एनआईए के नाम से ‘टेरर फण्डिंग’ करने वालों के दिल में होती है दहशत :राजनाथ

nia-behind-decrease-in-terrorist-extremist-activities-in-country-rajnath
लखनऊ 20 अगस्त,, देश में आतंकवाद और नक्सलवाद की चूलें हिलाने वाली राष्ट्रीय जांच एजेन्सी (एनआईए) की तारीफ करते हुये केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एनआईए के नाम से ‘टेरर फण्डिंग’ करने वालों के दिल में दहशत होती है। श्री सिंह ने आज यहां एनआईए के कार्यालय और आवासीय परिसर का उद्घाटन करनेे के बाद अपने संबोधन में कहा “ एनआईए एक ‘क्रेडिबिल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी’ है जिसके नाम से ‘टेरर फण्डिंग’ करने वालों के दिल में दहशत होती है। एनआईए आतंकवादी मामलों की पड़ताल बहुत ही वैज्ञानिक ढंग से करती है। आतंकवाद और नक्सलवाद जैसी समस्याओं में जाली नोटों की बहुत बड़ी भूमिका है। एनआईए इस समस्या के स्रोतों की जांच बहुत ही प्रभावी ढंग से कर रही है। ‘टेरर फण्डिंग’ में लिप्त अनेक लोग अब इसकी गिरफ्त में हैं। ” उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 से अस्तित्व में आयी एनआईए आतंकवादी मामलों की पड़ताल बहुत ही वैज्ञानिक ढंग से करती है। इसने अब तक 165 मामलों में से 95 प्रतिशत मामलों को सुलझाया है, जिसमें से 94 प्रतिशत मामलों में दोषियों को सजा दिलाने में सफलता पायी है। इस एजेंसी के गठन के बाद से नाॅर्थ ईस्ट के उग्रवाद में 75 प्रतिशत की कमी आयी है, जबकि नक्सलवाद की घटनाओं में 40 प्रतिशत की कमी आयी है। श्री सिंह ने कहा कि अभी तक एनआईए का अपना कोई कार्यालय परिसर नहीं था। लखनऊ में निर्मित यह परिसर इस एजेंसी का पहला निजी कार्यालय तथा आवासीय परिसर है। इसकी स्थापना से अब इस एजेंसी की कार्य-कुशलता और बढ़ेगी।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...