मोदी के वादों का भंडार खत्म हो गया : आजाद

modi-s-stock-of-promises-ended-azad
नयी दिल्ली 16 अगस्त, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नेता गुलाम नबी आजाद ने लालकिले के प्राचीर से स्वाधीनता दिवस के अवसर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की ओलाचना करते हुए आज कहा कि वह जनता को “बेवकूफ” बनाने की कोशिश कर रहे हैं। श्री अाजाद ने यहां पार्टी मुख्यालय में नियमित ब्रीफिंग में कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार लोगों की 10 फीसदी उम्मीदाें को भी पूरा नहीं कर पायी है। प्रधानमंत्री पिछले साढ़े तीन साल के दौरान किए गए अपने वादों को पूरा करने में विफल रहने से डर गए हैं, इसलिए इस बार उन्होंने अपने संबोधन में कोई नया वादा नहीं किया। उन्होंने कहा , “ प्रधानमंत्री के वादों का भंडार खत्म हो गया है।” कांग्रेस नेता ने नोटबंदी के सफल रहने के श्री मोदी के कथन पर शंका व्यक्त करते हुए कहा कि संसद सत्र में सरकार ने अलग जवाब दिया था। नोटबंदी के दौरान बैंकों में जमा हुई नकदी और कालेधन से संबंधित प्रश्नों के उत्तर में सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक के हवाले से कहा था कि गिनती जारी है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में नोटबंदी और कालेधन से संबंधित आंकड़ें दिए। उन्होंने सवाल किया, “ क्या इस तरह वह जनता को बेवकूफ बनाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं।” कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में महिला सशक्तिकरण पर भी जोर दिया है लेकिन तथ्य यह है कि पिछले साढ़े तीन साल के दाैरान देश में महिला सबसे ज्यादा असुरक्ष्रित हुई है। उन्होेंने चंड़ीगढ में हाल में एक लडकी का पीछा किए जाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पुत्र ही महिलाओं के लिए खतरा बने हुए हैं। उन्होेंने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए भारतीय जनता पार्टी को अपने शासन वाले राज्यों की सरकारों पर ध्यान देना चाहिए। केवल भाषण देने से महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं होगी। उल्लेखनीय है कि चंडीगढ़ की घटना के सिलसिले में भाजपा के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष का पुत्र गिरफ्तार किया गया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...