गये ।इन दिए गए सभी आवेदन पर जिला प्रसाशन व राज्य शासन के क्या कारवाही की इस का अंदाज इस घोषणा के बाद सहज ही लगाया जासकता हे। ये सब ग्राम उदय से भारत उदय अभीयान महज कागजी खाना पुर्ति करने का एक ढकोसला के अलाव कुछ नही।

ये हे पार क्षेत्र की परीधी-- पारा क्षेत्र की परिधी करिब 40 किलांमीटर के लगभग हे । जो कि छापरी रणवास, दात्या घाटी, तेजारीया से लेकर रजला वागलावट तक व बेहडी दोलतपुरा से लेकर खयडु धांधलपुरा तक हे। जिसमे 26 से ज्यादा ग्राम पंचायत हे जिनकी आबादी करिब 60 हजार से ज्यादा हे। बावजुद इसके आमजन की सुविधा के लिए आजतक कीसी भी सरकार ने इस क्षेत्र के नागरीको के लिए कोई कारवाही नही की।

नही होती हे कारवाही-- गत वर्ष भी नगर सहीत आसपास के नगारीको ने सीएम हेल्प लाईन पर सेकडो लोगो ने इसी बाबात शीकायत दर्ज करवा कर तहसील व ब्लाक बनाने की मांग की थी। लेकिन आज तक कोई हल नही हुआ। ठीक उसके विपरीत रामा कालीदेवी क्षेत्र को बिना मांगे तहसील, आई टी आई कालॅज खेल मेदान आदी कई सोगाते दी हे यह आश्र्चय की बात हे।

निषक्रिय हे जन प्रतिनिधि -- पारा क्षेत्र के समस्त जन प्रतिनिधि निषक्रिय हे जो कि केवल चुनाव के समय ही जागते हे। वही विधायक व सांसद ने भी इस क्षेत्र मे भाषण बाजी व थोथी घोषणा के अलावा कुछ नही किया हे।क्षेत्र की विघायक तो पारा को सोताला ही समझ रही हे। विधायक का चुनाव जितने के बाद उन्होने पारा की तरफ मुड कर भी नही देखा। यह अलग बात हे कि वे गाहे बगाहे पार्टी के  किसी कार्यक्रम मे कुछ देर के लिए दिखाई देती हे। आम जन से उनका कोई सरोकार नही हे। उनके द्वारा पारा मे कई घोषणा की गई पर वे सीर्फ घोषणा ही रही।यहा तक की मुक्तीधाम की बाउन्ड्री वाल निर्माण की घोषणा कर के भी वे भुल गई जिसकी पांच लाख की राशी आजकत प्राप्त नही हुई।


यह हे नागरीको का अभिमत---पारा क्षेत्री जनता का यह कहना हे की पारा क्षेत्र के राजस्व से संबधीत समस्त कार्य पुर्ववत झाबुआ तहसील से ही हो। जिससे की उनको किसी प्रकार की कठीनाई का सामना नही करना पढे। साथ इससे आम जन को राहत भी मिलेगी । पेसा व समय की बचत भी रहेगी।

सार्वजनिक गणेष मंडल मे हुआ महा आरती का आयोजन, आज होगा प्रष्नमंच का अभिनव एवं रोचक कार्यक्रम

झाबुआ । सार्वजनिक गणेशोत्सव में बुधवार की रात को स्थानीय राजवाडा चैक स्थित श्री सत्यनारायण मंदिर में सार्वजनिक गणेश मंडल झाबुआ द्वारा महा आरती का आयोजन किया गया । समिति के महासचिव नानालाल कोठारी एवं रविराज राठौर ने बताया कि भगवान श्रीगणेश जी की 108 दीपक से बडी संख्या में उपस्थित पुरूष एवं महिला श्रद्धालुओं द्वारा महा आरती की गई । इस अवसर पर डा. केके त्रिवेदी, राजेन्द्र अग्निहौत्री, कीर्ति भावसार, लालसिंह राठौर, सौभाग्यसिंह चैहान, जितेन्द्र शाह, जैमिनी शुक्लरा, भागवत शुक्ला, जितेन्द्र अग्निहौत्री, महेश पाण्डे, राजेन्द्र शाह, राजेन्द्रकुमार सोनी, सहित बडी संख्या में श्रद्धालुजनों एवं महिलाओं ने भगवान श्रीगणेश एवं श्री सत्यनारायण जी की महा आरती की । इस अवसर पर भगवान श्री गणेशजी को 501 लड्डूओं का नैवेद्य भी अर्पित किया गया ।  महा आरती के बाद मारूति रामाण मंडल रानापुर द्वारा संगीत मय सुंदरकांड की प्रस्तुति दी गई । नानालाल कोठारी ने बताया कि आज 1 सितम्बर को बहुप्रतिक्षित प्रश्नमंच का कार्यक्रम आयोजित किया जावेगा जिसमें नगर की 12 उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों के छात्र-छात्राओं की टीमे भाग लेगी । रात्री 8 बजे से 10 बजे तक आयोजित होने वाले इस प्रश्नमंच कार्यक्रम में मनीष त्रिवेदी एवं सौभाग्यसिंह चैहान द्वारा छात्र छात्राओं को सम सामयिक विषयों पर सामान्य ज्ञान पर आधारित प्रश्न पुछे जायेगें । विजेता टीमों को प्रथम पुरस्कार 2500 रु. द्वितीय पुरस्कार 2000 रु. एवं तृतीय पुरस्कार 1500 रूपयेतथा शिल्ड प्रदान की जायेगी । तथा प्रत्येक सहभागी छात्र-छात्राओं को सान्त्वना पुरस्कार दिये जायेगें । संयोजक राजेन्द्र कुमार सोनी एवं हर्ष भट्ट ने बताया कि प्रश्नमंच के दौरान दर्शकों से भी प्रश्न पुछे जायेगें तथा सही उत्तर देने वाले दर्शकों को हाथो हाथ पुरस्कार दिया जायेगा । मंडल के अध्यक्ष राजेन्द्र अग्निहौत्री ने नगर के सभी नागरिकों से इस अभिनव एवं रोचक कार्यक्रम में सहभागी होकर कायक्रम को सफल बनाने की अपील की है ।

भगवान सिद्धी विनायक को छप्पन भोग का नैवेद्य अर्पित, महा आरती कर प्रसादी वितरित की ।

jhabua news
झाबुआ । विवेकानंद कालोनी में स्थापित किये गये  सर्वोदय बाल गणेश मंडल में बुधवार की रात्री को भगवान श्री गणेश को छप्पन भोग का नैवेद्य अर्पित किया गया तथा महा आरती का आयोजन किया गया । इस अवसर पर नीतिन यादव, मधुसुदन शर्मा, शैलेन्द्र शर्मा, सुभाष वर्मा, धर्मेन्द राठौर, अनिल सोनी, बाबुलाल परमार, पुष्पेन्द्र शर्मा, मोह नलाल व्यास, शंकर गोलानी, शारदा शर्मा, उर्मीला राठौर, धर्मिष्ठा शर्मा, शशिकला वर्मा, भंवरकुवर वर्मा, निर्मला परमार, सुनिता निंगवाल,प्रेमलता चैहान, गंगा भीडे सहित बडी संख्या में बच्चों ने गणेश जी जय जय कारों केसाथ महा आरती मे भाग लिया ।

चिंतामण गणेष मंदिर में महाआरती का हुआ आयोजन, 101 किलो लड्डूओं ंकी प्रसादी का किया वितरण

झाबुआ। शहर के थांदला गेट पर स्थित श्री चिंतामण गणेष मंदिर में चिंतागण गणेष मंदिर समिति द्वारा गणेषोत्सव पर्व के छटवें दिन बुधवार रात 8 बजे महाआरती का आयोजन किया गया। महाआरती पश्चात् महाप्रसादी के रूप में 101 किलो लड्डूओं का प्रसाद वितरित किया गया। महाआरती करने का लाभ वरिष्ठ समाजसेवी विद्याचरण शर्मा एवं उनके परिवारजनों द्वारा लिया गया। इस अवसर पर समिति से जुड़े राजेन्द्र जैन ‘षुभम’, कमलेष पटेल, पंकज सांकी, निर्मल आचार्य, संदीप जैन ‘राजरतन’, अमित जैन, निलेष घोड़ावत के साथ सकल व्यापारी संघ के अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, कोषाध्यक्ष राजेष शाह, हरिष शाह, लालाभाई शाह, राजवाड़ा मित्र मंडल के गोपाल नीमा, पंकज चैहान, ओपी राय, जितेन्द्र पटेल, अंकुष कांठी के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने शामिल होकर गणेषजी की महाआरती करने का लाभ लिया। पश्चात् भारत माता की आरती भी हुई। आरती पश्चात् विघ्नहर्ता श्री गणेषजी एवं भारत माता के जयकारे भी लगाए गए।

भगवान का किया मनमोहक श्रृंगार
पर्व के छटवें दिन बुधवार रात मंदिर में चिंतागण श्री गणेषजी एवं माता रिद्धी-सिद्धीजी की मनमोहक श्रृंगार मंदिर के पूजारी मनोज सारोलकर द्वारा किया गया। महाप्रसादी का आयोजन राजवाड़ा मित्र मंडल की ओर हुआ। पर्व को लेकर मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा भी की गई एवं प्रतिदिन सुबह से रात तक दर्षन के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रहीं है।

पेंषन हित लाभ को प्रभावित करने वाली धारा 72 को हटाने के लिये पेंषनरों ने प्रधानमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन
रैली निकाली और किया जंगी प्रदर्षन

jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ के पुनर्गठन अधिनियम 2000 में पेंशनर्स के हितो के विपरित किये गये प्रावधानों एवं धारा 72 को विलोपित करने तथा कर्मचारियों की तरह ही पेंशनरों को भी सांतवे वेतनमान के हितलाभ देने की मांग को लेकर गुरूवार को स्थानीय आम्बेडकर पार्क में जिला पेंशन एसोसिएशन द्वारा प्रान्तीय आव्हान पर जंगी धरना प्रदर्शन कर जिला प्रशासन के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा गया ।  जिला पेंशनर्स एसोसिएशन झाबुआ द्वारा आयोजित इस धरना प्रदर्शन आन्दोलन में जिले के सभी स्थानों से पेंशनरों एवं पदाधिकारियों ने सहभागिता की । करीब 500 पेंशनरों ने आम्बेडकर पार्क में नारे बाजी करके सांतवे वेतनमान का लाभ दिये जाने, धारा 72 को विलोपित करने तथा पेंशनरों को प्रतिमाह 1000 रुपये के मान से मेडिकल भत्ता दिये जाने के बारे में मांग की । इस अवसर परसंगठन के सरंक्षक डा.केके त्रिवेदी ने पेंशनरों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के पेंशनरों को पेंशन लाभ दिये जाने के लिये छत्तीसगढ सरकार की सहमति का जो प्रावधान धारपा 72 में किया गया है वह देश में कश्मीर में लागू धारा 370 के समकक्ष ही कहा जावे तो अतिशयोक्ति नही होगी । दो राज्यों के बीच अपने कर्मचारियों एवं पेंशनरों को लाभान्वित करने के लिये परस्पर सहमति की जो शर्ते डाली गई है वह पूरी तरह अव्यवहारिक होकर भारतीय संविधान के प्रावधानों के विपरित ही है । डा. त्रिवेदी ने कहा कि कुछ समय के लिये यह प्रावधान होने की बात तो समझ मे आती है किन्तु राज्यों के पुनर्गठन के 17 सालों के बाद भी इनका प्रभावशाील रहना समझ से परें है ।जबकि छत्तीसगढ राज्य ने छटवा वेतनमान मध्यप्रदेश के पहले दी दे दिया था जबकि दोनो राज्यों की स्थिति समकक्ष है । श्री त्रिवेदी ने कहा कि पेंशनरों के साथ प्रदेश सरकार का यह सौतैला व्यवहार कदापि सही नही कहा जासकता है । पेंशनर्स 40 सालों तक सरकार की सेवायेंक रने के बाद इस लाभ का हकदार होता है और पेंशनर मार्गदर्शक होकर घर के मुखिया के समान होता है जिसके कारण सरकारे तक बदल सकती है । उन्होने धारा 72 को तत्काल प्रभाव से खतम करने की मांग करते हुए बताया कि प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर प्रदेश सरकार के इस अविवेकपूर्ण व्यवस्था को समाप्त करने की मांग जायज है ।मध्यप्रदेश सरकार का स्वतंत्र अस्तित्व है फिर छत्तीसगढ की सहमति की जरूरत वाली बात समझ से परे है । श्री त्रिवेदी ने कहा कि सरकारे इस तरह के प्रावधान लागू करके निर्णयों को टालने की आदी है । अतः धारा 72 को तत्काल प्रभाव से समाप्त करना चाहिये । धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने प्रधानमंत्री के नाम से सौपे जाने वाले ज्ञापन की जानकारी देते हुए कहा कि यदि पेंशनरों की मांगे 7 सितंबर तक पूरी नही होती है तो 7 सितम्बर को राजधानी में पूरे प्रदेश के पेंशनर राज्यव्यापी धरना देगे तािा मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौपगें ।उन्होने पेंशनरों को 1000 रुपये प्रतिमाह मेडिकल भत्ता दिये जाने की मांग दुहराते हुए कहा कि वेतनमान का लाभ दिये जाने में परस्पर दोनों राज्यों की सहमति की बात हास्यास्पद है  । दूसरे राज्यों का भी पुनर्गठन हुआ है किन्तु वहां पर ये प्रावधान नही है और वे राज्य स्वतः ही निर्णय लेते है । इस अवसर पर थांदला संगठन के अध्यक्ष पीएल मोड, कल्याणपुरा के गोविन्दराम वर्मा, पेटलारवद के मूलचन्द काग ने भी अपने विचार व्यक्त किये । आम्बेडकर पार्क से सैकडो की संख्या में पेंशनरों ने नारे बाजी करते हुए रैली निकाली और कलेक्टर कार्यालय पहूंचें । जहां कलेक्टर के प्रतिनिधि डा. अभयसिंह खरारी डिप्टी कलेक्टर को प्रधानमंत्री एवं जिला कलेक्टर के नाम से दो ज्ञापन सौपे । ज्ञापन में मांग की गई है कि दो राज्यों के पुनर्गठन को आज 17 साल की अवधि हो चुकी है ुिर दोनों राज्यों की परस्पर सहमति पेंशनरों के हितलाभ के लिये क्यो जरूरी है ?दोनो ेही राज्यों के आय-व्यय अलग अलग है एवं परस्पर सहमति के प्रावधान के कारण केवल पेंशनरों को व्याकुल एवं नुकसान पहूंचता है । भारत सरकार पेंषनरों के आर्थिक देयकों पर दोनों राज्यों की पूर्व सहमति के लिये धारा 72 केा विलोपित करने का आदेश प्रदान करें । वही दूसरा ज्ञापन कलिेक्टर झाबुआ को भी ज्ञापन देकर पेंषनरों को संशोधित पेंशन लागू करने के लिये शासन से अनुसंशा करने का अनुरोध किया गया है ।ज्ञापन का वाचन केके त्रिवेदी ने किया । जिला प्रचार सचिव राजेन्द्र कुमार सोनी ने बताया कि पेंशनरों की इस धरना आन्दोलन मे पेटलावद, थांदला, मेघनगर, कल्याणपुरा, राम, पारा, झाबुआ, रानापुर सहित सभी स्थानों के पेंशनर एवं पदाधिकारियों, वािश्ठ नागरिक संगठन के अध्यक्ष विद्याराम शर्मा, डा. श्रीमती किरणबाला चतुर्वेदी, सुश्री डा. जयापाठक, श्रीमती कुंता सोनी, मुन्नीदेवी बाजपेयी, नवलसिंह नायक, भारतसिंह तोमर, गोविन्दराम वर्मा, मूलचंद काग श्रीनाथ चैहान, जयंतीलाल राठौर, समीउद्दीन सैयद, जयेन्द्र बैरागी, एजनलाल भानपुरिया सहित जिले भर के पेंशनर उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचाल पीडी रायपुरिया ने किया । आभार अरविन्द व्यास ने व्यक्त किया ।

नेशनल हाईवे की सड़क के बीचो-बीच बिखरी मिट्टी मौत को दे रहीं बुलावा, अब तक हो चुकी कई दुर्घटनाएं

jhabua news
झाबुआ। शहर से गुजरने वाले नेषनल हाईवे मार्ग पर विजय स्तंभ तिराहे से आगे जाने पर पुलिया पर बिखरी मिट्टी एवं कंकर बड़े हादसे को न्यौता देती दिखाई पड़ रहे है। आसपास मकान बनाने वाले व्यक्ति द्वारा मकान बनाने के बाद इसकी पूर्ण सफाई नहीं करवाए जाने से यह मौत को खुला आमंत्रण दे रहीं है। उल्लेखनीय है कि यह मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग के अंतर्गत आता है। जिसके चलते इस मार्ग से दिनभर हजारों छोटे एवं बड़े वाहनों का आवागमन लगा रहता है एवं यहां से गुजरते समय वाहनों की रफतार भी तेज होती है। ऐसे में सड़क पर बीचो-बीच अव्यवस्थित तरीके से बिखरी गिट्टी एवं कंकर से बड़ी दुर्घटना की यहां प्रबल संभावना बनी हुई है। इस कारण छोटी दुर्घटनाएं तो पूर्व में कई हो चुकी है।

प्रषासन घोर लापरवाह
आष्चर्य की बात यह है कि प्रषासन इस ओर कोई ध्यान क्यो नहीं दे रहा। नेषनल हाईवे हीं नहीं, यदि शहर की ही बात की जाए तो शहर के मुख्य बाजारों एवं गली-मौहल्लों में आए मकान एवं दुकान निर्माण कार्य के दौरान मिट्टी एवं पत्थर आदि सड़क पर संबंधित निर्माणकर्ताओं द्वारा रख दिए जाते है। जिससे यातायात तो प्रभावित होता हीं है, लेकिन बाद में इनकी पूर्ण सफाई की ओर भी ध्यान नहीं दिए जाने से अनेक दुर्घटनाएं भी होती है।

बड़े हादसे का इंतजार
नेषनल हाईवे पर भी बिखरी मिट्टी के भी यहीं हाल है, बताया जाता है कि यहां यह स्थिति करीब 15 दिनों से बनी हुई है और निरंतर दुर्घटनाएं भी हो रहीं है, लेकिन प्रषासन एवं नेषनल हाईवे विभाग देखकर भी मौन धारण किए हुए है और उन्हें किसी बड़े हादसे का इंतजार है, चूंकि समीप पुलिया भी है।

वरिष्ठ पत्रकार संजय जैन हुए घायल
बुधवार शाम को वरिष्ठ पत्रकार संजय जैन एवं उनकी धर्मपत्नी मोटरसाईकिल से मेघनगर से आते हुए दिलीप गेट से विजय स्तंभ तिराहे की ओर आ रहे थे, कि पुलिया के समीप ही बिखरी इस मिट्टी-कंकर के कारण उनकी बाईक बुरी तरह से स्लीप हो गई और उन्हें हाथ एवं पैर पर गंभीर चोट पहुंची। साथ ही उनकी पत्नी को भी दुर्घटना में चोटे आई। इस तरह का यह पहला हादसा नहीं है, इससे पूव र्भी इस मार्ग पर उक्त स्थिति के चलते कई दुर्घटनाएं हो चुकी है। इस ओर विभागीय जिम्मेदार अधिकरियों को अतिषीघ्र ध्यान देकर मार्ग की सफाई करवाने के साथ संबंधित के विरूद्ध सख्त कार्रवाई किए जाने की आवष्यकता है।

तेजा दशमी पर तोडी तांतीया

पिटोल - प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी पिटोल स्थित तेजाजी महाराज के मंदीर पर भव्य तेजा दशमी का आयोजन किया गया जिसमे ढ़ोल एवं बाजो के साथ रंग बिरंगे धर्म ध्वजाओ के साथ तेजाजी महाराज सुबह 9 बजे से पिटोल नगर के भ्रमण पर निकले कि पुरे नगर मे सभी मोहल्ले में भ्रमण कर दोपहर 12.30 बजे वापस विशाल जुलूस के रूप में मंदीर पहुॅचे इस विशाल जुलूश में पिटोल के मेवाड़ (गारी)    समाज द्वारा आयोजित किया जाता है जिसमें सभी समाज वर्गो  के लोगो शामिल होते हे जिसके पश्चात् मंदीर में दोपहर कि आरती कि गई इसके बाद में मंदीर के पण्ड़ा श्री गुड़ला भाई गारी ने बताया कि दिन भर जहरीले जानवरो द्वारा काटने वाली ताती तोड़ने का कार्य एवं धार्मिक कार्यक्रम होंगे ।

लापरवाह सरपंचो को धारा 40 का नोटिस जारी

झाबुआ । पंच परमेश्वर योजनान्तर्गत शासन द्वारा सी.सी.रोड निर्माण हेतु ग्राम पंचायतों को प्रदाय की गई राशि में से अधिकांश राशि ग्राम पंचायत के पास शेष रहने, शासकीय कार्य मेें लापरवाही एवं कार्य में रूचि न लेने से जनपद पंचायत पेटलावद की ग्राम पंचायत रताम्बा, जनपद पंचायत थांदला की ग्राम पंचायत मोरझरी, जनपद पंचायत मेघनगर की ग्राम पंचायत गुवाली, जनपद पंचायत झाबुआ की ग्राम पंचायत अंतरवेलिया, जनपद पंचायत रामा की ग्राम पंचायत डोकरवानी तथा जनपद पंचायत रानापुर की ग्राम पंचायत कंजावानी के सरपंच तथा सचिव को म.प्र. पंचायतराज अधिनियम 1993 की धारा 40 के अंतर्गत कार्यवाही हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ द्वारा नोटिस जारी किया गया है।

अगस्त माह में सेवानिवृत हुए शासकीय, सेवको को समारोह पूर्वक दी गई विदाई

jhabua
झाबुआ । जिले में पेंषन प्रकरणो के त्वरित निराकरण के लिए कलेक्टर के मार्गदर्शन में षासकीय सेवा से सेवानिवृत होने वाले षासकीय सेवको को समारोह पूर्वक समस्त भुगतानो को करने के लिए आज कलेक्टर कार्यालय में अगस्त 2017 में सेवानिवृत्त हुए जिले के षासकीय सेवको को समस्त स्वत्वों का भुगतान कर सम्मान पूर्वक विदाई दी गई।

सेवानिवृत्त षासकीय सेवको को सम्मानित किया गया
कलेक्टर कार्यालय के सभा कक्ष में सेवानिवृत्त हुए षासकीय सेवको को आज मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती जमना भिडे एवं जिला कोषालय अधिकारी श्रीमती ममता चंगोड द्वारा साल श्रीफल एवं पुष्पमाला पहनाकर सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित किया गया। सम्मान समारोह में सभी षासकीय सेवको को स्वत्वों के भुगतान संबंधी आदेष दिये गये। इस अवसर पर एटीओ श्री दिनेश पारगी, पेंषनर्स एसोसिएषन के सदस्य एवं सेवानिवृत्त होने वाले षासकीय सेवक उपस्थित थे। समारोह का आयोजन जिला प्रषासन द्वारा किया गया। समारोह में अधिकारियों एवं सेवानिवृत्त हो रहे षासकीय सेवको ने अपने अनुभव बाॅटे एवं आभार प्रर्दशन कोषालय अधिकारी श्रीमती ममता चंगोड ने किया।

ये हुवे सेवानिवृत्त
श्री भानुप्रसाद दुबे उप यंत्री कार्यपालन यंत्री पी.एच.ई.विभाग झाबुआ, श्री दलसिंह रावत कनिष्ठ लेखाधिकारी पिछडा वर्ग अल्प संख्यक कल्याण विभाग झाबुआ, श्री मानसिंह चैहान सहायक शिक्षक, शा.क.उ.मा.वि.भगोर, श्री अशोक भटनागर व्याख्याता शा.क.मा.वि.थांदला, श्री हरमनसिंह सिंगाडिया सहायक ग्रेड-2 शा.उ.मा.वि.रंभापुर,कैलाशचन्द्र डामर व्याख्याता शा.क.उ.मा.वि. थांदला, श्रीमती सरला आर्थर प्रधान पाठक शा.उ.मा.वि. काकनवानी, श्री प्रमोद कुमार कोशिक वनपाल वन अनुसंधान एवं विस्तार वृत झाबुआ, श्री फतेहसिंह गेहलोद केअरटेकर कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग झाबुआ, श्री शंकरलाल पटेल ए0व्ही0एफ0ओ. पशु चिकि.सेवाएं झाबुआ, श्री शांता लश्कर माली उद्यान विभाग झाबुआ एवं श्री चन्द्रशेखर वर्मा भृत्य पोलिटेकनिक काॅलेज झाबुआ आज शासकीय सेवा से निवृत्त हुवे।

नगरीय निकाय के निर्वाचित सदस्यों की प्रथम बैठक एवं उपाध्यक्ष निर्वाचन की प्रक्रिया करवाने हेतु अधिकारी नियुक्त
  • झाबुआ नगर पालिका परिषद का प्रथम सम्मेलन 8 सितम्बर को

झाबुआ । नगर पालिका झाबुआ एवं नगर परिषद पेटलावद, थांदला, रानापुर में परिषद की प्रथम बैठक की अध्यक्षता करने के लिये एवं उपाध्यक्ष के निर्वाचन के लिये कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आशीष सक्सेना ने राजस्व अधिकारियों को कार्यवाही तत्काल निर्धारित प्रक्रिया अनुसार सम्पन्न कराये जाने हेतु नियुक्त किया है। जारी आदेशानुसार श्री एसपीएस चैहान अपर कलेक्टर जिला झाबुआ को नगर पालिका परिषद झाबुआ की प्रथम बैठक का आयोजन एवं उपाध्यक्ष का निर्वाचन सम्पन्न कराने हेतु नियुक्त किया गया है। श्री आर एस बालोदिया अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ को नगर परिषद रानापुर के लिए , श्री सत्यनारायण दर्रोह  अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला को नगर परिषद थांदला के लिए, श्री चन्दरसिह सोलंकी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद को नगर परिषद पेटलावद की प्रथम बैठक का आयोजन एवं उपाध्यक्ष का निर्वाचन सम्पन्न कराये जाने हेतु नियुक्त किया गया है। झाबुआ नगर पालिका परिषद का प्रथम सम्मेलन तथा उपाध्यक्ष का निर्वाचन 8 सितम्बर को प्रातः 10.30 बजे से नगरपालिका परिषद कार्यालय झाबुआ के सभा कक्ष में संपन्न होगा।

एक से 7 सितम्बर तक आंगनवाडी केन्द्रो पर होगे आयोजन
  • राष्ट्रीय पोषण सप्ताह 1 से 7 सितम्बर तक आयोजित होगा

झाबुआ । प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी 01 से 07 सितम्बर 2017 के दौरान राष्ट्रीय पोषण सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। पोषण सप्ताह के दौरान आंगनवाडी केन्द्रो पर पोषण जागरूकता को बढावा देने के लिए ग्रामीणो को समझाया जाएगा, पोषण विविधता के बारे में बताया जाएगा, स्थानीय खाद्य सामग्री के उपयोग को बढावा देने की सलाह दी जाएगी। किचन गार्डन लगाने हेतु महिलाओं को प्रेरित किया जाएगा। पोषण सप्ताह के दौरान पोषण आनंद मेला आयोजित होगा। मेले में अपना पोषण अपने हाथ पर आधारित पोषण आनन्द मेला का आयोजन जिला स्तर पर होगा। मेले का आयोजन होम साइंस काॅलेज एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के समन्वय से किया जाएगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री जमरा, ने बताया कि पोषण सप्ताह के दौरान 1 सितम्बर को प्रथम दिवस पोषण परामर्श सत्र  आयोजित किया जाएगा। 3 सितम्बर को द्वितीय दिवस को पोषण बाल सभा तथा बच्चो में व्यक्तिगत स्वच्छता पर चर्चा की जाएगी बच्चो को सुबह का नाश्ता व खाना निर्धारित समय पर उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाएगा। 4 सितम्बर तृतीय दिवस को संतुलित पोषण थाली प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। 5 सितम्बर चतुर्थ दिवस को गोद भराई तथा पोषण परामर्श की नई व स्वादिष्ट रेसिपी की जानकारी हितग्राहियो को बताई जायेगी। 6 सितम्बर पंचम दिवस को पोषण दस्तक तथा पोषण प्रशनोत्तरी भरना, ग्राम की पोषण वाटिका का कृषि विभाग के कर्मचारियो के साथ भ्रमण एवं उपचार बच्चो को स्थानीय सहयोग से रूचिकर व पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। 7 सितम्बर पंचम दिवस को कन्या महाविद्यालयो में पोषण परिचर्चा तथा विद्यालयों में निबंध प्रतियोगिता ‘‘कैसा हो अपने गांव का संतुलित भोजन‘‘ विषय पर आयोजित की जाएगी। सब्जियो और फलों के बीज का वितरण कराया जायगा।

अपहरण के दो अपराध पंजीबद्ध
     
झाबुआ ।  अपहर्ता फिजाबी पति शमीर खाॅंन मुसलमान उम्र 18 साल निवासी रोजिया जो घर से शौच हेतु जाने कर कहकर गयी थी जिसे आरोपी विक्रम पिता गुमान डामोर निवासी रोजिया अपहरण कर ले गया। प्रकरण में थाना मेघनगर में अपराध क्रमांक 298/17 धारा 363 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।फरि. भुण्डा पिता थावरिया भाभर उम्र 48 साल निवासी कुण्डीयापाडा ने बताया कि मेरी लड़की सुनीता उम्र 17 साल घर से खवासा बाजार गई थी जिसे आरोपी कलसिंग पिता रणसिंग मईडा निवासी कुण्डीयापाडा का बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया। प्रकरण में थाना थांदला में अपराध क्रमांक 416/17 धारा 363 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

दहेज प्रताड़ना का अपराध पंजीबद्ध
झाबुआ।  फरि. रतनीबाई पति प्रेम निनामा उम्र 30 साल निवासी नवापाडा ने बताया कि आरोपी पे्रम पिता हिरा निनामा निवासी नवापाडा ने फरि. के साथ आये दिन गाली गलौच कर मारपीट कर मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित करता है व जान से मारने की धमकी दी। प्रकरण में थाना रायपुरिया में अपराध क्रंमाक 285/17 धारा 498-ए,506 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

अवैध शराब के तीन अपराध पंजीबद्ध
झाबुआ। आरोपी नाहरसिंह पिता तोलिया परमार उम्र 25 साल निवासी बखतपुरा के अवैध कब्जे से  1700/-रू0 की 14 नग बीयर प्रेसिंडेंड व 10 क्वार्टर अंग्रेजी गोवा कंपनी की शराब जप्त कर गिर. किया गया। प्रकरण में थाना कोतवाली में अपराध क्रं0 689/17 धारा 34-ए आब. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपी उदयसिंह पिता पारसिंह मचार उम्र 50 साल निवासी बेडावली के अवैध कब्जे से  400/-रू0 की महुआ शराब जप्त कर गिर. किया गया। प्रकरण में थाना मेघनगर में अपराध क्रं0 300/17 धारा 34-ए आब. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपिया इनाबाई पति मकना निनामा उम्र 25 साल निवासी बिपोली के अवैध कब्जे से 450/-रू0 की महुआ शराब जप्त कर गिर. किया गया। प्रकरण में थाना कल्याणपुरा में अपराध क्रं0 242/17 धारा 34-ए आब. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

मोटर सायकल की चोरी
झाबुआ । फरि. प्रितेश पिता मशुल डामोर उम्र 24 साल निवासी मदरानी ने बताया कि अपनी मो.सा. बजाज कंपनी की घर के सामने से लाॅक लगाकर खड़ी की थी जिसे अज्ञात बदमाश चुराकर ले गया। प्रकरण में थाना काकनवानी में अपराध क्रंमाक 281/17 धारा 379 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...