मोदी ने बाढ़ग्रस्त बिहार को हरसंभव मदद का दिया भरोसा, आकलन के लिए आयेगी केन्द्रीय टीम

modi-announcement-for-bihar-flood-releif
पटना 26 अगस्त, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाढ़ की विभीषिका झेल रहे बिहार को हर संभव सहायता देने का आश्वासन देते हुए आज कहा कि राज्य में बाढ़ से हुए नुकसान के आकलन करने के लिये केन्द्र की टीम यहां भेजी जायेगी, श्री मोदी सुबह करीब दस बजे पूर्णियां के चूनापुर स्थित सैन्य हवाई अड्डे पहुंचे। इसके बाद प्रधानमंत्री श्री मोदी , मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ बिहार के सर्वाधिक बाढ़ग्रस्त किशनगंज, अररिया, कटिहार एवं पूर्णियां जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया। हवाई सर्वेक्षण के उपरांत प्रधानमंत्री ने चूनापुर हवाई अड्डा पर उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की । बैठक में मुख्य सचिव श्री अंजनी कुमार सिंह ने राज्य की तरफ से प्रधानमंत्री के समक्ष विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया। मुख्यमंत्री ने भी प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री ने सभी बातों को गंभीरता के साथ स्वीकार किया। श्री मोदी ने कहा कि गैर परम्परागत क्षेत्र में आये बाढ़ से राज्य को काफी नुकसान हुआ है। नुकसान का आकलन करने के लिये केन्द्र सरकार की टीम बिहार आयेगी। प्रदेश को हर संभव सहायता दी जायेगी, साथ ही भविष्य में इंस्टीच्यूशनल व्यवस्था बनाने पर भी बल दिया जायेगा। प्रधानमंत्री ने तत्कालीन सहायता के रूप में 500 करोड़ रूपये बिहार को देने की घोषणा की साथ ही कहा कि राज्य सरकार से दिये जाने वाले ज्ञापन पर भी समुचित विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री राहत कोष से बाढ़ में मारे गये लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये तथा गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये का अतिरिक्त अनुदान दिया जायेगा। 


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री को बाढ़ से हुए नुकसान की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में इस बार गैर परम्परागत क्षेत्रों में बाढ़ आयी है। बाढ़ के कारण बिहार में काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने प्रधानमंत्री को तुरंत राहत उपलब्ध कराने के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य में नेशनल डिजॉस्टर रिस्पॉस फोर्स (एन0डी0आर0एफ0) की टीम, सेना की टीम तथा एयर फोर्स के हेलिकॉप्टरों द्वारा कार्य किया जा रहा है, जिससे बहुत लोगों को समय पर राहत पहुंचायी गयी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ से आधारभूत संरचना खासकर सड़क, पुल-पुलिया, नहर, बांध को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल सीमा सड़क पर भी काफी नुकसान हुआ है, केन्द्र सरकार को इस पर विचार करना चाहिये। उन्होंने कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में सड़कों की ऊँचाई तथा सड़कों में वाटर वेज की समुचित व्यवस्था करने पर विचार करना चाहिये। इससे पूर्व आज चूनापुर हवाई अड्डा पर प्रधानमंत्री के पहुंचने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने उनका स्वागत किया। बैठक में उप मुख्यमंत्री के अलावा, आपदा प्रबंधन मंत्री दिनेश चन्द्र यादव, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, प्रधानमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव पी0के0 मिश्रा, अपर सचिव (पी0एम0ओ0) तरूण बजाज, प्रधान सचिव जल संसाधन विभाग अरूण कुमार सिंह सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...