झारखंड में प्राकृतिक संपदा की कमी नहीं : द्रौपदी मुर्मू

jharkhand-have-enough-natural-resource-draupdi-murmu
डालटनगंज 31 अगस्त, झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने राज्य को संपदा से परिपूर्ण प्रदेश बताया और कहा कि यदि यहां मानव संपदा की स्थिति अच्छी हो जाये तो जल्द ही झारखंड देश का नंबर वन राज्य बन जायेगा। श्रीमती मुर्मू ने आज डालटनगंज के जीएलए कॉलेज स्थित सीआरपीएफ कैंप परिसर में नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रथम चांसलर ट्रॉफी कुश्ती प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड में प्राकृतिक संपदा तो खूब है, लेकिन मानव संपदा की स्थिति अच्छी नहीं है। मानव संपदा के विकास के लिए सरकार काम कर रही है और जल्द ही झारखंड देश का नम्बर वन राज्य बनेगा। उन्होंने कहा कि इसे सुधारने के लिए सरकार के साथ-साथ आम लोगों को भी आगे आने की जरूरत है। राज्यपाल ने पलामू को वीरों की भूमि बताया और कहा कि इस धरती पर नीलाम्बर-पीताम्बर जैसे वीर का जन्म हुआ था। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के भवन निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध हो गयी है, जल्द ही इस विश्वविद्यालय का अपना भवन होगा। उन्होंने कहा कि झारखंड के खिलाड़ियों अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेल के माध्यम से राज्य का नाम रौशन किया है। विश्वविद्यालयों के अंतर्गत आने वाले महाविद्यालयों में टेक्निकल सुविधा मुहैया कराया जा रहा है। साथ ही शैक्षणिक कलैंडर भी जारी किया गया है। उसी के अनुसार परीक्षा और परिणाम घोषित किये जा रहे हैं। इस मौके पर राज्य के स्वास्थ्यमंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, पलामू के सांसद विष्णुदयाल राम ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कुलपति डॉ. एसएन सिंह ने कहा कि झारखंड में विश्वविद्यालय स्तर पर पहली बार कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसकी मेजबानी विश्वविद्यालय को मिलना गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता से कुश्ती के प्रति रुचि जागरित होगी और खेल का माहौल बनेगा। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...