महात्मा गांधी की तरह देश के प्रति समर्पित होना होगा : उपराष्ट्रपति

need-devotion-like-mahatma-gandhi-says-venkaiyaah
चेन्नई, 27 अगस्त, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि नये भारत के निर्माण के लिए प्रत्येक भारतीय को नि:स्वार्थ भाव से समर्पित होने का समय आ गया है। देशवासियों को वैसी समर्पण की भावना दिखानी होगी जिस तरह की राष्ट्रपति महात्मा गांधी ने ‘भारत छोड़ो’ आंदोलन के समय दिखायी थी। श्री नायडू ने यहां अन्ना विश्वविद्यालय में भारत छोड़ो आंदोलन की 75 वीं वर्षगांठ को यादगार बनाने के लिए आयोजित एक प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद छात्रों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन के समय महात्मा गांधी के भाषण को याद करते हुए कहा कि अंग्रेजी शासन हटाने के लिए महात्मा गांधी का यह ऐतिहासिक भाषण था जिसने देशवासियों को देश प्रेम से ओत-प्रोत करते हुए बच्चा, बूढ़ा, जवान, अमीर, गरीब, किसान एवं वकीलों में नया जोश भर दिया था। अब समय आ गया है कि नये भारत के निर्माण में प्रत्येक देशवासी में वैसा ही जोश और देश प्रेम की भावना जाग्रित हो। उन्हाेंने कहा,“अगले पांच साल में नया भारत बनाने के लिए देश को भ्रष्टाचार, जात-पात, संप्रायवाद, आतंकवाद, अशिक्षा, काला धन एवं लिंग भेद से मुक्त करना होगा। हमें बुराइयों से साथ मिलकर लड़ने का व्रत लेना होगा। ” उन्होंने कहा कि यह दुखद है कि अभी भी देश की 35 प्रतिशत आबादी अशिक्षित है और 25 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा के नीचे रह रहे हैं। श्री नायडू ने सवाल किया, क्या हमें महात्मा गांधी के ‘रामराज्य’ को सच करने की दिशा में कदम नहीं उठाना चाहिए? दीन दयाल उपाध्याय और डॉ़ बी आर अम्बेडकर के सपने के भारत के निर्माण का प्रत्यन नहीं करना चाहिए?

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...