आतंकवादियों को धन उपलब्ध कराने के मामले में एनआईए ने की छापेमारी

nia-raids-on-several-locations-in-funding-for-terrorist-activites
श्रीनगर,16 अगस्त, पाकिस्तान और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की अोर से जम्मू-कश्मीर में कथित रूप से आतंकवादी हरकतों को बढ़ावा देने के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आज कश्मीर घाटी में सरकारी कर्मचारियों समेत वकीलों के लगभग एक दर्जन ठिकानों पर छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी है। राज्य सरकार ने नियंत्रण रेखा के पास गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त हाेने के कारण पीओके की 34 कंपनियों को काली सूची में डाल दिया है। सरकार ने यह फैसला उरी में सलामाबाद के व्यापार सुविधा केन्द्र से मादक पदार्थाें की बरामदगी के बाद सरकार ने यह फैसला लिया था। इसी बीच, कश्मीर आर्थिक गठबंधन ने एनआईए और प्रवर्तन निदेशालय की ओर से की गई इस छापेमारी को घाटी के व्यापारिक समुदाय के लिए नुकसान करार देते हुए आंदोलन करने की धमकी दी है। सूत्रों ने बताया कि एनआईए के अधिकारियों नेे स्थानीय अपराध शाखा और राज्य पुलिस के साथ मिलकर ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर,बारामूला जिले के तंगमार्ग और सीमावर्ती कुपवाड़ा जिले के हंडवारा में लगभग एक दर्जन ठिकानों पर छापों की कार्रवाई की। इन छापों के बारे में फिलहाल कोई विस्तृत जानकारी नहीं मिल सकी है। सूत्रों के अनुसार जिन लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की गई है उनके कथित तौर पर जांच का सामना कर रहे लोगों के साथ संबंध हैं। यह पहली बार है जब एनआईए ने उद्योग विभाग के सहायक निदेशक पीरजादा गुलाम नबी भट्ट के तंगमार्ग और पीर बाग समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की। उनके भाई गुलाम मोहम्मद भट्ट के ठिकानों पर भी छापेमारी की गयी। इसी प्रकार, एनआईए ने आज सुबह तंगमार्ग के ही अब्दुल रहीम वानी के घर पर भी छापेमारी की। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक आर आर भटनागर ने कहा कि घाटी में आज की गई छापेमारी की सभी घटनाओं के बाद पथराव और आतंकवादी घटनाओं में कमी आएगी। गौरतलब है कि एनआईए ने पिछले माह कईं अलगाववादी नेताओं,हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनाें धड़ों के प्रवक्ता, कट्टरवादी हुर्रियत के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी के दाेनों बेटों और दामाद को गिरफ्तार किया था। दरअसल नेशनल फ्रंट के अध्यक्ष नईम खान ने एक स्टिंग आपरेशन के दौरान यह बात कथित रूप से स्वीकार की थी कि कश्मीर घाटी में आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए अलगाववादी नेताओं को विदेशों से धन मिल रहा है। इसके बाद एक औपचारिक प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद एनआईए ने अलगाववादी नेताओं के घरों पर छापे मारे थे। हुर्रियत के अध्यक्ष गिलानी ने बाद मे नईम खान को निलंबित कर दिया था और वह तबसे ही नजरबंद है। नईम खान के इस खुलासे के बाद एनआईए ने दिल्ली,हरियाणा, जम्मू और श्रीनगर में कईं ठिकानों पर छापे मारे थे। इस बीच प्रर्वतन निदेशालय ने वर्ष 2015 के धन शोधन मामले में डेमोक्रेटिक फ्रीडम पार्टी के प्रमुख शब्बीर अहमद शाह को भी गिरफ्तार कर लिया था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...