जैव डीजल पर कम हो कर की दर : गडकरी

less-tax-should-be-on-natural-disel-gadkari
नयी दिल्ली 10 अगस्त, सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने आज जैव डीजल पर कर की दर कम करने की माँग करते हुये कहा कि वह इस संबंध में वित्त मंत्री अरुण जेटली से बात करेंगे। श्री गडकरी ने यहाँ विश्व जैव ईंधन दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में जैव डीजल को 18 प्रतिशत के स्लैब में रखा गया है जो काफी ऊँची दर है। उन्होंने कहा “इस पर कर की दर पाँच प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिये। हम (वह और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान) मिलकर वित्त मंत्री से कहेंगे कि इसे पाँच प्रतिशत के स्लैब में लायें। हम उनसे बात करेंगे। ” कार्यक्रम में श्री प्रधान भी मौजूद थे। श्री गडकरी ने कहा प्रदूषण कम करने की दिशा में जैव डीजल पहला विकल्प है। डीजल में 15 प्रतिशत तक ईथेन मिलाकर उसे जैव डीजल बनाया जा सकता है। इससे एक तरफ देश पर कच्चे तेल आयात का बोझ कम होगा और दूसरी ओर प्रदूषण घटाने में भी मदद मिलेगी। यह संभवत: पहली बार है जब केंद्र सरकार के किसी मंत्री ने खुलकर जीएसटी के तहत किसी वस्तु पर कर कम करने की माँग की है। देश में इस साल 01 जुलाई से जीएसटी लागू किया गया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...